Home » Industry » Companiesबिल गेट्स के पेरेंटिंग टिप्स - Bill gates parenting tips

बिल गेट्स अपने बच्चों की ऐसे करते हैं देखभाल, बोले सफल होने में मिला फायदा

दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शामिल बिल गेट्स ने हाल ही में अपने पैरेंटिंग टिप्स बताए हैं।

1 of

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शामिल बिल गेट्स ने हाल ही में अपने पैरेंटिंग टिप्स बताए हैं। उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू में बताया कि वह और उनकी पत्नी अपने बच्चों की देख भाल किस करते हैं। इसके लिए उन्होंने एक फॉर्म्युले का भी इस्तेमाल किया है। उनके अनुसार प्यार और लॉजिक फॉर्म्युला के इस्तेमाल से उन्हें और उनकी पत्नी को एक अच्छे माता-पिता बनने में मदद मिली है। आइए जानते हैं बिल गेट्स के पैरेंटिंग टिप्स किया है...

 

मेलिंडा गेट्स करती है बच्चों की देखभाल

बिल गेट्स और मेलिंडा गेट्स के तीन बच्चे हैं। उनकी दो बेटियां और एक बेटा है। उनकी बड़ी बेटी का नाम जेनिफर गेट्स, बेटी का नाम रोरी जॉन गेट्स और जबकि छोटी बेटी फोबे एडेल गेट्स है। जेनिफर अभी स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रही है। उनका बेटा रोरी जॉन गेट्स लेकसाइट स्कूल में पढ़ाई कर रहा है और उनकी छोटी बेटी भी स्कूल में पढ़ाई कर रही है। घर में उनकी बिल गेट्स की वाइफ मेलिंडा गेट्स ही बच्चों की देखभाल करती है। बिल गेट्स ने हार्वर्ड के स्टूडेंट को एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उनके बच्चों को पालने में 80 फीसदी जिम्मेदारी उनकी वाइफ की है।

 

प्यार और लॉजिक पेरेंटिक मॉडल का करते हैं इस्तेमाल

बिल गेट्स ने बताया कि वह और उनकी पत्नी 1970 का प्यार और लॉजिक पेरेंटिक मॉडल का इस्तेमाल करते हैं। ये फॉर्मूला साइकोलॉजिस्ट, साइकेटरिक और स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन ने मिलकर बनाया है। इस फॉर्मूले में इमोशनल कंट्रोल, इमोशनल रिएक्शन को कंट्रोल करना जैसे चिल्लाना जैसी चीजें नहीं करना सिखाया जाता है। इससे बच्चों के इमोशन को कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

आगे पढ़ें - बिल गेट्स के पेरेंटिंग टिप्स के बारे में...

इमोशन होते हैं कंट्रोल

 

इससे एक दूसरे खासकर बच्चों को बोलने पर कंट्रोल करने पर मदद मिली है। वह एक दूसरे से गलत भाषा का प्रयोग नहीं करते और न ही चिल्लाते हैं। वह अपने इमोशन पर कंट्रोल करना सीख रहे हैं। गेट्स ने माना कि वह इस तरीके को 100 फीसदी अपनाने की कोशिश करते हैं।

बच्चों पर नहीं होते गुस्सा

वह अपने बच्चों पर गुस्सा नहीं निकालते। अपने बच्चों के खराब टेस्ट स्कोर या बुरे ग्रेड पर गुस्सा नहीं उतारते। उनका फॉर्मूला ग्रेड और रिवार्ड पर निर्भर नहीं करता। वह बच्चों को प्यार और बिना कारण के प्यार में भरोसा करते हैं। उन्होंने कहा कि कई सफल लोग अपने बचपन में अपने ग्रेड को लेकर स्ट्रगल करते हैं। ये ज्यादा जरूरी है कि आपके बच्चों का कैरेक्टर डेवलप हो। उनमें हर काम को लेकर उत्सुकता और समस्याओं का हल निकालने का व्यवहार हो।

आगे पढ़ें - बिल गेट्स के पेरेंटिंग टिप्स के बारे में...

 

समस्याओं का हल निकालने पर फोकस

 

मॉडल के तहत माता-पिता अपने बच्चों से सवाल पूछते हैं और बच्चों को अपनी समस्या दूर करने पर फोकस करते हैं। उन्होंने अपने किसी भी बच्चें को 14 साल की उम्र तक मोबाइल नहीं दिया। उनके बच्चे हर बार अपने माता-पिता के साथ कैथोलिक चर्च जाते हैं। उनके बच्चों को बिल गेट्स की संपत्ति से 1 करोड़ अमेरिकी डॉलर मिलेंगे। बिल गेट्स की कुल नेटवर्थ 9,120 करोड़ अमेरिकी डॉलर है।

 

बच्चों पर नहीं करते ज्यादा पैसा खर्च

 

बिल गेट्स के अनुसार उन्होंने अपने बच्चों को लाइफ में सब कुछ करने की आजादी एक संतुलन के साथ करने की दी है। वह अपने बच्चों पर बहुत अधिक पैसा खर्च नहीं करते ताकि वह बाहर जाएं और काम करना सीखे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट