विज्ञापन
Home » Industry » Companiesmilk prices likely to rise

नए साल में खीर खाना होगा महंगा, जानिए क्या है वजह

नया साल में लोगों की जेब पर बढ़ सकता है बोझ

milk prices likely to rise
नए साल में जहां देशवासियों को कई फायदें मिलेंगे वहीं नया साल लोगों की जेब पर भी बोझ बढ़ सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो आने वाले दिनों में डेयरी कंपनियां दूध की कीमतें बढ़ाने की तैयारी कर रही है। दूध की कीमतें बढ़ाने के पीछे कंपनियों का मुख्य कारण यह है कि दूध की सप्लाई, मांग की तुलना में काफी गिर गई है।

नई दिल्ली।  नए साल में जहां देशवासियों को कई फायदें मिलेंगे वहीं नया साल में  लोगों की जेब पर भी बोझ बढ़ सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो आने वाले दिनों में डेयरी कंपनियां दूध की कीमतें बढ़ाने की तैयारी कर रही है। दूध की कीमतें बढ़ाने के पीछे कंपनियों का मुख्य कारण यह है कि दूध की सप्लाई, मांग की तुलना में काफी गिर गई है। इसके पीछे कारण यह है कि ठंड के चलते किसानों को कम रिटर्न मिल रहा है जिससे दूध का उत्पादन घट गया है। इस साल दूध के उत्पादन में काफी गिरावट देगी गई है। लेकिन बाकी साल दूध का उत्पादन काफी अच्छा रहा।  

इकोनॉमिक्स टाइम्स में छपी एक खबर के मुताबिक, गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन के प्रबंध निदेशक आरएस सोढी ने कहा कि 2019 में दूध की कीमतें बढ़ना निश्चित है। इसके पीछे का बड़ा कारण स्किम्ड मिल्क पाउडर का कम स्टॉक और पिछले साल के मुकाबले सप्लाई कम होना है। इसके अलावा सोढ़ी ने कहा कि साल 2018 में दूध की सप्लाई में 15 फीसदी के बजाय 2 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

 

2017 से अब तक दूध के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं
सोढ़ी ने बताया कि अमूल एक दिन में 248 लाख लीटर दूध खरीदता है। कमोडिटी के स्थिर दामों के चलते साल 2017 के बाद से अब तक दूध के दाम नहीं कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। गौरतलब है कि बीते साल दूध की कीमतों  में बढ़ोतरी के चलते महाराष्ट्र के किसानों ने बड़ा आंदोलन किया था। और दूध की सप्लाई बंद कर दी गई थी। किसानों ने बड़े पैमाने पर आंदोलन चलाया था और पूरे महाराष्ट्र में दूध की सप्लाई ठप कर दी थी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन