बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesगूगल-अमेजन नहीं, जॉब के लिए ये हैं भारतीयों की चहेती कंपनियां

गूगल-अमेजन नहीं, जॉब के लिए ये हैं भारतीयों की चहेती कंपनियां

इंडियन्स के लिए गूगल और अमेजन जैसी बड़ी कंपनियों में नौकरी पाना कोई बड़ा सपना नहीं रह गया है।

1 of

नई दिल्ली. इंडियन्स के लिए गूगल और अमेजन जैसी बड़ी कंपनियों में नौकरी पाना कोई बड़ा सपना नहीं रह गया है। ज्‍यादातर भारतीय अब मल्टीनेशनल कंपनियों की जगह इंडियन कंपनी में काम करने को ज्यादा तवज्जो दे रहे हैं। वे डायरेक्ट, फ्लिपकार्ट और वन97 कम्यूनिकेशन (पेटीएम) जैसी कंपनियों में नौकरी पाने में ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे हैं। यह बात लिंक्‍डइन के एक सर्वे से सामने आई है। 

 

इस सर्वे में 25 कंपनियों को रैंकिंग दी गई है। ये डाटा लिंक्‍डइन पर मौजूद 54.6 करोड़ प्रोफेशनल्‍स के डाटा और एक्शन के आधार पर निकाला जाता है। आइए जानते हैं कि कौन सी देसी इंटरनेट कंपनियां भारतीयों की चहेती बनती जा रही हैं। 

 

आगे पढ़ें- कौन रहीं सबसे आगे

Paytm और फ्लिपकार्ट बने पसंद

सर्वे में पहली तीन रैंक पर क्रमश: डायरेक्टी, फ्लिपकार्ट और वन97 कम्युनिकेशन (Paytm) रहे। वहीं अमेजन चौथे स्थान पर आ गई। अमेजन बीते दो सालों से दूसरे पायदान पर थी लेकिन इस बार इसकी रैंकिंग में गिरावट दर्ज की गई। 

 

आगे पढ़ें- गूगल कितनी पीछे 

गूगल रह गई पीछे

लिस्‍ट में अमेरिका की दिग्‍गज कंपनी गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट सातवें स्थान पर रही। यह दर्शाता है कि भारत में टेक कंपनियों के उभरने में तेजी आने से भारतीयों के बीच विदेशी कंपनियों की पैठ को नुकसान पहुंचा है। 

 

आगे पढ़ें- नई कंपनियों ने लुभाया

नई कंपनियों को मिली तवज्‍जो 

सर्वे में इस साल 50 फीसदी से ज्यादा कंपनियां नई हैं। इसमें डायरेक्टी, EY और डेमलियर जैसी कंपनियों के नाम शामिल हैं।

 

आगे पढ़ें- और कौन सी कंपनियां रहीं लिस्‍ट में 

ये कंपनियां भी रहीं शामिल

साल 2017 में इस सर्वे में ओला पांचवें स्थान पर थी, जो अब 11वें स्थान पर आ गई है। वहीं मैकेन्जी एंड कंपनी 24वें स्थान से छठी रैंक पर आ गई है। एडोब 12वें स्थान पर, रिलायंस इंडस्ट्रीज 24वें स्थान पर रही। इसके अलावा टॉप 10 में केपीएमजी और बजट होटल ओयो भी शामिल है।


आगे पढें- प्रोफेशनल किस पर देते हैं ध्यान

HR पॉलिसी पर  ध्यान देते हैं प्रोफेशनल 

ये रैंकिंग काम के घंटे, अच्छी पेरेंटल छुट्टियों की पॉलिसी और अच्छे टैलेंट को रखने के लिए की गई कोशिशों के आधार पर दी गई है। डाटा में यह भी सामने आया कि प्रोफेशनल काम करने से पहले बड़ी प्रॉब्लम को सॉल्व करने, किसी इंडस्ट्री के लिए नए रूल्स बनाने और रेज्यूमे में बड़ी कंपनी का नाम जोड़ने पर ज्यादा फोकस करते हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट