विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesSBI-led lenders release terms for Jet Airways bid process to begin today

Jet Airways के शेयरों की बोली आज से, 180 दिन में हालात नहीं सुधरे तो दिवालिया होगी कंपनी

बोलियां जमा कराने की आखिरी तारीख 10 अप्रैल

SBI-led lenders release terms for Jet Airways bid process to begin today

SBI-led lenders release terms for Jet Airways bid process to begin today स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई में सभी पब्लिक सेक्टर बैंकों ने खुद को जेट एयरवेज की समस्या का समाधान करने के लिए 180 दिनों का समय दिया है। समय पर कर्ज नहीं चुकाए जाने के आरबीआई के सर्कुलर को जबकि सुप्रीम कोर्ट अमान्य घोषित कर चुका है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि बैंकों ने मंत्रालय को बताया है कि वह जेट एयरवेज एयरलाइंस के कर्ज चुकाने का इंतजार और अधिक नहीं कर सकते। अगर एयरलाइंस किसी निवेशक को लाने में कामयाब नहीं हो पाती तो बैंक 30 जून तक जेट एयरवेज को दिवालिया घोषित करने की कार्रवाई शुरू कर देंगे। 

नई दिल्ली। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई में सभी पब्लिक सेक्टर बैंकों ने खुद को जेट एयरवेज की समस्या का समाधान करने के लिए 180 दिनों का समय दिया है। समय पर कर्ज नहीं चुकाए जाने के आरबीआई के सर्कुलर को जबकि सुप्रीम कोर्ट अमान्य घोषित कर चुका है। वित्त मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि बैंकों ने मंत्रालय को बताया है कि वह जेट एयरवेज एयरलाइंस के कर्ज चुकाने का इंतजार और अधिक नहीं कर सकते। अगर एयरलाइंस किसी निवेशक को लाने में कामयाब नहीं हो पाती तो बैंक 30 जून तक जेट एयरवेज को दिवालिया घोषित करने की कार्रवाई शुरू कर देंगे। 

जेट एयरवेज को इस समस्या से निकालने के लिए कई कदम उठाए गए हैं


सूत्रों ने कहा है कि जेट एयरवेज को इस समस्या से निकालने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। पंजाब नेशनल बैंक और एसबीआई ने पहले ही एयरलाइंस को 1,500 करोड़ रुपये का अतरिक्त धन मुहया कराया है।  उन्होंने आगे कहा कि अब सारा ध्यान इस बात पर है कि एयरलाइंस को एक महत्वपूर्ण निवेशक मिल सके, लेकिन यदि ऐसा नहीं होता है तो बैंक और ज्यादा इंतजार नहीं करेंगे और इस मामले को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के पास निपटारे के लिए भेज देंगे। 

जून में जेट को किया जा सकता है दिवालिया घोषित


जेट को पहला भुगतान 31 दिसंबर को करना था, पर अब 180 दिन का समय मिलने के बाद यह तारीख 30 जून हो गई है। एनसीएलटी के पास मामला जाने पर बैंकों को अलग से 180 दिनों के अंदर कर्ज वापस लेने के लिए एक रूपरेखा बनानी होगी जरूरत पड़ने पर वह 90 दिन का अतरिक्त समय ले सकते हैं, इसके बाद संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। नाम नहीं बताने की शर्त पर पब्लिक बैंक सेकटर के अधिकारी ने कहा, "हम 180 दिनों तक प्रतीक्षा करेंगे, जो आरबीआई के सर्कुलर के निर्देश अनुसार है। हर दिन जेट एयरवेज की समस्या बढ़ती जा रही है ऐसे में मामले को खिंचने से अच्छा है कि इसे दिवालिया घोषित कर दिया जाए। नहीं तो एयरलाइंस पर कर्ज बढ़ता ही जाएगा।"

जेट के शेयर बेचने के लिए बैंक आज मंगवाएंगे बोली 


इसी के साथ ही आपको बता दें कि जेट एयरवेज  में हिस्सेदारी बिक्री की प्रक्रिया  8 अप्रैल यानी आज से शुरू हो सकती है।  हालांकि बोली दस्तावेजों को अभी अंतिम रुप दिया जा रहा है। यह जानकारी सूत्रों के हवाले से सामने आई है। सूत्रों ने बताया, ‘‘पहले बोलियां जमा कराने की आखिरी तारीख 9 अप्रैल थी, लेकिन इसे भी बढ़ाकर अब 10 अप्रैल कर दिया गया है।" जेट एयरवेज के बोर्ड की ओर से 25 मार्च को अनुमोदित ऋण समाधान योजना के तहत कंपनी में बैंक बहुलांश हिस्सेदारी लेकर 1,500 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Recommendation
विज्ञापन
विज्ञापन