Home » Industry » Companiesitc chips brand bingo seles crossed 2000 crore

सिगरेट बनाने वाली कंपनी का कमाल, 1 साल में बेच दिए 2000 करोड़ के चिप्‍स

वित्‍त वर्ष 2017-18 के दौरान ITC के चिप्‍स ब्रांड बिंगो की सेल 2000 करोड़ रुपए का आंकड़ा पार गई...

itc chips brand bingo seles crossed 2000 crore

 नई दिल्‍ली। सुनकर थोड़ा अजीब लगे लेकिन, सिगरेट बेचने वाली कंपनी आईटीसी  (ITC)  साल भर में 2000 करोड़ रुपए के सिर्फ चिप्‍स बेच रही है। कंपनी का चिप्‍स ब्रांड बिंगो 2000 करोड़ रुपए का ब्रांड हो गया है। मार्च में खत्‍म हुए वित्‍त वर्ष 2017-18 के आंकड़ों के मुताबिक, कंपनी ने इस ब्रांड के तहत एक साल के दौरान 2000 करोड़ रुपए का चिप्‍स की सेल की है। आटा ब्रांड आशीर्वाद के तहत कंपनी ने 4000 करोड़ रुपए की सेल्‍स की है। 2003 में FMCG सेक्‍टर में प्रवेश करने वाली आईटीसी मात्र 13 साल के भीतर इस सेगमेंट की टॉप कंपनी बन गई है। FMCG के उसके टॉप-8 ब्रांड्स की सेल 2 अरब डॉलर (13,000 करोड़ रुपए) का आंकड़ा पार कर गई है।  

 

11 साल में खड़ा किया 2000 करोड़ का चिप्‍स ब्रांड   
जैसा की ऊपर कहा गया है कि आईटीसी पहले सिर्फ सिगरेट ही बनाती थी। 2003 में FMCG सेगमेंट में प्रवेश के बाद कंपनी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। कंपनी के चिप्‍स ब्रांड बिंगो की बात करें तो इसकी शुरुआत उसने 2007 में की थी। 11 साल में ही उसने इसे 2000 करोड़ रुपए का ब्रांड बना दिया। बिंगो ब्रांड के तहत कंपनी के 4 सबब्रांड हैं। इसमें Bingo! Yumitos, Bingo! Yumitos Original Style,  Bingo! Mad Angles और Bingo! Tedhe Medhe शामिल हैं। 


4000 करोड़ रुपए का आटा और 3500 करोड़ का बिस्‍कुट ब्रांड 
कंपनी के मुताबिक, उसका आटा ब्रांड अशीर्वाद अब 4000 करोड़ रुपए का हो गया। आटा इस सेममेंट में आशीर्वाद देश का सबसे बड़ा ब्रांड बना हुआ है। बिस्‍कुट ब्रांड सनफीस्‍ट के तहत कंपनी ने 3500 करोड़ रुपए की सेल की है। इस ब्रांड की शुरुआत जुलाई 2003 में की गई थी। मौजूदा समय में इस ब्रांड के करीब 25 प्रोडक्‍ट मार्केट में हैं। यहां उसका कॉम्पिटीशन पार्ले और ब्रिटानिया जैसी कंपनियों से है। 

 

नूडल्‍स और पर्सनल केयर में भी कंपनी की अच्‍छी सेल 
 कंपनी ने नूडल्‍स और स्‍टेशनरी सेगमेंट में 1000 करोड़ रुपए की सेल की है। कंपनी यप्‍मी ब्रांड के तहत इंस्‍टेंट नूडल्‍स की सेल करती है। इसकी शुरुआत 2010 में हुई थी। क्‍लासमेट नाम से उसका स्‍टेशनरी ब्रांड है। पर्सनल केयर और कन्‍फेशनरी सेगमेंट जिसमें 500 करोड़ की सेल्‍स की है।

 

कभी सिर्फ सिग्रेट बनाती थी कंपनी 
आईटीसी की पहचान एक जमाने में सिगरेट बनाने वाली कंपनी की थी। सेहत की चिंताओं के चलते सिगरेट के खिलाफ बनते माहौल को दखते हुए कंपनी ने अपने बिजनेस को डायवर्सिफाई किया और पहले होटल और बाद में एफएमसीजी सेमेंट में आ गई। मौजूदा समय में वह इन दोनों सेक्‍टर के टॉप कंपनियों में शामिल है। 

 

देश के 5वीं सबसे वैन्‍यूएबल कंपनी 
अगर आईटीसी की बात करें तो यह मौजूदा समय में देश की 5वीं सबसे वैल्‍यूएबल कंपनी है। 8 जून 2018 को कंपनी की मार्केट कैप 3.26 लाख करोड़ रुपए थी।  
 

 


  

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट