Home » Industry » Companiesoffice etiquette, know about the office etiquette

ऑफिस में न करें ये गलितयां, नौकरी करना हो जाएगा आसान

ऑफिस के कुछ यूनिवर्सल रूल्स होते हैं जो सभी को फॉलो करने होते हैं।

1 of

नई दिल्ली। ऑफिस में एक प्रोफेशलन बिहेवियर को बनाए रखना जरूरी होता है। ऑफिस में आप गाली देना या किसी को डराना या परेशान नहीं कर सकते। लेकिन ऑफिस के कुछ यूनिवर्सल रूल्स होते हैं जो सभी को फॉलो करने होते हैं। बिजनेस इन्साइडर की खबर के मुताबिक ऑफस में कुछ गलतियां नहीं करनी चाहिए। इससे आप प्रोफेशनल वर्ल्ड और करियर दोनों में बेहतर करते हैं।

 

कभी न कहें 'सॉरी'

 

प्रोफेशनल वर्ल्ड में किसी को भी सॉरी न कहें, ये शब्द पर्सनल लाइफ के लिए है। प्रोफेशनल वर्ल्ड में कह सकते हैं कि आपको ये समझ में आ रहा है कि ये गलत है और ये दोबारा नही होगा। किसी से माफी मांगना काफी इमोशनल बात है। प्रोफेशन में माफी मांगने की जगह बेहतर होगा कि आप समस्या को समझे और उसे बेहतर तरीके से ठीक करें। प्रोफेशनल वर्ल्ड में माफी तभी मांगे जब दो लोगों की बातचीत में बीच हस्तक्षेप करना हो, तब ही सॉरी शब्द का यूज करें।

 

मैं लेट हूं क्योंकि...

 

ऑफिस में लेट होने का कारण कोशिश करें की न बताएं। आप ऑफिस में यह नहीं कह सकते हैं कि आप ज्यादा देर सो गए इस वजह से लेट हैं या आप रास्ते में किसी अंधे को रोड पार करा रहे थे, इस कारण लेट हो गए। ऐसे कारण आप लेट होने के लिए नहीं दे सकते। इसलिए बेहतर होगा कि ऑफिस में लेट होने का कारण न बताएं और चुप रहें।

 

आगे पढ़ें - क्या गलतियां ऑफिस में नहीं करनी चाहिए..

ऑफिस कर्मचारी को सबके सामने डांटना या गाली देना

 

 

अपने ऑफिस कर्मचारी या जूनियर को सबके सामने डांटना या गाली नहीं देनी चाहिए। सबके सामने किसी को डांटना या गाली देना बेइज्जत करना होता है। ऐसा ऑफिस या प्रोफेशनल वर्ल्ड में न करें।

 

अपने आइडिया सबको न बताएं

 

अपने आइडिया सभी को न बताएं जब तक आपसे सीधे तौर पर ऑफिस में आइडिया नहीं पूछे जाते। अगर आपसे प्रोजेक्ट या वर्क के लिए आइडिया मांगें जाते हैं तो जरूर दें।

 

आगे पढ़ें - क्या गलतियां ऑफिस में नहीं करनी चाहिए..

अपने क्लाइंट की न करें बुराई

 

अपने क्लाइंट की कभी भी बुराई न करे। वैसे ऑफिस या बाहर अपने किसी भी क्लाइंट की बुराई न करें। इससे आपका इंप्रेशन खराब होता है।

 

ऐसा न कहें कि अब रोना बंद करो..

 

 

अगर कोई आपके सामने रो रहा है तो ये न कहें कि अब मत रो या रोने की जरूरत नहीं है। एक्सपर्ट के मुताबिक रोना एक जरूरी इमोशन है इससे आपको अच्छा लगता है। रोना अपने आप को बेहतर महसूस कराने की तरफ पहला कदम है। इसलिए इसे नहीं रोकना चाहिए।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट