Advertisement
Home » Industry » CompaniesOne97 price crosses 1 lakh crores

इस भारतीय कंपनी ने की 1 लाख करोड़ से ज्यादा की कमाई, 18,200 रुपए का बिका एक शेयर

इस सप्ताह वन97 का एक शेयर 18,200 रुपए का बिका है।

1 of

नई दिल्ली। भारत की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट कंपनी पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन97 ने ग्रे मार्केट में 1 लाख करोड़ से ज्यादा की कमाई कर ली है। कंपनी के शेयरों में डील करने वाले 4 ब्रोकरेज हाउस ने इस बात की जानकारी दी है। इस सप्ताह वन97 का प्रति शेयर 18,200 रुपए का बिका है। वहीं अनऑफिशियल मार्केट में पेटीएम की महत्वता इंडसइंड बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, बजाज फिनसर्व, टाइटन, एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस और गोदरेज कंज्यूमर जैसी ब्लूचिप कंपनियों से अधिक हो गई है। 

 

पिछले छह महीने में 11,000 रुपये से बढ़कर 18,000 रुपये हुई
अनलिस्टेड कंपनी के शेयरों में डील करने वाली दिल्ली की एक कंपनी ARMS सिक्योरिटीज के डायरेक्टर ने बताया कि वॉरेन बफेट के निवेश करने के बाद वन97 के शेयर की कीमत पिछले छह महीने में 11,000 रुपये से बढ़कर 18,000 रुपये हुई है। वहीं मुंबई स्थित 3ए कैपिटल सर्विसेज ने भी बताया कि इस हफ्ते वन97 के प्रति शेयर 18,000 रुपये के भाव पर बिके हैं। आपको बता दें  कि पिछले साल सितंबर में वन97 ने बर्कशायर हैथवे के 30 करोड़ डॉलर के निवेश को मंजूरी दी थी।

 

बर्कशायर के निवेश करने के बाद वन97 के शेयरों में बढ़ोतरी
बर्कशायर हैथवे वॉरेन  बफेट की कंपनी है। जिसने वन97 के 17.02 लाख शेयर 13,500 रुपए पर खरीदे थे। मुंबई के एक ब्रोकर नरोत्तम धारावत ने बताया कि पेटीएम की पैरेंट कंपनी के शेयर प्राइस में बर्कशायर के निवेश करने के बाद ही बढ़ोतरी शुरू हुई। गौरतलब है कि 2018 के वित्त वर्ष में वन97 को  1,490.4 करोड़ का कंसॉलिडेटेड घाटा हुआ था। 

 

आगे पढ़ें भारत के बाद अब कहां पैर जमाना चाहता है पेटीएम

धीरे-धीरे पेटीएम ने छोटे  से लेकर बड़े कारोबारी एवं उपभोक्ताओं के बीच अपनी जगह बना ली। अब यह कंपनी अमेरिका में छाने की तैयारी में है। लेकिन इससे पहले कंपनी जापान को जीतना चाहती है। टीआईई ग्लोबल समिट में पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने कहा, जापान के बाजार में अपने पैर जमाना बहुत जरूरी है। जापान पेटीएम के लिए अच्छा बाजार साबित हो सकता है।

 

जापान से होगा अमेरिका जाने का रास्ता साफ
विजय शेखर ने आगे कहा कि यदि उन्होंने जापान में अपने पैर जमा लिए तो हमारे लिए अमेरिका जैसे बड़े देश में जाने का रास्ता साफ हो जाएगा। बड़े देश के बारे में पूछने पर विजय शेखर कहा कि वो बहुत सारे देशों में जाना चाहते हैं जहां भारतीय टेक्नोलॉजी लोगों को पसंद आए। विजय ने कहा कि उनका लक्ष्य दक्षिण पूर्व एशिया नहीं बल्कि अमेरिका जैसे बड़े देश में पेटीएम को लेकर जाना है। 

 

अलगी स्लाइड में पढ़ें पूर्व मामले पर क्या बोले विजय शेखर

पूर्व मामले पर विजय शेखर ने टिप्पणी करने से किया इंकार
शर्मा ने हाल ही में पेटीएम से जुड़े मामले में गिरफ्तारी के बारे में बोलने से इनकार कर दिया। इसमें तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई जिसमें दो पेटीएम के कर्मचारी भी शामिल हैं। इन लोगों को शर्मा से उगाही करने और ब्लैकमेल करने के मामले में गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने कहा कि यह मामला अदालत में है इसलिए वह इस पर टिप्पणी नहीं कर सकते।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement