विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesGiven the rising borrowing, the IOC should also take a hand, Jet shares sold from tomorrow

इंडियन ऑयल ने शुरु की जेट को फ्यूल सप्लाई, दी सफाई

बढ़ती उधारी को देखते हुए IOC ने भी हाथ खीचें थे, कल से बिकेंगे जेट के शेयर

Given the rising borrowing, the IOC should also take a hand, Jet shares sold from tomorrow

जेट संकट लगातार गहरा रहा है। बैंको ने भले ही Jet Airways के चेयरमैन नरेश गोयल से इस्तीफा दिलवा दिया है लेकिन अब तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं बन पाई है। लिहाजा इंडियर ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) ने भी जेट से हाथ खींच लिए हैं। कंपनी ने उधारी न देने पर जेट की फ्यूल सप्लाई रोक दी है।

नई दिल्ली. जेट संकट लगातार गहरा रहा है। बैंको ने भले ही Jet Airways के चेयरमैन नरेश गोयल से इस्तीफा दिलवा दिया है लेकिन अब तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं बन पाई है। इसे देखते हुए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) ने भी जेट द्वारा उधारी न देने पर जेट की फ्यूल सप्लाई रोक दी थी। सूत्रों के मुताबिक शाम को वरिष्ठ स्तर से दवाब आने के बाद आईओसी ने जेट को फ्यूल सप्लाई शुरू कर दी।  वहीं, बैंक कल से जेट में अपनी हिस्सेदारी बेचने की शुरुआत करेंगे।  यूएनआई को सूत्रों ने बताया कि जेट पर ईंधन की उधारी बहुत ज्यादा बढ़ गई थी। साथ ही जेट की तरफ से बकाया जमा करने के बारे में भी कोई प्लान नहीं बताया गया। इसलिए शुक्रवार से फ्यूल सप्लाई बंद कर दी गई थी। 

कल से शुरू होगी जेट के शेयर बेचने की प्रक्रिया 

संकट में फंसी जेट एयरवेज के कर्जदाताओं ने कहा कि वे 6 अप्रैल से एयरलाइन में हिस्सेदारी बिक्री के लिये छह अप्रैल को बोली आमंत्रित करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अगर हिस्सेदारी बिक्री का 'स्वीकार्य' परिणाम नहीं आता है तो स्टेट बैंक की अगुवाई वाले वित्तीय संस्थानों का समूह अन्य विकल्पों पर विचार करेगा। कर्जदाताओं के समूह ने नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मौजूदा स्थिति का जायजा लिया और कहा कि वे मौजूदा कानूनी तथा नियामकीय रूपरेखा के तहत समयबद्ध तरीके से समाधान योजना को आगे बढ़ाएंगे। जेट एयरवेज के भविष्य को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है। कुल 26 कर्जदाताओं की तरफ से एसबीआई द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि बोली छह अप्रैल को आमंत्रित की जाएगी और उसे जमा करने की अंतिम तिथि नौ अप्रैल होगी। वित्तीय संस्थानों का जेट एयरवेज के ऊपर 8,000 करोड़ रुपये से अधिक बकाया है। 

यह भी पढ़ें -  इस प्रत्याशी के पास है 2G घोटाले जितनी 1.76 लाख करोड़ रुपए की रकम, चार लाख करोड़ रुपए कर्ज भी

 

इन तीन संकटों के बाद ही जेट का भविष्य तय होगा 

1. जब तक बैंकों से पैसा नहीं मिलेगा तब तक फ्यूल कैसे खरीदा जाएगा?
2. पायलेट भले ही अभी 15 अप्रेल तक के लिए मान गए हैं लेकिन वेतन न मिला तो फिर हड़ताल संभव है। 
3. जेट एयरवेज के लिए बैंक हिस्सेदारी बेचेंगे लेकिन खरीदार न मिले तो फिर क्या वैकल्पिक प्लान होगा? 

 

यह भी पढ़ें... आपके बेडरूम की हर जरूरतों को पूरा कर देगी यह छह दुकानें

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Recommendation
विज्ञापन
विज्ञापन