बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesथे कभी रि‍लायंस के कस्‍टमर तो आपको मि‍ल सकते हैं पैसे

थे कभी रि‍लायंस के कस्‍टमर तो आपको मि‍ल सकते हैं पैसे

ट्राई ने सर्विस बंद होने के समय ग्राहकों को डिपॉजिट और टॉकटाइम नहीं लौटाने पर आरकॉम को निर्देश जारी किया है...

1 of

नई दिल्ली। अगर आप रिलायंस कम्‍यूनिकेशन (आरकॉम) के कस्‍टमर रहे हैं, तो आपको पैसे मिल सकते हैं। पिछले दिनों कंपनी की वायस सेवा बंद होने के समय अगर आपका बैलेंस और डिपॉजिट डूबा है तो यह वापस मिल सकता है। दरअसल हाल में कंपनी ने अपनी सेवाएं बंद कर दी थीं। कंपनी की ओर से सेवा बंद करने के समय अगर किसी भी ग्राहक के अकाउंट में बैलेंस था तो वह लैप्‍स हो गया था। दूर संचार नियामक ट्राई ने अब इस बैलेंस को वापस करने को कहा है। 

 

पिछले दिनों ट्राई ने रिलायंस कम्‍यूनिकेशन को निर्देश जारी कर कहा था कि ग्राहकों के प्रीपेड खातों में बची राशि और सिक्‍यूरिटी डिपॉजिट नहीं लौटाना गलत है। रिलायंस कम्युनिकेशंस की खिंचाई करते हुए ट्राई ने इस कदम को पूरी तरह से गलत करार दिया था। ट्राई ने निर्देश जारी करते हुए कहा था कि कंपनी को ग्राहकों का पैसा लौटाना चाहिए। ट्राई का दावा है कि कंपनी ने समय से पहले सेवा बंद कर दी है, इसलिए उसे पैसे लौटाने चाहिए। 

 

 

पर आरकॉम पैसे लौटाने को तैयार नहीं...  
हालांकि ट्राई की इस बात पर ऑरकॉम राजी नहीं है। कंपनी ने ट्राई को मेल करके कहा है कि वह अपने निर्देश वापस ले। आरकॉम की मेल के मुताबिक, ‘कंपनी   वास्तविक नियमन से अनजान है, जिसके तहत मोबाइल नंबर किसी भी कारण से दूसरे नेटवर्क पर जाने से टॉक टाइम की बची हुई राशि वापस करने का प्रावधान है। हम आपसे निर्देश वापस करने का अनुरोध करते हैं।  

 

 

क्‍या कहना है  ट्राई का... 
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ट्राई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चूंकि यह मामला सेवा प्रदाता द्वारा सेवा बंद करने से जुड़ा है, ऐसे में ग्राहकों को वह राशि मिलनी चाहिए जो खर्च नहीं हुई। उसने कहा कि पूरा मामला एक कस्‍ट्मर की ओर से दूसरा ऑपरेटर बदलने जैसा नहीं है। यहां कंपनी ने अपनी सर्विस ही बंद कर दी। इसके चलते ग्राहकों को अपना ऑपरेटर बदलने को मजबूर होना पड़ा। अगर कस्‍टमर एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क को चूज करता तो कंपनी का दावा सही होता। सर्विस प्रोवाइडर ने सर्विस बंद कर दी है। इसीलिए ग्राहकों के हितों का संरक्षण जरूरी है। 

 

स्‍पेक्‍ट्रम कारोबार जियो को बेच चुकी है ऑरकॉम 
बता दें कि हाल में आरकॉम ने अपना स्पेक्ट्रम, टावर, ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क और अन्य वायरलेस संपत्ति अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी की दूरसंचार कंपनी रिलायंस जियो को बेचने की घोषणा की थी। इसी के साथ ही उसने अपनी डायरेक्‍ट सेवा बंद करने की भी ऐलान किया था। कंपनी अब टेलिकॉम कंपनियों के अपने इंन्‍फ्रास्‍टक्‍चर मुहैया कराएगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट