विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesiPhone ban in China may push Apple Qualcomm toward settlement

चीन ने आईफोन की बिक्री पर रोक लगाई, एप्पल को क्वालकॉम के साथ समझौता करने पर मजबूर किया

एप्पल ने कहा कि वह क्वालकॉम को कानून के जरिए ही जवाब देगा।

1 of

नई दिल्ली। हाल ही में चीन की एक अदालत ने पैटेंट विवाद को चलते अमेरिकी कंपनी एप्पल को बड़ा झटका लगा है। चीन ने देश में आईफोन की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस बात की जानकारी चीन की चिप निर्माण कंपनी क्वालकॉम ने दी है। क्वालकॉम के मुताबिक, चीन ने आईफोन बेचने वाली कंपनी पर प्रतिबंध लगा दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो चिप निर्माता कंपनी का कहना है कि चीन की अदालत ने कहा है कि आईफोन 6 एस, आईफोन 6 एस प्लस, आईफोन 7, आईफोन 7 प्लस, आईफोन 8, आईफोन 8 प्लस और आईफोन एक्स की बिक्री पर रोक लगा दी जाए।

 

 वहीं क्वालकॉम का यह भी कहना है कि चीन में आईफोन का आयात और बिक्री बंद करने की जरूरत है। इसी के साथ क्वालकॉम के वकील डॉन रोसेनबर्ग ने बताया कि,  "हम ग्राहकों के साथ अपने संबंधों को गहराई से महत्व देते हैं, शायद ही कभी सहायता के लिए अदालतों का सहारा लेते हैं, लेकिन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी के अधिकारों की रक्षा करने की आवश्यकता में भी हमें एक स्थायी विश्वास है।" रोसेनबर्ग ने यह भी कहा कि एप्पल को चीन की इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी से काफी फायदा होता है। और हमें इसकी क्षतिपूर्ति करने से इंकार कर दिया जाता है। 

 

अगली स्लाइड में पढ़ें एप्पल ने की क्वॉलकॉम के फैसले की निंदा

न्यायालय ने क्वालकॉम के पक्ष में  एप्पल पर प्रतिबंध लगाया है। चीन के प्रतिबंध लगाने के बाद एप्पल के एक प्रवक्ता ने कहा कि क्वालकॉम की ओर से उठाया गया यह कदम काफी हताश करने वाला है। ऐप्पल ने कहा है कि क्वालकॉम जिस पेटेंट का दावा कर रहा है, उसे अंतरराष्ट्रीय अदालतों द्वारा पहले से ही अवैध कर दिया गया था, और अन्य पेटेंट पहले कभी नहीं इस्तेमाल किए गए थे। एप्पल ने कहा कि वह क्वालकॉम को कानून के जरीए ही जवाब देगा। एप्पल ने कोर्ट में उसके फैसले पर फिर से विचार करने की अपील की है।

 

अगली स्लाइड में पढ़ें और...

इसी के साथ ही क्वालकॉम ने यह भी कहा है कि अगर एप्पल कोर्ट के फैसले से इंकार करता है तो वह प्रवर्तन ट्रिब्यूनल की शरण में जाएगा और आईफोन की बिक्री को बंद कराएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन