IITs में विदेशी नौकरियों की बहार, छात्रों को मिल रहे 1.5 करोड़ रुपए तक के पैकेज

देश के बड़े तकनीकी संस्थानों में पढ़ रहे छात्रों पर आजकल विदेशी कंपनियों महरबान हैं। यह कंपनियां इन संस्थानों के टेक टैलेंट को अपने देश के लिए ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चहती हैं। यही वजह है कि कंपनियां दिल खोलकर पैसा लुटाने को तैयार हैं। दिल्लीरुड़कीमुंबई और हैदराबाद समेत देश के सभी तकनीकी संस्थानों में एक दिसंबर से शुरू हो चुके फाइनल प्लेसमेंट के लिए बड़ी तादाद में विदेशी कंपनियों की ओर से लुभावने आॅफर्स दिए गए हैं। 

Money Bhaskar

Dec 04,2018 05:51:00 PM IST

नई दिल्ली.

देश के बड़े तकनीकी संस्थानों में पढ़ रहे छात्रों पर आजकल विदेशी कंपनियों मेहरबान हैं। यह कंपनियां इन संस्थानों के टेक टैलेंट को अपने देश के लिए ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चहती हैं। यही वजह है कि कंपनियां दिल खोलकर पैसा लुटाने को तैयार हैं। दिल्ली, रुड़की, मुंबई और हैदराबाद समेत देश के सभी तकनीकी संस्थानों में एक दिसंबर से शुरू हो चुके फाइनल प्लेसमेंट के लिए बड़ी तादाद में विदेशी कंपनियों की ओर से लुभावने आॅफर्स दिए गए हैं। कानपुर और गुवाहाटी में तो इस बार दोगुनी संख्या में इंटरनेशनल आॅफर्स हैं। इनमें जो सबसे ज्यादा आकर्षित करने वाली बात है, वो है माइक्रोसाफ्ट और उबर की तरफ से पेश किए गए पैकेज, जो इस बार एक करोड़ रुपए से भी ज्यादा के हैं। इनमें से ज्यादातर कंपनियां पहली बार छात्रों को रिक्रूट कर रही हैं। तीन दिनों में ही इन संस्थानों के छात्रों को देश-विदेश की कंपनियों से नौकरियों के तीन हजार ऑफर मिले हैं।

ये कंपनियां दे रही हैं बड़े पैकेज

1.5 करोड़ रुपए के पैकेज देने के साथ माइक्रोसाफ्ट (Microsoft) टॉप रिक्रूटर कंपनी बन गई है। इसके बाद उबर (Uber) का नाम आता है जो छात्रों को 1.05 करोड़ का पैकेज दे रही है। इनके अलावा अन्य कंपनियां जो छात्रों को लाखों का पैकेज दे रही हैं, उनमें अमेरिकी कंपनी रुब्रिक (Rubrik), एम्सटर्डम की आॅप्टिवर (Optiver), कैलीफॉर्निया की कोहेसिटी (Cohesity), सिंगापुर की डायनेमिक टेक्नालाॅजी (Dynamic Technology) और माइक्रोन सेमीकंडक्टर एशिया (Micron Semiconductor Asia), स्क्वेयरप्वाइंट कैपिटल (Squarepoint Capital) और जापानी कंपनी वर्क एप्लीकेशंस (Work Applications), मेरकरी (Mercary) और एसएमएस डाटा टेक (SMS Data Tech) शामिल हैं।

आगे पढ़ें- किस IIT में मिले कितने ऑफर्स

IIT गुवाहाटी- यहां के छात्रों ने माइक्रोसाॅफ्टउबर और ‌वर्क एप्लीकेशंस की छह इंटरनेशनल आफर्स पर कब्जा जमा लिया है। पिछले साल प्लेसमेंट के शुरुआती दिनों में मिले ऑफर्स से यह दोगुना है।

 

IIT कानपुर- पहले दो दिन में ही 10 विदेशी नौकरियों के आफर्स मिले हैं। छात्रों को उम्मीद है कि इस साल कुल विदेशी ऑफर्स की संख्या 18 हो सकती है। पिछले साल विदेशी कंपनियों से कुल सात ऑफर्स मिले थे।

 

IIT दिल्ली- संस्थान को पिछली बार के मुकाबले 25 फीसदी इजाफे के साथ पहले ही दिन 25 विदेशी ऑफर्स मिले हैं। इसमें जापानसिंगापुर और अमेरिका की कंपनियां शामिल हैं। माइक्रोसाॅफ्ट रेडमॉन्ड (US) और स्क्वेयरप्वाइंट कैपिटल ने सबसे ज्यादा ऑफर्स दिए हैं। पिछले साल IIT दिल्ली को प्लेसमेंट शुरू होने के पहले दिन 20 इंटरनेशनल ऑफर्स मिले थे।

 

 

आगे पढ़ेंअन्य IIT के बारे में

 

 

IIT मद्रास- प्लेसमेंट के पहले दो दिनों में ही IIT मद्रास के छात्रों ने सात विदेशी नौकरियों पर कब्जा कर लिया है। इसमें अमेरिकासिंगापुर और दुबई की माइक्रोसाॅफ्टउबरहालमा एंड रुब्रिक कंपनियां शामिल हैं।

 

IIT हैदराबाद- तीन दिसंबर तक संस्थान के छात्रों के पास 11 विदेशी नौकरियों के आफर्स आ चुके हैं। इनमें जापान की साॅफ्टबैंकमेरकरीटोयटा रिसर्च इंस्टीट्यूटएडवांस डेवलपमेंट वर्क एप्लीकेशंसडेंसो और एसएमएस डाटा टेक जैसी दिग्गज कंपनियां शामिल हैं।

 

IIT रुड़की- इस संस्थान के पास इस बार अमेरिकाजापानसिंगापुर से 12 नौकरियों के प्रस्ताव हैं। माइक्रोसाफ्टउबरस्केव्यरपाइंट कैपिटल और मर्केरी जैसी बड़ी कंपनियों ने इस संस्थान में पहुंच की है।

 

IIT खड़गपुर- संस्थान को अब तक 20 विदेशी ऑफर्स मिले हैं। अमेरिकी कंपनी माइक्रोसाफ्ट और ताइवान सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी की ओर से चार-चार नौकरियों की पेशकश है। जापानी कंपनियों ने छह नौकरियां ऑफर की हें।

 

आगे पढ़ेंकंपनियों को है दुनिया बदलने वाले हुनर की तलाश

 

 

दुनिया बदलने वाले हुनर की तलाश

माइक्रोसॉफ्ट इंडिया की एचआर हेड इरा गुप्ता के मुताबिक उनकी कंपनी ऐसी स्मार्ट लोगों की तलाश करती हैजो ऐसी चीजें बनाने का जज्बा रखते हैं जो दुनिया को बदल दे। इसीलिए भारत समेत दुनिया के बेहतरीन तकनीकी संस्थानों पर उनकी हर समय नज़र रहती है। जिन छात्रों को उनकी कंपनी हायर करती हैउन्हें उनकी भूमिकाप्राथमिकता और जहां उनकी प्रतिभा का बेहतर इस्तेमाल हो सकेवहीं भेजा जाता हैफिर चाहे वो भारत हो या फिर कोई दूसरा देश।

 

आगे पढ़ेंनौकरियां देने की नहीं है कोई सीमा

 

 

 

नौकरियां देने की नहीं है कोई सीमा

एक अन्य विदेशी कंपनी रुब्रिक की प्लेसमेंट टीम का कहना है कि वे 70 लाख रुपए की बेस सैलेरी की पेशकश दे रहे हैं। इस कंपनी ने इस बार मद्रासदिल्लीमुंबई और कानपुर के तकनीकी संस्थानों का दौरा कर बेहतरीन प्रतिभाओं का चयन किया है। कंपनी के प्रवक्ता के मुताबिक उन्हें इस बार कंप्यूटर साइंस पर बहुत अच्छी पकड़ रखने वाले ऐसे छात्र मिले हैंजो हर समय कुछ अलग करने और खतरे उठाने के लिए उत्सुक हैं। कंपनी का कहना है कि नौकरियों की कोई निश्चित संख्या नहीं हैबेहतरीन इंजीनियर्स के लिए उनके दरवाज़े हमेशा खुले हैं।
 
X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.