बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesआने वाला है बिजली कटौती का दौर, पावर बैकअप के ये हैं 3 बेस्‍ट ऑप्‍शन

आने वाला है बिजली कटौती का दौर, पावर बैकअप के ये हैं 3 बेस्‍ट ऑप्‍शन

आमतौर भारतीय परिवारों में पावर बैकअप के लिए इन्‍वर्टर बैट्री सिस्‍टम का इस्‍तेमाल होता है।

1 of
नई दिल्‍ली. मार्च आते ही मौसम में गरमाहट का आभास होने लगा। अब घरों में फ्रिज, एसी, कूलर, पंखे समेत कई इक्विपमेंट्स की डिमांड भी बढ़ेगी। लेकिन, गर्मियों में एक दिक्‍कत हमेशा देखने को मिलती है, वह है बिजली कटौती। ऐसे में जरूरी है कि भीषण गर्मियां शुरू होने से पहले ही हम पावर बैकअप का इंतजाम कर लें। आमतौर भारतीय परिवारों में पावर बैकअप के लिए इन्‍वर्टर बैट्री सिस्‍टम का इस्‍तेमाल होता है। लेकिन, हर घर के लिए इन्‍वर्टर का ही ऑप्‍शन पावर बैकअप के लिए हो, ऐसा आवश्‍यक नहीं है। 

 
दरअसल, पावर बैकअप सिस्‍टम घर में बिजली की जरूरत पर निर्भर करता है। यानी, हमारे घर में रोज कितनी बिजली की जरूरत है और बिजली की कटौती की स्थिति में किन-किन उपकरणों के लिए पावर चाहिए। देश में पावर सप्‍लाई की बात करें तो दूरदराज के गांवों में आज भी औसतन 8 घंटे तक बिजली की कटौती होती है। वहीं, शहरों में पावर कट का एवरेज 2 से 4 घंटे तक का है। 
 

पावर बैकअप के 3 ऑप्‍शन 

आमतौर पर पावर बैकअप के देश में तीन अच्‍छे और सुविधाजनक ऑप्‍शन हैं। इन्‍वर्टर, डीजी सेट और सोलर पावर। अब आपके लिए कौन सा ऑप्‍शन बेस्‍ट है, यह आपकी बिजली की जरूरत पर निर्भर करेगा। 
 
 

आगे पढ़ें... किसके लिए कौन-सा पावर बैकअप ऑप्‍शन है बेस्‍ट 

 
1. इन्‍वर्टर: यह एक सिंपल डिवाइस है, जो कि ग्रिड से इलेक्ट्रिसिटी को बैट्री में स्‍टोर करता है और उससे डीसी (डायरेक्‍ट करंट) पावर सप्‍लाई का इस्‍तेमाल कर उसे एसी (अल्‍टरनेटिंग करंट) में कन्‍वर्ट करता है, जिसका इस्‍तेमाल अप्‍लायंसेस में होता है।
 

किसके लिए है बेस्‍ट?  

इन्‍वर्टर आमतौर पर छोटे हाउसहोल्‍ड के लिए अच्‍छा है जहां लाइट्स, फैन, टीवी, कम्‍प्‍यूटर आदि का ही इस्‍तेमाल होता है। हालांकि, इन दिनों मार्केट में कुछ बड़े साइज के इन्‍वर्टर भी आ रहे हैं, जो रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन और मिक्‍सर ग्रांइडर्स को भी सपोर्ट करते हैं। लेकिन बड़े अप्‍लायंसेस के लिए बड़े साइज का इन्‍वर्टर बैट्री सिस्‍टम लगाना पड़ता है। लेकिन, बेहतर यही है कि इन्‍वर्टर पर इन अप्‍लायंसेस के इस्‍तेमाल से बचना चाहिए। एसी के लिए इन्‍वर्टर का इस्‍तेमाल करने की सलाह नहीं दी जाती है।
 
2. DG सेट: डीजी सेट बिजली जेनरेट करने के लिए डीजल का इस्‍तेमाल करते हैं। वह इलेक्ट्रिसिटी स्‍टोर करने की बजाय तत्‍काल बिजली जेनरेट करता है।
 

किसके लिए है बेस्‍ट?  

बड़े लोड के लिए यह अच्‍छा ऑप्‍शन होता है। इसलिए यदि आप एसी, फ्रिज, मोटर्स आदि के लिए पावर बैकअप चाहते हैं तो डीजी सेट का इस्‍तेमाल करना अच्‍छा सॉल्‍यूशन है। 
 
3. सोलर पावर:  सोलर पीवी धीरे-धीरे पॉपुलर हो रहा है। पावर बैकअप जेनरेट करने के लिए यह एक अच्‍छा रास्‍ता है। यह सूरज की रोशनी से एनर्जी को इलेक्ट्रिसिटी में कन्‍वर्ट और बैट्रीज में स्‍टोर करता है।
 

किसके लिए है बेस्‍ट?  

सोलर पावर के सामने भी हालांकि वही चैलेंज हैं, जो इन्‍वर्टर के सामने हैं। इसलिए भारी लोड के लिए सोलर पावर का हाउसहोल्‍ड बैकअप बहुत अच्‍छा विकल्‍प नहीं है।
 

आगे पढ़ें... कैसे चुनें पावर बैकअप का ऑप्‍शन 

 

 

जरूरत को समझें

पावर बैकअप के लिए कोई भी सॉल्‍यूशन चुनने से पहले सबसे पहले अपनी बिजली की जरूरत का आकलन कर लें। मान लीजिए यदि आप पावर बैकअप के लिए इन्‍वर्टर बैट्री सिस्‍टम चुनते हैं तो सबसे पहले बिजली की जरूरत को जान लें और उसके अनुसार इन्‍वर्टर बैट्री का खरीदें।
मसलन, पावर कट पर आपको एक फैन, एक ट्यूब लाइट्स, एक सीएफएल और एक CRT टेलीविजन चलाना है तो इसके लिए 285 वॉट की जरूरत होगी। यदि आप 6 घंटे के लिए बैकअप चाहते हैं तो 1710 वॉट घंटे या 1.71 किलो वॉट घंटे (या यूनिट) इलेक्ट्रिसिटी स्‍टोर करनी होगी।
इस तरह, आप यह तय कर लें आपके होम अप्‍लायंसेस को चलाने के लिए कितनी बिजली चाहिए और किस साइज का बैकअप ऑप्‍शन बेहतर रहेगा।
 

प्रमुख उपकरणों पर पावर कंजम्‍प्‍शन- 

 
1 फैन: 75-90 वॉट
1 ट्यूबलाइट: 45-50 वॉट,
T5 ट्यूबलाइट्स: 28 वॉट
1 LED: 15 वॉट (डिफॉल्‍ट)
1 टीवी- एलईडी: 30-100 वॉट (साइज के अनुसार)
1 टीवी- एलसीडी: 50-100 वॉट
1 टीवी- सीआरटी: करीब 120 वॉट
रूम एयर कूलर: करीब 250-300 वॉट
मिक्‍सर ग्रांइडर: करीब 350 वॉट
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट