बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesकिताब, जिसके मुरीद हैं वॉरेन बफे और बिल गेट्स, मानते हैं नं. 1 बिजनेस बुक

किताब, जिसके मुरीद हैं वॉरेन बफे और बिल गेट्स, मानते हैं नं. 1 बिजनेस बुक

बफे और गेट्स बचपन से किताबों के शौकीन रहे हैं, यहां तक कि बिजनेस में आने की प्रेरणा भी इन्हें किताबों से ही मिली...

1 of

नई दिल्ली. दुनिया के टॉप अमीरों में शुमार वॉरेन बफे और बिल गेट्स में कई कॉमन आदतें हैं। इन्हीं में से एक है इन दोनों की किताब पढ़ने की आदत। बफे और गेट्स दोनों ही बचपन से किताबों के शौकीन रहे हैं, यहां तक कि बिजनेस में आने की प्रेरणा भी इन्हें किताबों से ही मिली। वैसे तो बफे और गेट्स दोनों ने कई तरह की किताबों को पढ़ा है उनसे बहुत कुछ सीखा भी है। लेकिन एक किताब ऐसी भी है, जिसे ये दोनों नंबर वन बिजनेस बुक मानते हैं और दूसरों को पढ़ने की सलाह भी देते हैं। आइए आपको बताते हैं कि आखिर कौन सी है वह किताब, जिसके वॉरेन बफे और बिल गेट्स मुरीद हैं और क्‍या है उस किताब की खासियत- 

 

बिजनेस एडवेंचर्स है नाम

- वॉरेन बफे और बिल गेट्स की पसंदीदा किताब का नाम बिजनेस एडवेंचर्स है। 
- इसे फाइनेंस जर्नलिस्‍ट जॉन ब्रुक्‍स ने लिखा है। 
- यह किताब 1969 में प्रकाशित हुई थी। 

 

आगे पढ़ें- आखिर क्‍या है इस किताब में

 

ये भी पढ़ें- बिल गेट्स ने पढ़ी अपने दोस्‍त की किताब, कहा- लोग पढ़ लें तो बेहतर बन जाएगी दुनिया

क्‍या है किताब के अंद

- इस किताब में अमेरिकी बिजनेस और फाइनेंस के इतिहास को बयां किया गया है। 
- साथ ही इसमें अमेरिकी बिजनेस के सबसे अच्‍छे और सबसे बुरे वक्‍त का भी जिक्र है। 
- बिजनेस एडवेंचर्स में लेखक ब्रुक्‍स ने अमेरिकी बिजनेसेज द्वारा लिए गए सही फैसलों और गलतियों का गहन विश्‍लेषण किया है। 
- इस किताब को पढ़ने पर आपको यह पता रहता है कि सक्‍सेसफुल बिजनेसमैन बनने के लिए आपको किन गलतियों को करने से बचना चाहिए। 

 

आगे पढ़ें- इवेंट्स का भी है जिक्र

 

ये भी पढ़ें- एक किताब ने वॉरेन बफे को बना दिया इन्‍वेस्‍टमेंट गुरू, 1936 में हुई थी पब्लिश

इवेंट्स का भी जिक्र

- बिजनेस एडवेंचर्स में कुछ महत्‍वपूर्ण इवेंट्स का भी जिक्र है, जैसे- टेक्‍सास गल्‍फ सल्‍फर केस। 
- बिल गेट्स का कहना है कि इस किताब में उल्लिखित इवेंट्स में उनके लिए सबसे महत्‍वपूर्ण रहा 1960 के दशक में जेरोक्‍स एंपायर का उत्‍थान और पतन। 
- जेरोक्‍स एंपायर के मामले में बिजनेस सफलता के शिखर पर था लेकिन इनोवेशन और टेक्‍नोलॉजी की कमी के चलते इसका पतन होने लगा और बाद में इसके प्रतिद्वंदियों ने इसे ओवरटेक कर लिया।

 

सोर्स- इंक डॉट कॉम

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट