Home » Industry » Companiesmoney making tips for college going students

टीनएजर के लिए जरूरी हैं 5 बातें जानना, जिनके बारे में पैरेंट्स भी नहीं बताते

टीनएजर और कॉलेज गोइंग यूथ के लि‍ए कुछ ऐसी बातें हैं, जो जाननी जरूरी होती हैं।

1 of

नई दिल्ली. टीनएजर और कॉलेज गोइंग यूथ के लि‍ए कुछ ऐसी बातें हैं, जो जाननी जरूरी होती हैं। ये बातें आमतौर पर उनके पैरेंट्स भी नहीं बताते हैं। हम बात कर रहे हैं मनी मैनेजमेंट की। मनी मैनेजमेंट एक ऐसा वि‍षय है जि‍स पर टीनएजर ध्‍यान नहीं देते हैं। इसे अगर आप कॉलेज के समय में ही मैनेज करना सीख जाएंगे, तो आपको आगे दिक्कतें नहीं आएंगी। आपके पास खर्च करने के लिए हमेशा पैसे रहेंगे। आइए जानते हैं मनी मैनेजमेंट से जुड़ी 5 बातों के बारे में...

 

 

1.बैंक अकाउंट बेसिक के बारे में जानें

काफी कॉलेज स्टूडेंट को मोबाइल और ऑनलाइन बैंकिंग के बारे में नहीं पता होता। वह अपने अकाउंट की जानकारी और काम घर बैठे ही कर सकते हैं। कस्बों में बैंक के बेसिक भी नहीं पता होते जैसे बैंक अकाउंट कैसे खोलना है, डेबिट और क्रेडिट कार्ड कैसे बनेगा और एटीएम से कैसे पैसे निकालने हैं। आपको बैंक अकाउंट के बेसिक और ऑनलाइन बैंकिंग के फायदों के बारे में जानना होगा।

 

 

2. बजट बनाएं

कॉलेज लाइफ में स्टूडेंट्स अपने पेरेंट्स से मिलने वाली पॉकेट मनी पर निर्भर करते हैं। ज्यादातर कॉलेज स्टूडेंट 10 दिन में ही अपनी पॉकेट मनी खत्म कर देते हैं। ऐसे में स्टूडेंट को अपने लिए महीने का बजट बनाना चाहिए और उसी के आधार पर खर्च करना चाहिए। आप रोजाना 100 से 150 रुपए मिलने वाली पॉकेट मनी को सोचकर खर्च करेंगे तो महीने अंत तक खर्चों को लेकर दिक्कत नहीं आएगी।

 

आगे पढ़ें - क्या जानना है जरूरी..

 

3. पैसे सेव करने की आदत डालें

अगर स्टूडेंट कम उम्र में पैसा सेव करना सीख लेंगे, तो इसका फायदा मिलेगा। सभी टीनएजर में इतनी प्रतिभा होती है कि वह एक दिन करोड़पति बन सके। बस आपको मनी मैनेजमेंट करना शुरू से ही सीखना होगा। अगर आप 30 साल की उम की जगह 20 साल की उम्र में हर महीने थोड़ा पैसा सेव करते हैं तो इसका फायदा आपको मिलेगा।

 

 

4. क्रेडिट रिपोर्ट के बारे में जान लें

क्रेडिट रेटिंग क्या है? और आपको इसे क्यूं और कैसे बेहतर बनाए रखना है। यह आपके लिए जानना जरूरी है। क्रेडिट स्कोर को अच्छा रखने से आपको लोन, क्रेडिट कार्ड आसानी से मिल जाता है। इंडिया में सिबिल हर एक की स्कोरिंग करती है। यह स्कोर बैंक से लिए जाने वाले ओवरड्राफ्ट और पेमेंट डिफॉल्ट के आधार पर बनाई जाती है।

 

आगे पढ़ें - क्या जानना है जरूरी

 

 

5. बुरे दिनों के लिए सेव करना सीखें

भले ही आप फाइनेंशियली अच्छी फैमिली से हो लेकिन बुरे वक्त के लिए सेविंग करना सीखें। इससे आपके पास एक रिजर्व होगा जिसे आप सिर्फ इमरजेंसी के समय ही इस्तेमाल करेंगे। स्टूडेंट को इमरजेंसी के लिए अपना अलग फंड बनाना चाहिए।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट