बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesमणिपाल हॉस्पिटल ने फोर्टिस के लिए बढ़ाया ऑफर प्राइस, 6061 करोड़ में हो सकती है डील

मणिपाल हॉस्पिटल ने फोर्टिस के लिए बढ़ाया ऑफर प्राइस, 6061 करोड़ में हो सकती है डील

मणिपाल हॉस्पिटल ने अपनी राइवल कंपनी फोर्टिज हेल्‍थकेयर लिमिटेड के हॉस्पिटल बिजनेस को खरीदने की डील रकम बढ़ा दी है।

1 of

नई दिल्‍ली. मणिपाल हॉस्पिटल ने अपनी राइवल कंपनी फोर्टिस हेल्‍थकेयर लिमिटेड के हॉस्पिटल बिजनेस को खरीदने की प्रस्‍तावित डील की रकम बढ़ा दी है। न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, मणिपाल ने डील की रकम करीब 21 फीसदी बढ़ाई है। मणिपाल की तरफ से यह कदम अल्‍पांश हिस्‍सेदारी रखने वाले शेयरधारकों के विरोध को खत्‍म करने के लिए उठाया है। 

रिपोर्ट के अनुसार, मणिपाल हॉस्पिटल ने मंगलवार जारी बयान में बताया कि फोर्टिस हॉस्पिटल बिजनेस डील की रकम करीब 21 फीसदी बढ़ाकर 6061 करोड़ रुपए (यानी 116 रुपए प्रति शेयर) कर दी है। मणिपाल ने पिछले महीने पहली बार फोर्टिज को खरीदने की पेशकश की। इसमें उसके 14 अस्‍पताल और फोर्टिज के 34 अस्‍पताल मिलाकर 15000 करोड़ रुपए एक कंपनी बनेगी। इस नई कंपनी से अपोलो हॉस्पिटल इंटरप्राइजेज लिमिटेड को कड़ी प्रतिस्‍पर्धा मिलेगी। 

 

मणिपाल की पिछली पेशकश निवेशकों की तरफ से तैयार की गई। इसमें दोनों अस्‍पतालों को मिलकर बनने वाली नई कंपनी में शेयरधारकों को फोर्टिज के 100 शेयर के बदले 10.83 शेयर ऑफर किया गया। यह ऑफर शेयरधारकों के गले नहीं उतरा और जिस दिन इस डील का ऐलान किया गया, उसी दिन फोर्टिज के स्‍टॉक 14 फीसदी टूट गए। ईडी की रिपोर्ट के अनुसार, पुराने ऑफर को शेयरधारकों ने खारिज कर दिया इसमें दिग्‍गज भारतीय इक्विटी इन्‍वेस्‍ट राकेश झुनझुनवाला भी शामिल थे। 
 

नए ऑफर से मौजूदा शेयरधारकों के पास होगा आधा स्‍वामित्‍व 

मणिपाल का कहना है कि नए ऑफर के तहत फोर्टिस के मौजूदा शेयरधारकों के पास नई कंपनी का करीब-करीब आधा स्‍वामित्‍व होगा।  पिछली शर्तों पर हो रही डील के तहत मणिपाल के मुख्‍य कार्यकारी रंजन पई को नई कंपनी में करीब 38 फीसदी हिस्‍सेदारी मिलती। नई कंपनी भारतीय स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर लिस्‍ट कराने का भी प्रावधान रखा गया। वहीं, अमेरिकी खरीददारी कंपनी टीपीजी को 20.7 फीसदी हिस्‍सेदारी मिलने की उम्‍मीद थी। मणिपाल ने हालांकि मंगलवार के अपने बयान में यह उल्‍लेख नहीं किया गया है कि नई कंपनी में पई या टीपीजी की कितनी हिस्‍सेदारी होगी। पई का कहना है कि हमें उम्‍मीद है कि डील के नए ऑफर से फोर्टिज शेयरधारकों की तरफ से जाहिर की गई चिंताएं खत्‍म होंगी। यह ऑफर सभी शेयरधारकों के हितों में होगा। 

 

कई महीनों तक चले मोलभाव के बाद फोर्टि‍स हेल्‍थकेयर लि‍मि‍टेड (Fortis Healthcare) ने अस्‍पताल का बि‍जनेस मनि‍पाल हेल्‍थ इंटरप्राइजेस (Manipal Health Enterprises Pvt. Ltd) व टीपीजी कैपिटल्‍स को बेचने का फैसला कर लि‍या है। टीपीजी कैपिटल्‍स अमेरि‍का की इनवेस्‍टमेंट कंपनी है। यह दुनि‍या की सबसे बड़ी प्राइवेट इक्‍वि‍टी फर्म है।

 

क्‍या था पुराना ऑफर?  
कई महीनों तक चले मोलभाव के बाद बीते 28 फोर्टि‍स हेल्‍थकेयर लि‍मि‍टेड (Fortis Healthcare) ने अस्‍पताल का बि‍जनेस मनि‍पाल हेल्‍थ इंटरप्राइजेस ( Manipal Health Enterprises Pvt. Ltd) व टीपीजी कैपिटल्‍स को बेचने का फैसला कर किया था। इस सौदे के तहत मणिपाल के प्रमोटर डॉक्‍टर रंजन पई और टीपीजी कैपि‍टल मणिपाल हॉस्पिटल में 3900 करोड़ का नि‍वेश करने वाले थे। इस फंड से मणिपाल हॉस्पिटल फोर्टि‍स की एसआरएल में 20 फीसदी की हि‍स्‍सेदारी और नि‍वेशकों - आवीगो कैपिटल, जैकब बलास व इंटरनेशनल फाइनेंस कॉरपोरेशन से 30.9 फीसदी की हि‍स्‍सेदारी खरीदने वाली थी।  

 

दुनिया सबसे बड़ी प्राइवेट इक्विटी फर्म है टीपीजी कैपिटल्‍स 
टीपीजी कैपिटल्‍स अमेरि‍का की इनवेस्‍टमेंट कंपनी है। यह दुनि‍या की सबसे बड़ी प्राइवेट इक्‍वि‍टी फर्म है। इस डील की बदौलत TPG Capital के सपोर्ट से मणिपाल भारतीय हेल्‍थकेयर इंडस्‍ट्री की फ्रंट लाइन में शामि‍ल हो जाएगी। तब इसका कुल सालाना रेवेन्‍यू 5400 करोड़ रुपए हो जाएगा। इस सौदे के बाद यह समूह बि‍स्‍तरों की गि‍नती के हि‍साब से सबसे बड़ी हॉस्‍पीटल चेन हो जाएगा। इस मामले में फि‍लहाल 4450 बि‍स्‍तरों के साथ अपोलो नंबर वन पर है। ये सौदा पूरा हो जाने के बाद मनि‍पाल हेल्‍थ इंटरप्राइजेस करीब 11000 बेड के साथ नंबर वन पोजीशन पर आ जाएगा।
 


आगे पढ़ें... टीपीजी ने डील पर कैसे लगाया दाव 

 

टीपीजी के दाव 
2014- टीपीजी ने फोर्टि‍स हेल्‍थकेयर के पूर्व चीफ एग्‍जेक्‍यूटि‍व वि‍शाल बाली को एडवाइजर के तौर पर हायर कि‍या। 
2015 - टीपीजी कैपि‍टल्स ने 900 करोड़ में मनि‍पाल हॉस्‍पीटल्स में 25 फीसदी हि‍स्‍सेदारी खरीदी। 2016 - टीपीजी ग्रोथ ने मदरहुड हॉस्‍पीटल्‍स को 220 करोड़ में खरीदा। 
2016- टीपीजी ग्रोथ ने 220 करोड़ के सौदे में कैंसर ट्रीटमेंट सर्वि‍सेज इंटरनेशनल चेन को खरीदा।
2017- एशि‍या हेल्‍थकेयर होल्‍डिंग्‍स को शुरू कि‍या। ये हॉस्‍पीटल इनवेस्‍टमेंट प्‍लेटफॉर्म है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss