Home » Industry » CompaniesOverweight people get paid less than their slimmer colleagues, new study says

ज्यादा वजनी लोगों को नौकरी में नहीं मिलती अच्छी तनख्वाह

अपने वजन को लेकर ज्यादा परेशान रहते हैं 16-24 वर्ष के युवा

1 of

नई दिल्ली।  मोटे लोगाें को अक्सर समाज में काफी भेदभाव सहना पड़ता है। अधिकतर लोगों की यह मानसिकता है कि मोटे लोग आलसी और बेवकूफ होते हैं। अब एक नई रिपोर्ट के मुताबिक इन लोगों के साथ उनके दफ्तरों में भी भेदभाव होता है। अपने स्लिम कुलीग्स के मुकाबले उन्हें कम सैलरी मिलती है। LinkedIn ने ब्रिटेन में 4000 नौकरीपेशा लोगों का सर्वे किया, जिसके बाद यह सामने आया कि ऐसे वर्कर्स जो अपने बीएमआई इंडेक्स के मुताबिक मोटे हैं उन्हें हेल्दी बीएमआई वाले लोगों के मुकाबले सालाना 2,512 डॉलर (1.81 लाख रुपए) कम मिलते हैं।

 

वजन बनता है टीमवर्क की राह में रोड़ा

ओवरवेट कैटेगरी के हर चार में से एक व्यक्ति ने यह कुबूला कि अपने वजन के कारण उन्हें नौकरी का अवसर या प्रमोशन नहीं मिला। अत्यधिक वजनी यानी ओबीज लाेगों में से एक-तिहाई लोगों को नौकरी का अवसर नहीं मिला। ओवरवेट लोगों में से 53 फीसदी ने बताया कि उनके वजन के कारण वे अपने टीम का हिस्सा नहीं बन पाते हैं। अत्यधिक वजनी लोगों में से 43 फीसदी ने कहा कि उन्हें लगता है कि वजन में उनसे कम लोगों को नौकरी में जल्दी तरक्की मिल गई। स्वस्थ वजन वाले 28 फीसदी लोगों में यह बात पाई गई।

 

आगे भी पढ़ें- 

महिलाओं के साथ दोहरा भेदभाव

 

अधिकांश कार्यस्थलों पर महिलाओं को वैसे भी पुरुषों से कम सैलरी मिलती है, लेकिन मोटापे के केस में यह असमानता और बढ़ जाती है। वजनी महिलाओं को अपने समान वजन वाले पुरुषों की तुलना में सालाना सैलरी में 8.34 लाख रुपए कम मिलते हैं। कार्यस्थल पर पुरुषों की तुलना में ज्यादा महिलाओं को अपने वजन और शरीर के कारण शर्मिंदगी उठानी पड़ती हैजबकि अपने वजन के लिए पुरुषों को ज्यादा निगेटिव कमेंट्स सुनने पड़ते हैं।

 

आगे भी पढ़ें- 

 

 

16-24 वर्ष के युवा होते हैं ज्यादा प्रभावित

 

रिपोर्ट के मुताबिक 16 से 24 वर्ष के युवा अपने वजन को लेकर ज्यादा संकोची रहते हैंजबकि 55 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को अपने वजन और लोगों के कमेंट्स से कोई फर्क नहीं पड़ता है। तकरीबन 28 फीसदी लोगों ने बताया कि कभी न कभी उनके कुलीग या मैनेजर ने उनके वजन को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट