विज्ञापन
Home » Industry » Companies40 हजार से शुरू करें बेडशीट-कुशन कवर का बिजनेस, होगी अच्छी इनकम

40 हजार से शुरू करें बेडशीट-कुशन कवर का बिजनेस, होगी अच्छी इनकम

घर सजाने का सजावटी आइटम बनाने का शौक रखने वाली महिलाएं भी हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट बेचकर पैसे कमा सकती है।

1 of

नई दिल्ली। इंडियन हैंडीक्राफ्ट की डिमांड न सिर्फ इंडिया बल्कि विदेशों में भी बढ़ रही है। हैंडमेड लिफाफे, कुशन कवर, बेडशीट, करटेन, पेपर मैशी प्रोडक्ट, डेकोरेटिव पीस और घर सजाने का सजावटी आइटम बनाने का शौक रखने वाली महिलाएं भी हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट को शॉपिंग वेबसाइट पर बेचकर घर बैठे 20 हजार रुपए से 50 हजार रुपए महीना कमा सकती हैं। आप घर बैठे ही हैंडीक्राफ्ट कारोबार शुरू कर सकते हैं।

 

घर बैठे शुरू कर सकते हैं हैंडीक्राफ्ट कारोबार

 

पेपर से डेकोरेटिव पीस बनाने के शौक को कारोबार मे तब्दील करने वाली दिल्ली की हैंडीक्राफ्ट कारोबारी ऑर्टइफेक्ट की को डायरेक्टर सविना शरण ने moneybhaskar.com को बताया उन्होंने घर से ही हैंडीक्राफ्ट कारोबार शुरू किया था क्योंकि उनका इसमें इंटरेस्ट था। उन्हें घर सजाने का सामान बनाना पसंद था। अब वह एक्सपोर्ट के साथ ई-कॉमर्स पोर्टल पर अपने प्रोडक्ट बेचती हैं। ई-कॉमर्स पोर्टल पर सेल करने से प्रत्येक प्रोडक्ट पर 10 से 15 फीसदी का प्रॉफिट मार्जिन मिल जाता है। वहीं एक्सपोर्ट वॉल्यूम बेस्ड होने के कारण सिर्फ 2 से 5 फीसदी तक का ही मार्जिन मिलता है। सविना पेपर के लिफाफे, गिफ्ट और होम डेकोरेशन प्रोडक्ट बनाती हैं।

 

घर से कर सकते हैं शुरूआत

 

ये कारोबार छोटे लेवल पर न्यूनतम 40 हजार रुपए से शुरू किया जा सकता है। उदाहरण के तौर पर अगर आपको कुशन कवर बनाने का ही बिजनेस शुरू करना है तो अपने एरिया की होलसेल मार्केट से रॉ मैटिरियल जैसे कपड़ा, लेस, बटन, डेकोरेटिव सैंपल लाकर घर में सिल सकती हैं। अगर काम ज्यादा है तो एक या दो टेलर को जॉब पर रख सकती हैं। इसके लिए आपको सिलाई मशीन खरीदनी होगी।

 

कहां से खरीदे फिनिश्ड प्रोडक्ट

 

एशियन हैंडीक्राफ्ट प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन और ईपीसीएच के पूर्व अध्यक्ष राजकुमार मल्होत्रा ने moneybhaskar.com को बताया कि दिल्ली-एनसीआर, पंजाब, जयपुर, गुजरात, यूपी और मध्यप्रदेश में हैंडीक्राफ्ट क्ल्सटर हैं। यहां से हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट खरीद सकते हैं। इनकी जानकारी वेबसाइट से मिल जाएगी। यहां से बल्क ऑर्डर खरीद सकते हैं। आपको बनाने का शौक है तो शुरआत घर से भी कर सकती हैं लेकिन ऑर्डर की संख्या बढ़ जाए तो इन क्लस्टर से खरीद सकते हैं। इन क्लस्टर से प्रोडक्ट खरीदकर बेचने पर

 

क्या बिकता है ज्यादा

 

हैंडमेड लिफाफे, कुशन कवर, बेडशीट, करटेन, पेपर मैशी प्रोडक्ट, डेकोरेटिव पीस, होमफरनिशिंग, लाइफस्टाइल, बाथटब, आर्टिफिशल और जंक ज्वैलरी, फैशन और फर्नीचर सबसे अधिक बिकते हैं।

 

आगे पढ़ें - कैसे बेचें प्रोडक्ट..

-कॉमर्स प्लेटफॉर्म दे रहा है मार्केट

 

ई-कॉमर्स शॉपिंग वेबसाइट हैंडीक्राफ्ट कारोबारियों को घरेलू और इंटरनेशनल मार्केट का रिटेल कस्टमर दे रहा है। अरबन लैदर, स्नैपडील, पेपरफ्राई, क्राफ्टविला, अमेजन जैसी ई-कॉमर्स शॉपिंग कंपनियों के साथ जुड़कर घरेलू बाजार में कारोबार बढ़ा रहे हैं।

 

ऑनलाइन कैसे बेचें प्रोडक्ट

 

कैसे जुड़ सकते हैं ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से

 

- ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर कारोबारी को रजिस्टर कराना होगा

 

- कारोबारी को पैन, जीएसटी और बैंक अकाउंट की डिटेल देनी होगी

 

- कंपनी सेलर के साथ एमओयू या करार भी करती है

 

- करार के बाद आप हैंडीक्राफ्ट कारोबारी वेबसाइट पर अपने प्रोडक्ट को अपलोड कर सकते हैं।

 

- वेरिफिकेशन के बाद प्रोडक्ट साइट पर दिखने लगते हैं।

 

- ज्यादातर कंपनियां सेलर से प्रोडक्ट ऑनलाइन बिकने के बाद कारोबारी से 1 से 9 फीसदी कमीशन लेती हैं।

 

- ऑनलाइन पेमेंट में प्रोडक्ट कस्टमर के पास पहुंचने के बाद सेलर यानी कारोबारी के अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।

 

 

हैंडीक्राफ्ट का एक्सपोर्ट में भी है बड़ा बाजार

 

एक्सपोर्ट प्रमोशन कांउसिल ऑफ हैंडीक्राफ्ट (ईपीसीएच) के एक्जक्यूटिव डायरेक्टर राकेश कुमार ने बताया कि अमेरिका, अफ्रीकी, यूरोपीय देश जर्मनी, इटली, फ्रांस, हांगकांग, नीदरलैंड, डेनमार्क, स्पेन, फ्रांस, चीन, वियतनाम और बेल्जियम में हैंडीक्राफ्ट का बड़ा बाजार है। ईपीसीएच के फेयर में हिस्सा लेकर हैंडीक्राफ्ट कारोबारी अपने लिए एक्सपोर्ट की मार्केट खोल सकते हैं। यहां विदेशी बायर आते हैं जो बल्क में ऑर्डर देकर जाते हैं।

 

कैसे करे हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट

 

हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट करने कि लिए बेहतर होगा आप एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फॉर हैंडीक्राफ्ट से जुड़़े। इनकी वेबसाइट पर जाकर अपने आप को रजिस्टर करवाएं और मेंबरशिप लें। मेंबरशिप लेने की फीस है लेकिन इससे आपको इंडस्ट्री के अपडेट मिलेंगे। नए एक्सपोर्टर को कारोबार कैसे और कहां से शुरू करना है, इसमें काउंसिल मदद करता है।

 

आगे पढ़ें - कैसे करें प्रचार

 

सरकार देती है एक्सपोर्टर्स को बेनेफिट

 

सरकार एक्सपोर्टर को क्या बेनेफिट दे रही है और कैसे इसका फायदा उठाए जाए। एक्सपोर्ट में काउंसिल बी2बी बिजनेस के साथ बी2सी कारोबार के लिए फेयर आयोजित करता है। विदेशों में होने वाले लेदर फेयर में एक्सपोर्टर को लेकर जाती है। इसमें मेंबर को पहले तरजीह दी जाती है। ईबे, फ्लिपकार्ट, पेपरफ्राई, अरबन लैदर, क्राफ्टविला जैसी 10 से 15 ईकॉमर्स शॉपिंग वेबसाइट हिस्सा लेती हैं। आपको भी ऐसे इवेंट के साथ जुड़कर बायर्स मिल सकते हैं। गुजरात, राजस्थान, हिमाचल की राज्य सरकार भी ईबे, स्नैपडील जैसी कंपनियां हैंडीक्राफ्ट के लिए समझौते कर रही है।

 

रीटेल और होलसेल बाजार में कर सकते हैं सप्लाई

 

विल्स लाइफस्टाइल, ईजी डे, इवोक जैसे रीटेल स्टोर के अलावा रीटेल और होलसेल बाजार में हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट सप्लाई कर सकते हैं।

 

फेसबुक, गूगल प्लस, ब्लॉग के जरिए भी कर सकते हैं प्रचार

 

आप अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आजकल बहुत सारे सेलर्स बिक्री बढ़ाने के लिए फेसबुक पेज बना रहे हैं। अब सोशल मीडिया माउथ टू माउथ प्रमोशन का काम करता है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन