Advertisement
Home » Industry » CompaniesNaresh Goyal of Jet Aiways in Abu Dhabi to discuss resolution plans with Etihad

मेहुल चौकसी, नीरव मोदी की तरह जेट के मालिक नरेश गोयल भी हैं NRI, कंपनी पर है 8,052 करोड़ का कर्ज

जिन लोगों के पैसे कंपनी को चुकाने हैं, उन्होंने दी है कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की धमकी

Naresh Goyal of Jet Aiways in Abu Dhabi to discuss resolution plans with Etihad

नई दिल्ली.

विमानन कंपनी जेट एयरवेज के मालिक नरेश गाेयल कंपनी में 250 करोड़ रुपए लगाने जा रहे हैं। कंपनी 8,062 करोड़ रुपए के कर्ज में डूबी है और नरेश गोयल इसमें 51 फीसदी शेयर्स के हिस्सेदार हैं। कंपनी की वित्तीय हालत लंबे समय से खराब है, लिहाजा नरेश गोयल जेट एयरवेज की पार्टनर Etihad Airways के साथ रिजॉल्यूशन प्लान डिस्कस करने के लिए अबू धाबी में हैं। नरेश गोयल भी मेहुल चौकसी और नीरव मोदी की तरह NRI हैं। ऐसे में मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कयास लगाए जा रहे हैं कि वे भी फरार हो सकते हैं।

 

विवादों में घिरी है एयरलाइन

25 साल पुरानी जेट एयरवेज लंबे समय से वित्तीय विवादों से घिरी हुई है। पायलट, पट्‌टा देने वालों और वेंडर्स का पैसा कंपनी पर बकाया है। दिसंबर में खत्म होने वाली तिमाही के लोन प्रिंसिपल और इंटरेस्ट पेमेंट में कंपनी ने डिफॉल्ट किया। पट्‌टेदारों का किराया देने के मामले में कंपनी ने डिफॉल्ट किया। कंपनी ने वादा किया था कि पायलट्स और इंजीनियरों को उनकी नवंबर की सैलरी का 75 फीसदी जनवरी के अंत तक दे देगी, लेकिन अब तक कंपनी ने सिर्फ 50 फीसदी सैलरी दी है।

 

हो सकती है कंपनी पर सख्त कार्रवाई

अपने बकाया भुगतान में लगातार देर होने के चलते National Aviator’s Guild और पायलट्स यूनियन आज बैठक करने जा रही है। इसमें तय होगा कि आगे क्या कार्रवाई करनी है। पट्‌टेदारों ने भी कंपनी को चेतावनी दी है कि अगर उनका बकाया भुगतान समय से नहीं किया गया तो वे सख्त कार्रवाई करेंगे।

 

कंपनी में है गोयल की 51 फीसदी हिस्सेदारी

नरेश गोयल की कंपनी में 51 फीसदी हिस्सेदारी है। जेट एयरवेज की पार्टनर कंपनी Etihad ने वादा किया है कि जेट के लॉयल्टी प्रोग्राम में से 3.5 करोड़ डॉलर (250.89 करोड़ रुपए) रिलीज करेगी। इस डील के तहत कंपनी में गोयल की हिस्सेदारी घटकर सिर्फ 22 फीसदी रह जाएगी, जबकि एतिहाद की हिस्सेदारी 24 फीसदी से बढ़कर 40 फीसदी हो जाएगी।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement