बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesआइडिया दीजिए ले जाइए पैसा, ये राज्य दे रहा बिजनेसमैन बनने का मौका

आइडिया दीजिए ले जाइए पैसा, ये राज्य दे रहा बिजनेसमैन बनने का मौका

अगर आप अपना स्‍टार्टअप शुरू करना चाहते हैं और इसके लिए आपके पास फंडिंग नहीं है तो कर्नाटक सरकार आपकी मदद कर सकती है।

1 of

नई दिल्‍ली. अगर आप अपना स्‍टार्टअप शुरू करना चाहते हैं और इसके लिए आपके पास फंडिंग नहीं है तो कर्नाटक सरकार आपकी मदद कर सकती है। कर्नाटक ने पूरे भारत के नए टेक्‍नोलॉजी स्‍टार्टअप्‍स को फंड मुहैया कराने का फैसला किया है। हालांकि इसके लिए आपको पहले अपने स्‍टार्टअप या बिजनेस को कर्नाटक में रजिस्‍टर करवाना होगा। आइए आपको बताते हैं कि स्‍टार्टअप फंडिंग के लिए क्‍या है कर्नाटक सरकार की पूरी प्‍लानिंग- 

 

कैसे होगी फंडिंग 

अपने स्‍टार्टअप को फंड उपलब्‍ध करवाने के लिए आपको कर्नाटक सरकार को इसके लिए आवेदन करना होगा। आपको अपने स्‍टार्टअप के लिए पूरी बिजनेस प्‍लानिंग कर्नाटक सरकार को भेजनी होगी। उसके बाद अगर राज्‍य इससे सहमत हो जाता है तो फंडिंग को मंजूरी दी जाएगी। 

 

कर्नाटक शॉप्‍स एंड कॉमर्शियल एस्‍टेबिलिशमेंट एक्‍ट, 1961 के तहत होगा रजिस्‍ट्रेशन 

आपको कंपनी को कर्नाटक शॉप्‍स एंड कॉमर्शियल एस्‍टेबिलिशमेंट एक्‍ट, 1961 के तहत रजिस्‍टर करवाना होगा। बता दें कि कर्नाटक सरकार 2015 में स्‍टार्टअप पॉलिसी लाई थी। उसके बाद राज्‍य ने बायोटेक्‍नोलॉजी, टूरिज्‍म और एनीमेशन जैसे विभिन्‍न सेक्‍टर्स के स्‍टार्टअप्‍स की फंडिंग के लिए कई फंडों को शुरू किया। इनके लिए राशि 300 करोड़ रुपए तय की गई। 

 

आगे पढ़ें- 2017 में कितने स्‍टार्टअप को दी मदद 

2017 में राज्‍य ने की 250 कंपनियों की फंडिंग

अभी तक स्‍टार्टअप पॉलिसी के तहत कर्नाटक सरकार के साथ 5,000 से ज्‍यादा स्‍टार्टअप रजिस्‍टर हो चुके हैं। 2017 में राज्‍य सरकार ने 250 कंपनियों की फंडिंग की। 5 सालों वाले स्‍टार्टअप पॉलिसी प्‍लान के तहत कर्नाटक सरकार का उद्देश्‍य 2020 तक कर्नाटक में 20,000 टेक्‍नोलॉजी बेस्‍ड स्‍टार्टअप की बूस्टिंग और इस सेक्‍टर में 6 लाख डायरेक्‍ट व 12 लाख इनडायरेक्‍ट नई जॉब पैदा करना है।  

 

आगे पढ़ें- कई बिजनेस हैं कर्नाटक बेस्‍ड

कर्नाटक बेस्‍ड हैं कई बड़े बिजनेस 

भारत के कई बड़े बिजनेस कर्नाटक बेस्‍ड हैं। इनमें फ्लिपकार्ट, ओला, म्‍यू सिग्‍मा, इनमोबी और क्विकर जैसे दिग्‍गज नाम शामिल हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट