Advertisement
Home » Industry » CompaniesNow people can adopt aiims ward

अब AIIMS के वार्ड और ब्लॉक होंगे आपके नाम पर, खर्च करने होंगे इतने रुपए

10 से 15 साल तक आपके नाम पर होगा वार्ड का नाम

Now people can adopt aiims ward

नई दिल्ली। अभी तक आपने लोगों को गांव और शहर गोद लेते सुना होगा लेकिन अब जल्द ही आप अस्पताल के किसी कमरे, वार्ड और ब्लॉक को भी गोद ले सकेंगे। देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स ने एक ऐसा अनोखा तरीका निकाला है जिससे लोग अस्पताल के कमरे और वार्ड का नाम अपने नाम पर रख सकते हैं। आपको बता दें कि एम्स ने रेवेन्यू जुटाने के लिए यह निर्णय लिया है। अब लोग एम्स में किसी भी वार्ड या कमरे का नाम अपने या अपने परिवार में से किसी के भी नाम पर रख सकते हैं। इसके लिए आपको 1 से 10 करोड़ रुपए खर्च करने होंगे। 

 

देश के 20 एम्स को मिली मंजूरी
दरअसल केंद्र सरकार की ओर से एक ऐसे प्रस्ताव को मंजूरी मिली है जिसके चलते कोई भी व्यक्ति या प्राइवेट कंपनी वार्ड या ब्लॉक का नाम अपने नाम पर रख सकती है। इस प्रस्ताव के मुताबिक कोई भी कंपनी या व्यक्ति 10 से 15 साल के लिए वॉर्ड को गोद ले सकता है। वहीं यदि कोई व्यक्ति या प्राइवेट कंपनी अस्पताल में स्थाई स्ट्रक्चर बनवाता है तो उस पर उसका नाम हमेशा के लिए हो जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में देश के सभी 20 एम्स को इस प्रस्ताव को लागू करने की मंजूरी दी है। 

 

प्रस्ताव में ये शहर है शामिल
सीएनबीसी आवाज की खबर के मुताबिक  वार्ड को गोद लेने का प्रस्ताव दिल्ली समेत देश के सभी एम्स अस्पतालों में लागू हो सकेगा। जिन राज्यों के एम्स में लोगों को यह सुविधा मिलेगी उसमें भोपाल, रायपुर, पटना,ऋषिकेश और भुवनेशवर जैसे शहरों के एम्स अस्पताल शामिल हैं। बताया जा रहा है कि इन वार्ड और ब्लॉक को एक आम आदमी, सरकारी संस्था, प्राइवेट कंपनी, सीएसआर और सामाजिक संस्था गोद ले सकती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement