बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesपेट्रोल-डीजल भरवाते वक्‍त 8 बातों का रखें ध्यान, बच जाएंगे नुकसान से

पेट्रोल-डीजल भरवाते वक्‍त 8 बातों का रखें ध्यान, बच जाएंगे नुकसान से

पेट्रोलियम मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, देश में 2015-2017 के दौरान पेट्रोल पंपों पर ठगी के 10898 मामले सामने आए...

1 of

नई दिल्‍ली. आए दिन पेट्रोल पंपों पर धोखाधड़ी की शिकायतें आती रहती हैं। हाल ही में पेट्रोलियम मंत्रालय द्वारा लोकसभा में पेश की गई एक रिपोर्ट चौंकाने वाली है। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में 2015 से 2017 के दौरान सरकारी पेट्रोल पंपों पर ठगी के 10898 मामले दर्ज किए गए। इनमें से सबसे ज्‍यादा मामले महाराष्‍ट्र में दर्ज किए गए। रिपोर्ट के अनुसार, 10898 में से कम पेट्रोल-डीजल देने के 7848 मामले हैं, वहीं पेट्रोल-डीजल में मिलावट के 3050 मामले सामने आए।

 

अब सवाल यह है कि पेट्रोल पंपों पर धांधली होती कैसे है और यह हमारी नजरों से कैसे बच जाती है। इसकी वजह है कि हम अक्‍सर पेट्रोल भरवाते वक्‍त कुछ छोटी-छोटी चीजों को नजरअंदाज कर देते हैं या फिर उन्‍हें गंभीरता से नहीं लेते हैं। इसी के चलते हमसे ज्‍यादा पैसा वसूल लिया जाता है। अगर थोड़ी सी सावधानी बरती जाए हमसे वसूले जाने वाले एक्‍स्‍ट्रा पैसे बच सकते हैं और पेट्रोल-डीजल की सही मात्रा भी ले सकते हैं। आइए आपको बताते हैं कि पेट्रोल पंप पर किन 8 चीजों का ध्‍यान रखना चाहिए- 

 

1. मीटर पर रखें नजर

ज्‍यादातर लोग गाड़ी में पेट्रोल/डीजल भरवाते वक्‍त‍ गाड़ी से नीचे नहीं उतरते हैं। कुछ पेट्रोलपम्पकर्मी इसका फायदा उठा लेते हैं। पेट्रोल भरवाते वक्‍त गाड़ी से नीचे उतरकर मीटर के पास खड़ा हों और पेट्रोलपम्पकर्मी की गतिविधियों को देखें। इससे ठगी होने के मौके कम हो जाते हैं।

 

2. जरूर देखें कीमत सेट है या नहीं

हो सकता है कि पेट्रोलपंपकर्मी आपको बातों में लगाकर जीरो तो दिखाए, लेकिन मीटर में आपके द्वारा मांगे गए पेट्रोल का मूल्य सेट नहीं करे। आजकल सभी पेट्रोल पंप पर डिजिटल मीटर होते हैं। इनमें मांगे गए पेट्रोल का फिगर और मूल्य पहले से ही सेट होता है। इससे पेट्रोलपम्पकर्मी द्वारा मनमानी और चीटिंग करने की गुजांइश कम रहती है।

 

3. डिजिटल मीटर वाले पेट्रोल पंप से ही करें खरीद

पेट्रोल-डीजल डिजिटल मीटर वाले पेट्रोल पंप से भरवाना ही ठीक रहता है। पुरानी मशीनों से कम पेट्रोल दिए जाने की आशंका ज्‍यादा रहती है और इसे पकड़ा भी नहीं जा सकता। इसी वजह से देश में पुरानी पेट्रोल पंप मशीनें हटाकर डिजिटल मीटर वाली मशीनें लग रही हैं, वहीं नए खुलने वाले पेट्रोल पंप पर डिजिटल मीटर ही लग रहे हैं।

 

4. रीडिंग का स्टार्ट फिगर

आप पेट्रोल पंप मशीन में जीरो तो देख लेते हैं लेकिन साथ ही रीडिंग किस फिगर से स्टार्ट हुई इस पर भी ध्‍यान देना जरूरी है। मीटर की रीडिंग कम से कम 3 से स्टार्ट होनी चाहिए। अगर 3 से ज्यादा अंक पर जंप हुआ तो समझो आपका नुकसान भी उतना ही होगा।

 

5. कहीं तेज तो नहीं दौड़ रहा मीटर

अगर पेट्रोल पंप पर मीटर बेहद तेज चल रहा है तो समझ जाएं कि कुछ गड़बड़ है। ऐसे में पेट्रोलपंपकर्मी को कहें कि वह मीटर की स्पीड नॉर्मल करे, साथ ही इसकी वजह भी पूछें। 

 

आगे पढ़ें- बाकी के प्‍वॉइंट्स 

6. मीटर रुक रहा हो बार-बार

आपने अक्‍सर देखा होगा कि पेट्रोल भरवाते वक्‍त मीटर बार-बार रुक जाता है। हालांकि धीरे-धीरे ही सही लेकिन आपको पेट्रोल दे दिया जाता है। जानकारों के मुताबिक, मीटर बार-बार रुकने से पेट्रोल की मात्रा कम रहने की संभावना रहती है। इसलिए अगर किसी पेट्रोल पंप पर ऐसी मशीन है तो इस मशीन पर पेट्रोल भरवाने से बचें।

 

आगे पढ़ें- सातवां प्‍वॉइंट 

7. टैक पूरा खाली होने से पहले भरवाएं पेट्रोल

पूरे खाली टैंक में पेट्रोल भरवाने से नुकसान होता है। इसकी वजह है कि टैंक जितना खाली रहेगा, उतनी ही हवा उसमें मौजूद रहेगी। ऐसे में जब आप पेट्रोल भरवाते हैं तो हवा के कारण टैंक में कम पेट्रोल आएगा। इसलिए टैंक के पूरा खाली होने का इंतजार किए बिना उसे भरवा लें और कोशिश करें कि आधा टैंक हमेशा भरा रहे।

 

आगे पढ़ें- लास्‍ट प्‍वॉइंट

8. सुनसान रहने वाले पेट्रोल पंप पर जाने से बचें

को‍शिश करें कि पेट्रोल हमेशा ऐसे पंप से भरवाएं जहां चहल-पहल रहती हो और लोग पेट्रोल भरवाने के लिए मौजूद हों। अगर आप किसी सुनसान पेट्रोल पंप से पेट्रोल लेते हैं, तो पेट्रोल कम मिलने की गुंजाइश ज्‍यादा रहती है। दरअसल ऐसे पंप की मशीन से फ्यूल लेने पर नोजल में पेट्रोल आने से पहले वाली हवा आपकी गाड़ी की टंकी में भर जाने की संभावना रहती है और आपको कुछ प्‍वॉइंट्स का नुकसान हो सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट