बिज़नेस न्यूज़ » Industry » CompaniesCEO ने बताया अपना रिलेशन मैनेजमेंट, वैलेंटाइन डे पर आएगा काम

CEO ने बताया अपना रिलेशन मैनेजमेंट, वैलेंटाइन डे पर आएगा काम

जब आपके पास समय कम और ऑफिस का स्ट्रेस ज्यादा हो तो रिलेशनशिप या अपने स्पाउस को समय दे पाना काफी मुश्किल हो जाता है।

1 of

नई दिल्ली। जब आपके पास समय कम और ऑफिस का स्ट्रेस ज्यादा हो तो रिलेशनशिप या अपने स्पाउस को समय दे पाना काफी मुश्किल हो जाता है। ये काम देश और दुनिया के टॉप सीईओ लिए भी सबसे टफ काम है। वह भी अपने करियर में सफल होने के साथ घर में बैलेंस करके चलते हैं ताकि उन्हें कुछ भी खोने का डर न हो। वर्ल्ड और देश के टॉप सीईओ ने अपने ऐसे ही टिप्स के बारे में बता रहे हैं जो वर्कलाइफ, घर और रिलेशनशिप को बेहतर करने में मदद करेंगे।

 

आप ऑफिस में सीईओ हैं लेकिन घर में नहीं..

 

 

पेप्सिको की सीईओ इंदिरा नूई की शादी को 37 साल हो चुके हैं। एक इंटरव्यू के दैरान बताया कि उन्होंने कहा कि वह सीईओ के क्राउन को घर पर पहुंचते ही गैराज में फेंक देती हैं। वह घर, हसबैंड, फैमिली और दोस्तों के बीच सीईओ या बॉस की पदवी को त्यागने के लिए कहती है। उन्होंने कहा कि आप ऑफिस में बॉस हैं घर में नहीं। आप घर में जितना सामान्य रहेंगे, वह रिलेशनशीप और परिवार में सही रहता है। उनको ये सलाह अपनी मदर से मिली थी और इससे उनकी शादी और पैरेंटिंग स्टाइल बेहतर हुआ है। नूई 62 साल की हैं और उनकी 2 बेटियां हैं।

 

हमेशा सुने ज्यादा और बोले कम

 

नूई के मुताबिक हमें दो कान और एक मुंह इसलिए दिया गया है ताकि हम सुने ज्यादा और बोले कम। नूई ने कहा कि इससे आपके लिए सीखना आसान हो जाता है। इससे आपको अपने घर और वर्क लाइफ में बैलेंस करना आसान हो जाएगा।

 

 

ईगो का रखे ध्यान

 

अपनी शादी और फैमिली को बनाए रखने के लिए एडजस्टमेंट करना पड़ता है। अपनी ईगो को कंट्रोल करें। पैरेंटिंग में बराबरी की पार्टनरशिप के महत्व को समझे।

 

आगे पढ़ें - रिलेशनशिप पर क्या दी सलाह

रिलेशनशिप को मेंटेन करें

 

आईसीआईसीआई बैंक की एमडी और सीईओ चंदा कोचर ने अपनी बेटी आरती को एक लेटर लिखा था जिसमें उन्होंने फैमिली, रिलेशनशिप और वर्क लाइफ को बैलेंस करने का महत्व समझाया। उन्होंने उसमें कहा कि उन्हें किसी भी सिचुएशन को हैंडल करना सीखना होगा। वर्क-लाइफ को बैलेंस करना चंदा कोचर के लिए मुश्किल काम था लेकिन उन्होंने हर जगह काफी मेहनत की।

 

गिन्नी रौमेटी

 

चेयरमैन और सीईओ, आईबीएम

 

 

मैग अपने पास्ट को प्रोटेक्ट न करे क्योंकि किसी भी रिलेशनशीप या ऑफिस में आप बेहतर नहीं कर पाएंगे। आप चीजों को भूल ही नहीं पाएंगे। इसलिए चीजों को भूलना और आगे बढ़ना सीखें।


 

आगे पढ़ें - रिलेशनशिप पर क्या दी सलाह

 

मिलिंडा गेट्स

 

को-चेयरमैनद बिल और मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन

 

मिलिंडा गेट्स ने फॉर्च्यून को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि महिलाओं के लिए फैमिली, वर्क और करियर के बीच बैलेंस बनाना काफी मुश्किल है लेकिन लाइफ में अपनी प्रॉयरिरिटी सेट करें। अपने रिलेशनशीप पर भी ध्यान दैं। उन्होंने कहा कि वह फाउंडेशन से जुड़ें काफी काम करती हैं लेकिन दिन के आखिर में उनकी फैमिली और बच्चें उनकी प्रॉयरिरिटी होते हैं।

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट