बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesइस नंबर के कारण दिनोंदिन बढ़ती गई मुकेश अंबानी की अमीरी, ये फैक्ट फाइल

इस नंबर के कारण दिनोंदिन बढ़ती गई मुकेश अंबानी की अमीरी, ये फैक्ट फाइल

कॉरपोरेट वर्ल्ड में मुकेश अंबानी अपने न सिर्फ अपने छोटे भाई अनिल अंबानी बल्कि अन्य कारोबारी घरानों को पछाड़कर देश के सबस

1 of

नई दिल्ली. कॉरपोरेट वर्ल्ड में मुकेश अंबानी अपने न सिर्फ अपने छोटे भाई अनिल अंबानी बल्कि अन्य कारोबारी घरानों को पछाड़कर देश के सबसे अमीर कारोबारी बने हुए हैं। मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी साल 2005 में अलग हो गए और कारोबार का बंटवारा कर लिया। बीते सालों दोनों भाइयों की कंपनियों की इनकम बढ़ी, लेकिन इसके बावजूद बड़े भाई मुकेश अंबानी काफी आगे निकल गए। आज हम आपको बता रहे हैं कि ऐसा क्यूं हुआ जिसके कारण मुकेश अंबानी करोबार जगत में इतना सफल हो पाए।

 

मुकेश अंबानी कारोबार में हुए अधिक सफल

 

न्यूमरोलॉजिस्ट संजय बी. जुमानी ने moneybhaskar.com बताया कि न्यूमरोलॉजी (अंकज्‍योतिष) में नंबर- 1 को जन्मजात लीडर कहा जाता है। मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को हुआ था। इस‍ लिहाज से न्‍यूमरोलॉजी में उनका अंक 1 है। इस अंक वाले लोगों की खासियत यह होती है कि वे अपनी लीडरशीप और मैनेजमेंट क्वालिटी के लिए देश और दुनिया में जाने जाते हैं।

 

वर्ल्ड के अमीरों में भी है आगे

 

अपनी लीडरशीप क्वालिटी के कारण मुकेश अंबानी देश के सबसे अमीर आदमी है। मुकेश अंबानी दुनिया के 19वें सबसे अमीर आदमी हैं जबकि अनिल दुनिया के अमीरों की गिनती में 887 स्थान पर हैं। मुकेश अंबानी ग्रुप की नेटवर्थ 40.1 बिलियन डॉलर है। मुकेश अपनी पढ़ाई भले ही पूरी नहीं कर पाए हों, लेकिन अपने पिता की ओर से छोड़े गए रिलायंस के एंपायर को और आगे ले जाने में सफल रहे।

 

आगे पढ़ें - कौन होते हैं नंबर- 4 और 1?

 

1 नंब

 

जिनके जन्मदिन के अंकों का टोटल 1 होता है वह न्यूमरोलॉजी के मुताबिक वन नंबर माने जाते हैं। यानी, जिन लोगों की बर्थ डेट 1, 10, 19 और 28 होती है, वह 1 नंबर कहलाते हैं। मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को हुआ था। अपनी बर्थडेट के हिसाब से वह 1 नंबर है। नीता अंबानी का जन्म 1 नवंबर 1963 को हुआ था। अपनी बर्थडेट के हिसाब से वह भी 1 नंबर है।

 

4 नंबर

 

जिन लोगों का जन्म 4, 13, 22, 31 तारीख को होता है वह 4 नंबर कहलाते हैं। अनिल अंबानी का जन्म 4 जून 1959 को हुआ है और न्यूमरोलॉजी के हिसाब से वह 4 नंबर है।

 

 

कौन होते हैं नंबर एक कारोबारी..

 

न्यूमरोलॉजिस्ट संजय बी जुमानी ने moneybhaskar.com को बताया कि 1 नंबर का कैरेक्टर स्ट्रॉन्ग होता है। ये जन्मजात लीडर होते हैं। इनकी मैनेजमेंट और लीडरशीप स्किल अच्छी मानी जाती है। ये अपनी लाइफ में सफलता के नए मुकाम बनाते हैं। ये अच्छे सबॉर्डिनेट नहीं माने जाते क्योंकि इन्हें दूसरों से ऑर्डर लेना पसंद नहीं होता। उनके लक्ष्य हमेशा बड़े होते हैं। वहीं 4 नंबर अच्छे सबॉर्डिनेट माने जाते हैं। वह लीडर के साथ रहते अच्छा काम करते हैं। ये जिद्दी और प्रेक्टिकल माने जाते हैं।

 

आगे पढ़ें - अनिल अंबानी से कितना आगे निकल गए मुकेश

 

मुकेश अंबानी

 

 

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज पेट्रोलियम, ऑयल और गैस, टेलिकॉम कारोबार में है। मुकेश अंबानी ग्रुप की नेटवर्थ फोर्ब्स 40.1 बिलियन डॉलर है।

 

 

नेटवर्थ - 40.1 बिलियन डॉलर

 

 

अमीरो में वर्ल्ड रैकिंग - 19

 

 

अनिल अंबानी

 

 

अनिल धीरुभाई अंबानी ग्रुप फाइनेंशियल, टेलिकॉम, पॉवर सेक्टर में है।

 

 

नेटवर्थ - 2.7 बिलियन डॉलर

 

 

अमीरो में वर्ल्ड रैकिंग – 887

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट