Advertisement
Home » इंडस्ट्री » इ-कॉमर्सSachin Bansal bids adieu to Flipkart in emotional FB post

दुख है कि फ्लिपकार्ट से मेरा 10 साल का नाता टूट गया- फ्लिपकार्ट डील के बाद बोले सचिन बंसल

वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील के साथ ही सचिन बंसल ने अपनी 5.5 फीसदी हिस्‍सेदारी भी वॉलमार्ट को बेच दी है

1 of

नई दिल्‍ली. भारतीय ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट में अमेरिकी कंपनी वॉलमार्ट ने 77 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीद ली है। लगभग 1 लाख करोड़ रुपए की डील के साथ ही फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर्स में से एक सचिन बंसल ने अपनी 5.5 फीसदी हिस्‍सेदारी भी वॉलमार्ट को बेच दी है और कंपनी से नाता तोड़ लिया है। हिस्‍सेदारी को बेचकर सचिन बंसल को लगभग 6700 करोड़ रुपए मिले हैं। लेकिन वह कंपनी को छोड़कर खुश नहीं हैं। उन्‍हें फ्लिपकार्ट से अपना 10 साल पुराना नाता टूटने का दुख है। 

 

इस बात का खुलासा सचिन ने अपनी एक फेसबुक पोस्‍ट में किया है। सचिन ने लिखा है कि मुझे दुख है कि फ्लिपकार्ट में मेरा काम खत्‍म हो गया और अब 10 साल बाद मेरा इसे छोड़ने और किसी और को जिम्‍मेदारी देने का वक्‍त है। मैं बाहर रहकर फ्लिपकार्ट का भविष्‍य के लिए उत्‍साह बढ़ाऊंगा। फ्लिपकार्ट इंप्‍लॉइज के लिए मेरा यही कहना है कि आप अच्‍छा कर रहे हैं और आगे भी इसी चीज को बनाए रखें। 

 

ये रही सचिन के कंपनी छोड़ने की वजह

दरअसल वॉलमार्ट ने यह साफ कर दिया था कि डील के बाद वह फ्लिपकार्ट के दोनों को-फाउंडर्स में से किसी एक को ही आगे बोर्ड में रख पाएगी। इसके अलावा वॉलमार्ट, फ्लिपकार्ट के एक इंप्‍लॉई को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ना चाहती थी और वह हैं फ्लिपकार्ट सीईओ कल्‍याण कृष्‍णमूर्ति। लिहाजा कृष्‍णमूर्ति लॉयल्‍टी की रेस में जीत गए और फ्लिपकार्ट से उनका नाता नहीं टूटा। 

 

पर्सनल प्रोजेक्‍ट्स को करेंगे खत्‍म 

फ्लिपकार्ट से बाहर होने की वजह सचिन ने कुछ पर्सनल प्रोजेक्‍ट्स को टाइम देना बताया है। उन्‍होंने लिखा है कि मैं थोड़े ज्‍यादा टाइम की छु‍ट्टी ले रहा हूं, ताकि अपने कुछ पर्सनल प्रोजेक्‍ट्स को खत्‍म कर सकूं। अभी तक मैं उन्‍हें टाइम नहीं दे पा रहा था। मैं अब गेम्‍स में क्‍या नया है, यह देखूंगा और अपने स्किल्‍स को बेहतर बनाऊंगा। 

 

2007 में शुरू की थी कंपनी 

सचिन बंसल ने अपने साथी बिन्‍नी बंसल के साथ मिलकर फ्लिपकार्ट को 2007 में शुरू किया था। अब केवल बिन्‍नी बंसल ही कंपनी का हिस्‍सा रहेंगे। सचिन और बिन्‍नी दोनों पहले अमेजन में काम करते थे। बाद में उन्‍होंने किताबों की बिक्री के साथ खुद का ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट शुरू किया।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement