विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesAfter failing to catch Neerav Modi, Government of India crores on any bank through RBI

पीएनबी घोटाले के बाद भी 36 बैंकों ने कर डाली यही गलती, RBI ने 71 करोड़ रुपए जुर्माना ठोंका

 नीरव मोदी पकड़ने में नाकामी के बाद भारत सरकार ने आरबीआई के जरिए कसी बैंकों पर नकेल 

After failing to catch Neerav Modi, Government of India crores on any bank through RBI

भारत सरकार की गिरफ्त से बाहर लंदन में बेखौफ घूम रहे 14 हजार करोड़ रुपए के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी ने  पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की जिस लापरवाही का फायदा उठाया था, ठीक वैसी ही गलती बार-बार दूसरे बैंक कर रहे हैं। लिहाजा, भारतीय रिजर्व बैंक  (RBI) ने इन पर सख्ती दिखाते हुए बीते दो महीने में 36 बैंकों पर 71 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा दिया है।

नई दिल्ली. 
भारत सरकार की गिरफ्त से बाहर लंदन में बेखौफ घूम रहे 14 हजार करोड़ रुपए के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी ने  पंजाब नेशनल बैंक (PNB) की जिस लापरवाही का फायदा उठाया था, ठीक वैसी ही गलती दूसरे बैंक बार-बार कर रहे हैं। लिहाजा, भारतीय रिजर्व बैंक  (RBI) ने इन पर सख्ती दिखाते हुए बीते दो महीने में 36 बैंकों पर 71 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा दिया है। इन बैंकों में सरकारी, निजी और विदेशी बैंक शामिल हैं। केंद्रीय बैंक ने यह जुर्माना स्विफ्ट कोड के नियमों का पालन नहीं करने के कारण लगाया है। 

लगा है इतना जुर्माना

आरबीआई ने एक करोड़ रुपये से लेकर के चार करोड़ का जुर्माना लगाया है। बैंक की तरफ से 31 जनवरी और 25 फरवरी, 2019 को जारी किए गए आदेश में इस जुर्माने का जिक्र है। बैंक ऑफ बड़ौदा, कैथोलिक सीरियन बैंक, सिटी बैंक, इंडियन बैंक और कर्नाटका बैंक पर चार - चार करोड़ रुपए का का जुर्माना लगा है।  बीएनपी पारिबस, सिटी यूनियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, यूको बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया पर तीन-तीन व इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, कैनरा बैंक, डीसीबी बैंक, देना बैंक, जम्मू-कश्मीर बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और सिंडीकेट बैंक पर दो-दो करोड़ रुपए की पेनॉल्टी लगाई है।  बैंक ऑफ अमेरिका, बार्कलेज बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, कॉरपोरेशन बैंक, डीबीएस बैंक, डॉएशे बैंक, एचएसबीसी, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, इंडसइंड बैंक, जेपी मॉर्गन चेज बैंक, करूर वैश्य बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, स्टैण्डर्ड चार्टेड बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, तमिलनाड़ मर्केंटाइल बैंक व यस बैंक पर एक-एक करोड़ रुपए का जुर्माना लगा है। 

यह है स्विफ्ट सॉफ्टवेयर 

 स्विफ्ट संदेश भेजने वाला एक वैश्विक सॉफ्टवेयर है, जिसका इस्तेमाल वित्तीय संस्थाएं लेनदेन के लिए करती हैं। उल्लेखनीय है कि इस मैसेजिंग सॉफ्टवेयर के दुरुपयोग से पीएनबी में 14,000 करोड़ रुपये की भारी धोखाधड़ी को अंजाम दिया गया। पीएनबी धोखाधड़ी के बाद आरबीआई का रुख बैंकों के लेनदेन को लेकर कड़ा बना हुआ है।


पीएनबी में हुआ था घोटाला

पंजाब नेशनल बैंक में पिछले साल फरवरी में हुए 14 हजार करोड़ रुपये के घोटाले का प्रमुख कारण भी स्विफ्ट नियमों का पालन नहीं करना था। जिन बैंकों पर आरबीआई ने जुर्माना लगाया है उनमें बैंक ऑफ बड़ौदा, सिटी यूनियन बैंक, एचएसबीसी, आईसीआईसीआई, एसबीआई और यस बैंक शामिल हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन