Home » Industry » CompaniesPak delegation leaves for China to discuss quantum of bailout package amid talks with IMF

कंगाली दूर करने के लिए पाकिस्तान ने अब IMF के सामने फैलायी झोली

पाकिस्तान इन दिनों गहरे आर्थिक संकट से जूझ रहा है। अब पाकिस्तान ने आईएमएफ (IMF) के सामने हाथ फैलाकर मदद की अपील...

Pak delegation leaves for China to discuss quantum of bailout package amid talks with IMF

इस्लामाबाद। पाकिस्तान इन दिनों गहरे आर्थिक संकट से जूझ रहा है। ऐसे में अब पाकिस्तान ने आईएमएफ (IMF) के सामने  हाथ फैलाकर मदद की अपील की है। बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हाल ही में चीन दौरे पर गए थे। जहां उन्होंने राष्ट्रपति शी जिनपिंग से आर्थिक मदद के लिए हाथ फैलाए थे। चीन ने पाकिस्तान की मदद करने का भरोसा जताया है लेकिन इस बात का खुलासा नहीं किया कि वह उसे कितनी आर्थिक मदद दे रहा है। इस बारे में जब चीन के विदेश मंत्रालय की एक प्रवक्ता से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि चीन अपनी क्षमता के अनुसार ही पाकिस्तान की मदद करेगा। उन्होंने पाकिस्तान को दी जाने वाली राशि का जिक्र नहीं किया। लेकिन  पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर ने इशारे में कहा कि यह राशि 6 अरब डॉलर हो सकती है। पाकिस्तान के  प्रधानमंत्री इमरान खान ने चीन के साथ वार्ता को सफल करार दिया। इमरान खान ने दो नवंबर से पांच नवंबर की चीन यात्रा के दौरान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रधानमंत्री ली क्विंग से मुलाकात की थी। इमरान खान ने इस दौरान जिनपिंग से कहा था, पाक सरकार के समक्ष बहुत कठिन आर्थिक स्थिति बनी हुई है। 

 

चीन एवं सऊदी भी फटेहाल पाकिस्तान की झोली भरने का दे चुका है भरोसा 
बता दें कि चीन दौरे से पहले पीएम इमरान खान सऊदी अरब के दौरे पर गए थे जहां उन्होंने शाह सलमान से मुलाकात की और आर्थिक मदद की भी मांग की थी। सऊदी शाह सलमान बिन अब्दुलअजीज पाकिस्तान को सहायता को सहायता देने की घोषणा की थी। सऊदी अरब ने कहा था कि वह पाकिस्तान को एक साल के लिए तीन अरब डॉलर विदेशी मुद्रा समर्थन के रूप में और तीन अरब डॉलर का और कर्ज कच्चे तेल के आयात के लिए देगा। इस कर्ज के भुगतान के लिए पाकिस्तान को अतिरिक्त समय दिया जाएगा। 

 

पाकिस्तान ने  IMF के सामने फैलाए हाथ
पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि केवल इतने से काम नहीं चलेगा उन्हें और पैसों की जरूरत पड़ेगी जिसके लिए पाकिस्तान अब IMF से मदद मांग रहा है। सऊदी अरब से मिलने वाली सहायता से पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार दोबारा दो अंक में पहुंच जाएगा। इसके अलावा बाहरी क्षेत्र पर दबाव भी कम हो सकेगा। सऊदी अरब स्टेट बैंक आफ पाकिस्तान में तीन अरब डॉलर नकद जमा कराएगा। वहीं तीन अरब डॉलर का कर्ज कच्चे तेल के आयात के लिए देगा, जिसके भुगतान के लिए पाकिस्तान को और समय दिया जाएगा। 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट