विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesNPPA approves hike in prices of coronary stents

महंगी हुई दिल के मरीजों की सर्जरी, स्टेंट की कीमतें 4.2% बढ़ाने को मंजूरी

थोक भाव आधारित महंगाई के हिसाब से NPPA ने दी इजाजत

1 of

नई दिल्ली। नया वित्त वर्ष दिल के मरीजों पर भारी पड़ने वाला है। दवा मूल्य नियामक राष्ट्रीय औषधि कीमत प्राधिकरण (NPPA) ने थोक भाव आधारित महंगाई के कारण कार्डिएक स्टेंट (दिल में लगाया जाने वाला एक उपकरण) की कीमतों में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है। इस मंजूरी के साथ ही कार्डिएक स्टेंट की कीमतों में 4.2 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो जाएगी। 

ये होगी नई कीमत
NPPA की ओर से जारी बयान के अनुसार, वर्ष 2018 की 4.26 फीसद महंगाई दर को देखते हुए सोमवार से स्टेंट की अधिकतम कीमत बढ़ाने का फैसला किया गया है। अब बिना कोटिंग वाले स्टेंट (बीएमएस) की अधिकतम कीमत 8,261 रुपए और दवा लेपित स्टेंट (ड्रग एल्यूटिंग स्टेंट) की अधिकतम कीमत 30,080 रुपए होगी। आपको बता दें कि बीएमएस बिना कोटिंग वाला स्टेंट होता है। डॉक्टरों के अनुसार, स्टेंट ट्यूब जैसा एक उपकरण होता है। इसे रक्त का प्रवाग हृदय तक पहुंचाने के लिए धमनी में लगाया जाता है। दिल की बीमारी वाले मरीजों की धमनियों को खुला रखने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। 

2017 में की गई थी 85 फीसदी तक कटौती


सरकार ने दिल के मरीजों को राहत देने के लिए फरवरी 2017 में स्टेंट की कीमतों में 85 फीसदी तक की कमी कर दी थी। सरकार ने कीमत नियंत्रण आदेश 2013 के जरिए स्टेंट की कीमतों में कटौती की थी। कीमतों में नियंत्रण से पहले बीएमएस स्टेंट के दाम 45,000 रुपए तक, जबकि दवा लगे स्टेंट के दाम 1.21 लाख रुपए तक थे। NPPA ने एक अन्य बयान में यह भी कहा है कि उसने औषधि (कीमत नियंत्रण) आदेश, 2013 के तहत 871 रसायनों (फॉमरुलेशंस) की खुदरा कीमत में बदलाव किया है।

अभी तक यह थी कीमत


सरकार ने कीमत नियंत्रण आदेश के तहत स्टेंट की कीमतों में कटौती की थी। इसके बाद  NPPA ने स्टेंट की कीमतों में बदलाव किया था। तब  NPPA ने बिना कोटिंग वाले स्टेंट के दाम 7,400 रुपए से बढ़ाकर 7,660 रुपए कर दिए थे। दूसरी तरफ दवा लगे स्टेंट के दाम 30,180 रुपए से घटाकर 27,890 रुपए कर दिया था।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss