Home » Industry » CompaniesRoyal prince of Jaipur Padmanabh Singh walk on ramp in milan

राजस्थान के रॉयल प्रिंस पद्मनाभ ने इंटरनेशनल ब्रांड के लिए की रैंप वॉक

प्रिंसेस दिया कुमारी और नरेंद्र सिंह के बेटे पद्मनाभ सिंह ने इटली के मिलान में डॉल्चे एंड गब्बाना के लिए रैंप वाक की है।

Royal prince of Jaipur Padmanabh Singh walk on ramp in milan

नई दिल्ली। ऐसा माना जाता है कि रॉयल्स फैशनेबल होते हैं। रॉयल्स की इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए पिंक सिटी के प्रिंस और प्रिंसेस दिया कुमारी और नरेंद्र सिंह के बेटे पद्मनाभ सिंह ने इटली के मिलान में डॉल्चे एंड गब्बाना के लिए रैंप वाक की है। वह पहले ऐसे प्रिंस है जिन्होंने 19 साल की उम्र में इंटरनेशनल रनवे पर मॉडलिंग की है।

 

इंटरनेशनल ब्रांड के लिए रैंप वाक

 

इंडियन रॉयल्स अपनी शानौ-शौकत और लग्जरी लाइफ के लिए जाने जाते हैं। इनमें से जयपुर की रॉयल फैमिली आज भी अपने लाइफस्टाइल के लिए जानी जाती है। 19 साल के जयपुर के प्रिंस पद्मनाभ सिंह ने मिलान के इंटरनेशनल रनवे पर मॉडलिंग की है। पद्मनाभ पोलो प्लेयर हैं और वह 13 साल की उम्र से पोलो खेल रहे हैं। वह इंडियन पोलो टीम के कैप्टन रह चुके हैं। इंग्लैंड के प्रिंस विलियम और हैरी के साथ पोलो खेल चुके हैं।

 

रेजिडेंस को बनाया हैरिटेल होटल

 

पद्मनाभ सिंह जयपुर राजघराने के उत्तराधिकारी हैं। महाराज पद्मनाभ सिंह ने सुजान राजमहल पैलेस को रेनोवेट कराया है। इस पैलेस में 14 रॉयल अपार्टमेंट हैं। ये एक समय फैमिली का प्राइवेट रेजिडेंस था लेकिन साल 2014 में इसे पैलेस होटल बना दिया गया। हालांकि, पैसेल होटल बनाने के बाद भी रॉयल फैमिली ने अपने लिए प्राइवेट रेजिडेंस को रखा है। यहां रॉयल फैमिली रहती है और अपने गेस्ट्स को भी बुलाती है। यहां महाराज पद्मनाभ सिंह मां प्रिंसेस दिया कुमारी का भी ऑफिस है।

 

पैलेस में है उनका अपार्टमेंट

 

महाराज पद्मनाभ सिंह का यहां महाराजा अपार्टमेंट भी है जिसका नाम राम निवास है। महाराज पद्मनाभ सिंह जब भी जयपुर में होते हैं तो यहीं ठहरते हैं। महाराज पद्मनाभ सिंहअभी हाल में ही न्यूयॉर्क शिफ्ट हुए हैं जहां वह न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में लिबरल आर्ट्स की पढ़ाई कर रहे हैं। वह वहां थर्ड एवेन्यू बिल्डिंग के 16वें फ्लोर पर दो कमरे के अपार्टमेंट में रहते हैं।

 

 

जयपुर की रॉयल फैमिली के पास है बेशकीमती पत्थर

 

 

जयपुर की रॉयल फैमिली के पास भी कई बेशकीमती पत्थर हैं। महारानी गायत्री देवी को मोतियों से प्यार था लेकिन उनके पास कई डायमंड, रूबी ज्वैलरी सेट थे। उनके पास नवरत्न नेकलेस था जिसमें नीलम, पन्ना, रूबी और कई डायमंड लगे थे। उसमें कैट आई टोपाज भी था जो पीले रंग का डायमंड होता है। उनके पास रूबी पेन्डेंट भी था। उनकी फैमिली में रूबी कई पीढ़ियों से चली आ रही है। उनके पूर्वजों ने इसका कभी हार में लगाकर और कभी पगड़ी में लगवाकर इस्तेमाल किया है। ये रूबी अपने समय का सबसे कीमती पत्थर है जिसका साइज भी काफी बड़ा है। अभ यह रूबी जयपुर फैमली के मौजूदा महाराज पद्मनाभ ने भी कई फंक्शन्स में इस रूबी को अपनी पगड़ी में लगाया है।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट