बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesजिस बिजनेस से मिली थी निकलने की सलाह, टाटा ने उसी में फिर से लगाया दांव

जिस बिजनेस से मिली थी निकलने की सलाह, टाटा ने उसी में फिर से लगाया दांव

यूरोप में लगातार फेल होने के चलते मैनजमेंट कन्‍सल्‍टेंसी फर्म मैकेंजी ने कभी टाटा को स्‍टील बिजनेस से निकलने की सलाह दी

1 of

नई दिल्‍ली। टाटा स्टील ने भूषण स्टील के अधिग्रहण के लिए बोली में जीत हासिल कर ली है। भूषण स्‍टील कर्ज के बोझ से जूझ रही थी। मीडिया रिपोर्ट मुताबिक, यह सौदा करीब 35,000 करोड़ में होने जा रहा है। हालांकि टाटा स्‍टील की ओर से इस बारे में अभी तक कुछ नहीं कहा गया है। इस सौदे के साथ ही टाटा स्टील देश की सबसे बड़ी इस्पात कंपनी बन जाएगी। सौदे से टाटा स्टील की मौजूदा 1.30 करोड़ टन सालाना की स्‍टील प्रोडक्‍शन कैपेसिटी में भूषण स्टील की 56 लाख टन उत्पादन क्षमता और बढ़ जाएगी। 

 

भूषण स्टील को खरीदने के लिए जेएसडब्ल्यू स्टील लि. भी जोर लगा रहा था, लेकिन टाटा स्टील ने सबसे ऊंची बोली लगाकर उसे पीछे छोड़ा दिया। भूषण स्टील पर विभिन्न बैंकों का कुल 44,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। रेजॉलुशन प्लान के मुताबिक, टाटा स्टील ने कर्जदाताओं को कुल 36,000 करोड़ रुपये कैश लौटाने का प्रस्ताव दिया है।   

टाटा ने फिर किया कमाल 
बता दें यूरापे ईकाई के बुरी तरह फेल होने के चलते टाटा स्‍टील लगातार दबाव में थी। ब्रिटेन की सबसे बड़ी कंपनी कोरस को खरीदने के चलते टाटा को यूरोप में काफी नुकसान उठाना पड़ा है। इसके चलते माना जा रहा था कि टाटा स्‍टील आने वाले कुछ सालों तक दबाव में रहेगी। हालांकि उसने भूषण स्‍टील का अधिग्रहण करके एक बार फिर से चौंका दिया है। 

 

 

मैकेंजी ने दी थी स्‍टील बिजनेस से निकलने की सलाह  
बता दें कि यूरोप में लगातार फेल होने के चलते मैनजमेंट कन्‍सल्‍टेंसी फर्म मैकेंजी ने नवंबर 2012  में टाटा को स्‍टील बिजनेस से निकलने की सलाह दी थी। मैकेंजी से टाटा के लिए कंपनियों की 3 लिस्‍ट बनाई थी। पहली लिस्‍ट में ऐसी कंपनियों में रखा गया था जिनके बारे में मैकेंजी का मानना था कि टाटा ग्रुप को इनसे निकल जाना चाहिए। वही दूसरी लिस्‍ट में ऐसी कंपनियों को रखा गया था, जिनका आपस में विलय करने की सलाह दी गई थी। मैकेंजी से ग्रुप की 90 कंपनियों को 25 से 30 के बीच लाने की सलाह दी थी। वहीं तीसरी लिस्‍ट में ग्रुप की ऐसी कंपनियों को रखा गया था, जिनको आगे बढ़ाने की सलाह दी गई थी। इस लिस्‍ट में टाटा टी का नाम था। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट