Women's Day Special : ये हैं भारत की 5 कामयाब बिजनेसवूमन जिनका पूरी दुनिया मानती है लोहा, विदेशों में भी लहरा चुकी हैं परचम

Most Influential Women Entrepreneurs in India बीते कुछ सालों में भारत के कोर्पोरेट जगत में महिलाओं ने इतनी उन्नति कर ली है की वह पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गई हैं। आज हम आपको  2019 की उस शक्तिशाली महिलाओं के बारे में बताने जा रहे हैं  जिन्होंने अपनी मेहनत और काबिलियत से दुनिया में एक नया मुकाम हासिल किया है। 

Money Bhaskar

Mar 08,2019 02:58:00 PM IST

नई दिल्ली। आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर पूरी दुनिया महिलाओं को बधाई दे रही है। सबसे पहले 1909 में इसे अमेरिका में मनाया गया था जिसके बाद इसे अंतरराष्ट्रीय दिवस घोषित कर दिया। यूं तो कहा जाता है कि हमारे समाज को चलाने वाले आदमी होते हैं लेकिन पिछले कुछ समय में महिलाओं ने समाज की सोच को बदल डाला है। दुनिया भर में महिलाएं उन नकारात्मक धारणाओं पर काबू पा रही हैं जिनके बारे में समाज में धारणा है। बदलाव की इस हवा का असर भारतीय कॉरपोरेट बाजार में भी देखा सकता है। बीते कुछ सालों में भारत के कोर्पोरेट जगत में महिलाओं ने इतनी उन्नति कर ली है की वह पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गई हैं। आज हम आपको 2019 की उस शक्तिशाली महिलाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी मेहनत और काबिलियत से दुनिया में एक नया मुकाम हासिल किया है।

इंदु जैन- इंदु जैन भारत के बड़े मीडिया ग्रुप बेनेट कोलमैन ऐंड कंपनी की चेयरपर्सन और देश की दूसरी महिला अरबपति हैं। वे 11,400 करोड़ रुपए (1.9 बिलियन डॉलर) की मालकिन है। फोर्ब्स के मुताबिक, इंदु जैन की कुल संपत्ति 11,400 करोड़ रुपए है। भारत के अरबपतियों में उनका स्थान 29वां है। उनकी शादी स्वर्गीय अशोक कुमार जैन से हुई थी। उनके दो बेटे हैं- समीर और विनीत जैन। इंदु जैन एक अग्रवाल जैन हैं और साहु जैन परिवार ताल्लुक रखती हैं। बेनेट कोलमैन ऐंड कंपनी देश के सबसे बड़े मीडिया ग्रुपों में से एक है। इसकी स्थापना वर्ष 1838 में हुई थी।

इंदिरा नूई- पेप्सिको की भारतीय मूल की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) इंद्रा नूयी ने पेप्सिको से अपना पद छोड़ दिया है।  वह पिछले 12 साल से अमेरिका की इस प्रमुख फूड और बेवरेज कंपनी की अगुवाई कर रही थी वह पिछले 24 साल से इस कंपनी से जुड़ी हैं। हालांकि वह 2019 की शुरुआत तक कंपनी की चेयरमैन रहेंगी। चेन्नई में जन्मी 63 वर्षीय इंदिरा नुई देश की सबसे ताकतवर महिलाओं में घिनी जाती हैं। 1994 में पेप्सिको से जुड़ी और 2006 में इसकी कमान संभाली। नुई के आने के बाद से ही पेप्सिकों के शेयरों में जबरदस्त तेजी देखी गई। साल 2007 में उन्हें पद्म भूषण से भी नवाजा गया। नुई लंबे समय तक फोर्ब्स पत्रिका में 100 सबसे प्रभावशाली महिलाओम में शामिल रहीं। साल 2018 अगस्त में नुई ने पेप्सिकों से इस्तीफा दे दिया। इंदिरा को टाइम मैगजीन में 'दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की सूची' में 2007 और 2008 में जगह दी गई। उनकी इस उपलब्धि से देश का नाम ऊंचा हुआ।

 

किरण मजूमदार शॉ- किरण मजूमदार शॉ एक भारतीय महिला व्यवसायी, टेक्नोक्रेट, अन्वेषक और बायोकॉन की संस्थापक है, जो भारत के बंगलौर में एक अग्रणी जैव प्रौद्योगिकी संस्थान है। वे बायोकॉन लिमिटेड की अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक तथा सिनजीन इंटरनेशनल लिमिटेड और क्लिनिजीन इंटरनेशनल लिमिटेड की अध्यक्ष हैं। उन्होंने 1978 में बायोकॉन को शुरू कर किया और उत्पादों के अच्छी तरह से संतुलित व्यापार पोर्टफोलियो तथा मधुमेह, कैंसर-विज्ञान और आत्म-प्रतिरोध बीमारियों पर केंद्रित शोध के साथ इसे एक औद्योगिक एंजाइमों की निर्माण कंपनी से विकासित कर पूरी तरह से एकीकृत जैविक दवा कंपनी बनाया। 

 

वंदना लुथरा- वंदना लूथरा वीएलसीसी की सीईओ हैं। वीएलसीसी उन कंपनियों में शुमार है, जिन्होंने महिलाओं को रोजगार और रोजगार संबंधी तकनीक मुहैया कराने के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के साथ समझौता किया है। अपनी बचत की छोटी सी रकम से वर्ष 1989 में दिल्ली में वीएलसीसी की शुरूआत की। तब यह भारत का पहला 'ट्रांस्फाॅर्मेशन सेंटर' था। उन दिनों देश का वेलनेस मार्केट पहचान ही बना रहा था और फिटनेस व ब्यूटी मिलाकर संपूर्ण वेलनेस एक नए तरह का क्षेत्र था।  वंदना लूथरा के निरंतर प्रयासों से कंपनी के सेंटर 16 देशों के 121 शहरों में 300 से अधिक स्थानों पर मौजूद है। भारत, श्रीलंका, नेपाल, बांग्लादेश, मलेशिया, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), ओमान, बहरीन, कतर, कुवैत, सऊदी अरब और कीनिया में खुद कम्पनी अपना काम-काज करती है। साथ ही भारत और सिंगापुर स्थित इसके प्लांट में वीएलसीसी की बड़ी रेंज़ के स्किन केयर, हेयर केयर और बॉडी-केयर प्रोडक्ट का उत्पादन भी होता है। कम्पनी में पूरी दुनिया के 39 देशों के 6,000 से अधिक लोग काम करते हैं। इनमें अधिकांश डॉक्टर, न्यूट्रीशनिस्ट, साइकोलॉजिस्ट, कॉस्मेटोलॉजिस्ट, ब्यूटीशियन, फीजियोथिरेपिस्ट आदि हैं।

 

 

प्रिया पॉल- प्रिया पॉल ने यूएसए के वेलेस्ले कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक  पूरा किया। 51 साल की उम्र में, उन्हें भारत की उन महिलाओं के लिए प्रेरणा मानी जा सकता हैं जो खुद का एक रास्ता बनाना चाहती हैं। प्रियाल पॉल पार्क होटल्स के चेयरपर्सन हैं और उन्हें भारत सरकार द्वारा वर्ष 2012 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.