बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesटॉफी की कीमत में स्‍पाइसजेट को बेचकर 1300 करोड़ का दावा हारे मारन, 579 करोड़ में हुआ सेटलमेंट

टॉफी की कीमत में स्‍पाइसजेट को बेचकर 1300 करोड़ का दावा हारे मारन, 579 करोड़ में हुआ सेटलमेंट

कलानिधि मारन ने कोर्ट में दावा किया था कि अजय सिंह ने Spicejet के लिए उन्‍हें मात्र 2 रुपए का भुगतान किया था..

1 of

मुंबई। Spicejet के साथ शेयर ट्रांसफर को लेकर चल रहे कानूनी विवाद में कलानिधि मारन को तगड़ा झटका लगा है। पूरे विवाद को लेकर गठित एक आर्बिट्रेशन ट्राइब्‍यूनल ने मारन और उनकी कंपनी केएएल एयरवेज के उस दावे के खारिज कर दिया है, जिसमें उन्‍होंने स्‍पाइस जेट से 1,323 करोड़ रुपए हर्जाना और कंपनी पर नियंत्रण की मांग की थी। 

स्पाइसजेट ने बीती 20 जुलाई को स्‍टॉक एक्‍सचेंज को बताया कि आर्बिट्रेशन ट्राइब्‍यूनल ने मारन और उनकी कंपनी के उस दावे को खारिज कर दिया, जिसके तहत उन्‍होंने आरोप लगाया था कि स्‍पाइसजेट की ओर से उन्‍हें (मारन और उनकी कंपनी को) प्रेफरेंस शेयर और कन्‍वर्टिबल वारंट जारी नहीं करने के चलते जो नुकसान हुआ, उसकी भरपाई के लिए स्‍पाइसजेट उन्‍हें 1,323 करोड़ रुपए हर्जाने के तौर पर दे।  हालांकि ट्राइब्‍यूनल ने अजय सिंह से कहा है कि वह मारन को 579 करोड़ का रिफंड करें। 

 

सस्‍ती विमान सेवा के लिए फेमस है स्‍पाइसजेट 

बता दें कि स्‍पाइस जेट देश में अपनी सस्‍ती विमान सेवा के लिए फेमस है। मार्केट शेयर के लिहाज से 2015 में स्पाइसजेट देश की चौथी सबसे बड़ी कंपनी थी।  डीजीसीए के मुताबिक, स्पाइसजेट का डोमेस्टिक पैसेंजर मार्केट शेयर 11.63 फीसदी है, जबकि लोड फैक्टर के लिहाज से यह पहले नंबर पर है।  

 

मारन ने केवल 2 रुपए में अजय सिंह को बेची एयरलाइन्स
अजय सिंह स्पाइस जेट के फाउंडर प्रमोटर रहे हैं। अजय सिंह ने 2005 में स्पाइसजेट की शुरुआत की थी। इसके बाद उन्होंने इसे कलानिधि मारन को बेच दिया था। जनवरी 2016 में अजय सिंह ने स्पाइसजेट में दोबारा 58.46 फीसदी हिस्सा खरीदा था। दिलचस्प यह है कि अधिग्रहण में दी गई रकम का खुलासा एक्सचेंज पर अभी तक नहीं किया गया है। शेयर ट्रांसफर को लेकर कलानिधि मारन ने दिल्ली हाईकोर्ट में दी याचिका में कहा कि अजय सिंह ने स्पाइसजेट कंपनी के लिए केवल 2 रुपए का भुगतान किया।  समझौते के मुताबिक, 2 रुपए की कीमत के साथ अजय सिंह को उस समय स्‍पाइसजेट पर बकाया 1500 करोड़ का कर्ज भी चुकाना था।  

 

आगे पढ़ेंमारन का दावा, उन्‍हें हुआ नुकसान ......

 

यह भी पढ़ें- आखिर कैसे अजय सिंह ने घाटे में चल रही स्‍पाइसजेट का कायापलट किया

 

मारन का दावा, उन्‍हें हुआ नुकसान 

अपनी याचिका में कलानिधि मारन ने कहा कि स्पाइस जेट और अजय सिंह ने शेयर परचेज एग्रीमेंट नियमों का उल्लंघन किया है। मारन ने कंपनी पर इनकम टैक्स और सर्विस टैक्स भुगतान न करने का आरोप भी लगाया। कलानिधि मारन ने कहा कि उन्होंने शेयर वारंट्स और बकाया भुगतान के लिए 680 करोड़ रुपए जमा किए, लेकिन उन्हें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से समन मिलने शुरू हो गए। इसे लेकर स्पाइस जेट ने कोई जरूरी कदम नहीं उठाए। इसी को लेकर उन्‍होंने दिल्‍ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। मारन ने उन्‍हें हुए नुकसान के एवज में स्‍पाइस जेट से 1,323 करोड़ का हर्जाना का हर्जाना मांगा था। 

 

आगे पढ़ेंहाईकोर्ट ने ट्राइब्‍यूनल गठित किया 

 

 

यह भी पढ़ें- सेबी के साथ अजय सिंह ने किया सेटलमेंट, 2 लाख का करना पड़ा भुगतान 

हाईकोर्ट ने ट्राइब्‍यूनल गठित किया 
पूरे विवाद के हल के लिए हाईकोर्ट ने एक आर्बिट्रेशन ट्राइब्‍यूनल (मध्‍यस्‍थता अदालत) का गठन किया था। इसमें सुप्रीम कोर्ट के तीन रिटायर्ड जज अरिजीत पसायत, हेमंत लक्ष्मण गोखले और केएसपी राधाकृष्णन शामिल थे। ट्राइब्‍यूनल की मध्यस्थता प्रक्रिया अप्रैल में पूरी हो गई थी। इसपर फैसला अब जाकर आया है।  

 

पर स्‍पाइसजेट को चुकाने होंगे 579 करोड़ रुपए 
फिलहाल पूरे मामले में जो फैसला आया है, उसके मुताबिक, ट्राईब्‍यूनल ने भले ही मारन के 1,323 करोड़ रुपए के दावे को खाजिर कर दिया हो, लेकिन स्‍पाइस जेट को मारन को 579 करोड़ रुपए देने होंगे। साथ ही इसपर 12 फीसदी सलाना का ब्‍याज भी देना होगा। मारन को निर्देश दिया है कि वह सिंह और स्पाइसजेट को 29 करोड़ रुपये के दंड ब्याज (penal interest) का भुगतान करें। 

 

आगे पढ़ें-बंद होने की कगार पर थी स्‍पाइस जेट पर अजय सिंह ने बदल दी बाजी 


 

बंद होने की कगार पर थी स्‍पाइस जेट पर अजय सिंह ने बदल दी बाजी 
अजय सिंह ने जनवरी में जब स्पाइस जेट को खरीदा, उस समय एयरलाइन्स बंद होने के कगार पर थी। एयरलाइन्स लगातार तेल कंपनियों एयरपोर्ट अथॉरिटी और विमान पट्टे पर देने वाली कंपनियों के भुगतान का लगातार डिफॉल्ट कर रही थी। कंपनी पर करीब 1500 करोड़ रुपए का कर्ज हो चुका था। उस समय स्पाइसजेट का शेयर 16.30 रुपए के भाव पर ट्रेड कर रहा था, जो अब 110 रुपए के लेवल पर पहुंच चुका है। अजय सिंह के कमान संभालते ही स्पाइसजेट की किस्मत बदल गई। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट