विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesPeople Are Confused between Surf Excel And Microsoft Excel

Surf Excel के चक्कर में हो रहा है Microsoft Excel का विरोध, लोग कंफ्यूजन में प्ले स्टोर पर दे रहे 1 star rating

Hindustan Unilever ने होली के लिए लॉन्च किया था 'रंग लाए संग' कैंपेन

People Are Confused between Surf Excel And Microsoft Excel

नई दिल्ली.

सोशल मीडिया पर इन दिनों सर्फ एक्सेल के एक विज्ञापन का काफी विरोध हो रहा है। 'दाग अच्छे हैं’ थीम पर सर्फ एक्सेल लंबे समय से सांप्रदायिक सौहार्द्र और अपनेपन की भावना से भरे विज्ञापन दिखाता रहा है। इस बार भी इस डिटर्जेंट कंपनी ने होली के मौके पर एक विज्ञापन पेश किया। हालांकि यह विज्ञापन कई लोगों को पसंद नहीं आया और उन्होंने इस डिटर्जेंट का विरोध करना शुरू कर दिया। Facebook, Twitter, Instagram जैसे कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर #BoycottSurfExcel ट्रेंड करने लगा। लेकिन इस सब के बीच कुछ लोगों ने कंफ्यूजन में Surf Excel से मिलते-जुलते नाम वाले एक अन्य प्रोडक्ट Microsoft Excel को निशाना बना लिया।

 

 

 

Microsoft का प्रोडक्ट है Excel

टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट का एक्सेल नाम का प्रोडक्ट एक स्प्रेडशीट है जिसका इस्तेमाल हिसाब-किताब लिखने, टेबल या ग्राफ बनाने जैसे कामों में होता है। सर्फ एक्सेल का बहिष्कार करने की मांग करने वाले लोग प्ले स्टोर में जाकर एक्सेल सर्च करते हैं। सजेशन में माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल भी आता है। लोग माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को सर्फ एक्सेल से कंफ्यूज होकर इसे सिंगल स्टार रेटिंग दे रहे हैं। कमेंट में इसे हिंदू विरोधी बताया जा रहा है।

 

 

बॉयकॉट माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल भी कर रहा है ट्रेंड

ट्विटर और फेसबुक पर भी बाॅयकॉट सर्फ एक्सेल के साथ बाॅयकॉट एक्सेल और बाॅयकॉट माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल ट्रेंड कर रहा है। एक यूजर ने माइक्रोसॉफ्ट को लिखा कि वह गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई से अनुरोध करेगा कि माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को प्ले स्टोर से हटा दिया जाए। साथ ही वह माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला से भी कहेगा कि एक्सेल प्रोडक्ट को कंपनी से बाहर कर दे।

 

क्या है इस विज्ञापन में

हिंदुस्तान यूनिलीवर ने रंग लाए संग कैंपेन के जरिए होली पर हिंदू-मुस्लिम के बीच मिठास का संदेश देने की कोशिश की। दिखाया गया कि एक लड़की सफेद टी-शर्ट पहने पूरी गली में घूमती है और अपने-अपने घरों की छतों पर खड़े बच्चों से सारा रंग अपने ऊपर डलवा लेती है। जब सभी के रंग खत्म हो जाते हैं तो वह अपने मुस्लिम दोस्त के पास आकर कहती है कि रंग खत्म हो गए। इसके बाद बच्चा उसकी साइकल पर बैठ जाता है। लड़की उसे मस्जिद के दरवाजे पर छोड़ती है और कहती है बाद में रंग पड़ेंगे। बच्चा हंसते हुए मस्जिद की तरफ निकल जाता है। हिंदुस्तान यूनिलीवर ने इस एड के जरिए बताने की कोशिश की है कि रंग से भी समाज साथ आ सकता है। लेकिन कुछ लोगों को ये एड पसंद नहीं आया और बाॅयकॉट करने की मुहिम छिड़ चुकी है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन