Home » Industry » Companiesघर बैठे शुरू करें हैंडीक्रॉफ्ट बिजनेस- how to start handicraft business

घर बैठे शुरू करें कुशन कवर-बेडशीट बिजनेस, महीने में होगी 1 लाख तक कमाई

हैंडमेड लिफाफे, कुशन कवर, बेडशीटऔर घर सजाने का सामान जैसे हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट घर में बनाकर कारोबारी बन सकते हैं।

1 of

नई दिल्ली। आप भी घर बैठे हैंडमेड लिफाफे, कुशन कवर, बेडशीट, करटेन, पेपर मैशी प्रोडक्ट, डेकोरेटिव पीस और घर सजाने का सामान जैसे हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट घर में बनाकर कारोबारी बन सकते हैं। रिटेल और ई-कॉमर्स शॉपिंग वेबसाइट अर्बन लैदर, स्नैपडील, पेपरफ्राई, क्राफ्टविला, अमेजन जैसी ई-कॉमर्स शॉपिंग कंपनियों के साथ जुड़कर आप अपनी सेल भी बढ़ा सकते हैं। इन प्रोडक्ट को बनाने का शौक रखने वाले हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट बनाकर महीने में 20 हजार रुपए से एक लाख रुपए तक कमा सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे शुरू करें हैंडीक्राफ्ट बिजनेस...

 

 

घर बैठे भी शुरू कर सकते हैं हैंडीक्राफ्ट कारोबार

 

पेपर से डेकोरेटिव पीस बनाने के शौक को कारोबार मे तब्दील करने वाली दिल्ली की हैंडीक्राफ्ट कारोबारी ऑर्टइफेक्ट की को-डायरेक्टर सविना शरण ने बताया कि उन्होंने भी शुरूआत में अपने घर से हैंडीक्राफ्ट बिजनेस शुरू किया था। वह भी घर में कुशन कवर, डेकोरेटिव पीस बनाती थी। उन्होंने उन्हें पहले रिटेल और फिर ई-कॉमर्स पोर्टल पर बेचना शुरू किया। उन्होंने बताया कि ई-कॉमर्स पोर्टल पर सेल करने से प्रत्येक प्रोडक्ट पर 25 से 30 फीसदी का प्रॉफिट मार्जिन मिल जाता है। सविना पेपर के लिफाफे, गिफ्ट और होम डेकोरेशन प्रोडक्ट बनाती हैं। शरण ने बताया कि इस कारोबार से महीने में 20 हजार रुपए से एक लाख रुपए महीना कमा सकते हैं।

 

आगे पढ़ें - कहां आएगी कॉस्ट

यहां आएगी कॉस्ट

 

अगर घर मे ही सिलाई मशीन और घर का एक कमरा खाली है तो उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर घर में सिलाई मशीन नहीं है तो आपको यह खरीदनी होगी।

- अगर ये काम थोड़ा बड़े स्तर पर काम करना चाहते हैं। तो आपको 2 या 3 सिलाई मशीन खरीदनी होगी। दो सिलाई मशीन 12,000 रुपए में आ जाएंगे।

- कुशन कवर बनाने के लिए आपको सिलाई मशीन, बटन, धागे और फैबरिक की जरूरत पड़ेगी। ये रॉ मैटिरियल आपके एरिया के होलसेल बाजार से मिल जाएंगे।

- घर में जगह है तो इस काम को घर में शुरू करें इससे आपका रेन्ट बच जाएगा।

- अपने साथ 1 या 2 टेलर रख सकते हैं। लिफाफे, गिफ्ट और होम डेकोरेशन प्रोडक्ट बनाने के लिए एक हेल्पर रखना होगा। इस कारोबार को शुरू करने में 30 से 50 हजार रुपए कॉस्ट आएगी।

 

ट्रेडर बनकर भी कर सकते हैं हैंडीक्राफ्ट कारोबार

 

 

एशियन हैंडीक्राफ्ट प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन और ईपीसीएच के पूर्व अध्यक्ष राजकुमार मल्होत्रा ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर, पंजाब, जयपुर, गुजरात, यूपी और मध्यप्रदेश में हैंडीक्राफ्ट क्ल्सटर हैं। यहां से हैंडीक्राफ्ट ट्रेडर प्रोडक्ट खरीद सकते हैं। इनकी जानकारी वेबसाइट से मिल जाएगी। यहां से बल्क ऑर्डर खरीद सकते हैं। विल्स लाइफस्टाइल, ईजी डे, इवोक जैसे रिटेल स्टोर के अलावा रिटेल और होलसेल बाजार में हैंडीक्राफ्ट प्रोडक्ट सप्लाई कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें - कैसे जुड़ें ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से

 

 

हैंडीक्राफ्ट में क्या बिकता है ज्यादा..

 

यहां हैंडमेड लिफाफे, कुशन कवर, बेडशीट, कर्टेन, पेपर मैशी प्रोडक्ट, डेकोरेटिव पीस, होम फर्निशिंग, लाइफस्टाइल प्रोडक्ट, आर्टिफिशल और जंक ज्वैलरी सबसे अधिक ऑनलाइन बिकते हैं। ये प्रोडक्ट रिटेल मार्केट में भी अच्छे बिकते हैं।

 

-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से जुड़ना है फायदे का सौदा

 

जयपुर के हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर शारदा सौरभ ईबे की वेबसाइट पर रजाई बेचते हैं। शारदा सौरभ ने कहा, ‘ईबे की इंटरनेशनल शॉपिंग साइट पर लिस्ट होने से विदेशी रिटेल कस्टमर मिले हैं।

 

 

हैंडीक्राफ्ट कारोबारी कैसे जुड़ सकते हैं ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से

 

- ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर कारोबारी को रजिस्टर कराना होगा

 

- इसके लिए आपको जीएसटी नंबर चाहिए, जो आप जीएसटी पोर्टल पर जाकर रजिस्टर कर सकते हैं।

 

- आपको पैन और बैंक अकाउंट की डिटेल देनी होगी

 

- कंपनी आपके साथ एमओयू या करार करेगी

 

- करार के बाद आप वेबसाइट पर अपने प्रोडक्ट को अपलोड कर सकते हैं।

 

- वेरिफिकेशन के बाद प्रोडक्ट साइट पर दिखने लगते हैं।

 

- ज्यादातर कंपनियां सेलर से प्रोडक्ट ऑनलाइन बिकने के बाद कारोबारी से 1 से 9 फीसदी कमीशन लेती हैं।

 

- ऑनलाइन पेमेंट में प्रोडक्ट कस्टमर के पास पहुंचने के बाद सेलर यानी कारोबारी के अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।

 

आगे पढ़ें - -कॉमर्स प्लेटफॉर्म कैसे करता है काम 

 

-कॉमर्स प्लेटफॉर्म कैसे करता है काम

 

 

- आपके प्रोडक्ट का ऑर्डर होने पर ई-कॉमर्स कंपनी के एजेंट आपके यहां से प्रोडक्ट लेकर जाएंगे। प्रोडक्ट की पैकिंग की जिम्मेदारी कंपनी की होगी।

 

- आपका प्रोडक्ट कस्टमर को डिलीवर और पेमेंट होने पर पैसा आपके अकाउंट में आ जाएगा।

 

 

फेसबुक, गूगल प्लस, ब्लॉग के जरिए भी कर सकते हैं प्रमोट

 

 

आप अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आजकल बहुत सारे सेलर्स बिक्री बढ़ाने के लिए फेसबुक पेज बना रहे हैं। अब सोशल मीडिया माउथ टू माउथ प्रमोशन का काम करता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट