बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesब्रिटेन में केस हारी किंगफिशर, कोर्ट ने सिंगापुर की एविएशन कंपनी को 579 करोड़ चुकाने को कहा

ब्रिटेन में केस हारी किंगफिशर, कोर्ट ने सिंगापुर की एविएशन कंपनी को 579 करोड़ चुकाने को कहा

सिंगापुर की एविएशन कंपनी विमान लीज का उल्‍लंघन करने का आरोप लगाते हुए माल्‍या से हर्जाना मंगा था।

1 of

लंदन. बैंक डिफॉल्‍टर विजय माल्‍या से ब्रिटिश कोर्ट ने कहा है कि वो सिंगापुर की कंपनी BOC एविएशन को हर्जाने के तौर पर 9 करोड़ डॉलर (64.32 रुपए प्रति डॉलर पर करीब 579 करोड़ रुपए) की रकम वापस करें। BOC एविएशन ने माल्‍या के खिलाफ लंदन की कोर्ट में पिटीशन दायर की है। BOC एविएशन का माल्‍या की किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाया था। इसी मामले में माल्या को ये रकम लौटाने का आदेश दिया है।  

 

क्‍या है मामला?

- किंगफिशर एयरलाइंस ने BOC एविएशन से 2014 में 4 एयरक्राफ्ट लीज पर लेने का एग्रीमेंट किया था। BOC ने 3 एयरक्राफ्ट डिलिवर भी कर दिए थे। हालांकि किंगफिशर एयरलाइंस ने जब पिछला अमाउंट का पेमेंट नहीं किया तो BOC ने चौथे एयरक्राफ्ट की डिलिवरी रोक दी।
- लीज एग्रीमेंट के तहत किंगफिशर को पुराना बकाया और एडवांस दोनों चुकाना था। बाद में किंगफिशर एयरलाइंस बंद हो गई और BOC एविएशन का बकाया नहीं चुकाया जा सका। BOC का अारोप है कि माल्‍या ने लीज की शर्तों को नहीं माना। BOC ने यह दावा भी किया था कि लीज एग्रीमेंट के तहत जो सिक्‍युरिटी डिपॉजिट जमा किया था, वह भी किंगफिशर के ड्यूज को पूरा करने के लिहाज से कम था। 

 

अब ब्याज भी देना होगा

- बिजनेस और प्रॉपर्टी से जुड़े मामलों की सुनवाई करने वाली लंदन की इस कोर्ट के जस्टिस पीकेन ने माल्या के मामले में यह आदेश 5 फरवरी को दिया था। 
- इसमें साफ कहा गया है कि हर्जाने के खिलाफ बचाव पक्ष (माल्या) अपनी दलीलें साबित नहीं कर पाया। इस बकाए के खिलाफ BOC एविएशन सिंगापुर और BOC एविएशन (आयलैंडर) लिमिटेड ने लंदन की कोर्ट में दरवाजा खटखटाया था।
- एविएशन कंपनी ने अपनी अर्जी में किंगफिशर एयरलांइस और उसकी पैरेंट कंपनी यूनाइटेड ब्रेवरीज को पार्टी बनाया है। फैसले में जस्टिस पिकेन ने BOC एविएशन  को ड्यू अमाउंट ब्‍याज और कानूनी खर्च सहित लौटाने का आदेश दिया है।

 

BOC एविएशन का कुछ भी कहने से इनकार 

- कोर्ट के फैसले पर न तो किंगफिशर और न ही BOC एविएशन की ओर से कोई बयान आया है। BOC ने सिर्फ फैसले पर खुशी जताई।  

 

16 मार्च हो होनी है प्रत्‍यर्पण पर आखिरी सुनवाई 

- 16 मार्च को माल्‍या के प्रत्‍यर्पण पर लंदन की एक अदालत में आखिरी सुनवाई होगी। हालांकि, फैसला मई में आएगा। ऐसे में ताजा फैसला माल्या के लिए झटका माना जा सकता है। माल्‍या 650,000 पाउंड की पेड बेल पर जेल से बाहर हैं। उनकी यह बेल 2 अप्रैल तक है।
- भारत सरकार ने कोर्ट से माल्‍या के प्रत्‍यर्पण (उनको भारत भेजे जाने) की गुहार लगाई है। भारत सरकार की अपील पर लंदन पुलिस ने माल्‍या को पिछले साल अप्रैल में गिरफ्तार भी किया था, हलांकि बाद में उन्‍हें बेल मिल गई थी। माल्‍या पर भारत में बैंकों के करीब 9 हजार करोड़ रुपए बकाया हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट