बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesकपड़े किराए पर देकर श्रेया ने शुरू किया बिजनेस, आज सनी लियोनी से लेकर शमिता शेट्टी तक हैं कस्टमर

कपड़े किराए पर देकर श्रेया ने शुरू किया बिजनेस, आज सनी लियोनी से लेकर शमिता शेट्टी तक हैं कस्टमर

आईआईटी ग्रेजुएट श्रेया मिश्रा ने महिलाओं की बेसिक फैशन जरुरत को एक बिजनेस में खड़ा कर दिया है।

IIT graduate Shreya establish flyrobe on woman basic fashion need

नई दिल्ली। आईआईटी ग्रेजुएट श्रेया मिश्रा ने महिलाओं की बेसिक फैशन जरुरत को एक बिजनेस में खड़ा कर दिया है। श्रेया ऑनलाइन फैशन और कैजुअल वेयर कपड़े किराए पर देती है। इसके लिए उन्होंने फ्लाईरोब नाम की ऑनलाइन कंपनी शुरू की है। उनके बिजनेस की बढ़ती डिमांड को देखते हुए इन्वेस्टर भी कंपनी में इन्वेस्ट कर रहे हैं। फ्लाईरोब अभी तक 53 लाख डॉलर का फंड जुटा चुकी है। कंपनी के अब तक कुल 75 हजार ऐप डाउनलोड किए जा चुके हैं। साथ ही अब उनके कस्टमर लिस्ट सनी लियोनी से लेकर शमिता शेट्टी जैसे सेलेब्स भी शामिल हो चुका है।

 

महिलाओं की फैशन है बेसिक जरूरत

 

फ्लाईरोब की को-फाउंडर और सीईओ श्रेया मिश्रा ने moneybhaskar.com को बताया कि ऐसा अक्सर महिलाओं के साथ होता है कि उन्हें डिनर डेट पर जाना होता है और उन्हें अचानक लगता है कि उनके पास कुछ भी पहनने के लिए नही हैं। हालांकि, उनके पास पूरा वार्डरोब होता है लेकिन तब भी कम लगता है। महिलाएं कपड़ों के मामले में कुछ भी रिपीट नहीं करना चाहती। महिलाओं की इसी बेसिक फैशन की जरूरत को ही हमने बिजनेस बना दिया।

 

ऐसे शुरू हुआ फ्लाईरोब

 

श्रेया ने साल 2012 में आईआईटी मुंबई से मैकेनिकल इंजीनियरिंग करने के बाद बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप में नौकरी शुरू की। उन्होंने मुंबई, वियतनाम, मिस्र और दुबई में भी नौकरी की। उसी दौरान श्रेया मिश्रा को स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एन्टरप्रेन्योर समिट में हिस्सा लेने का मौका मिला। उस समिट के दौरान उन्हें लगा कि ऐसी डेली यूज लाइफ प्रोडक्ट का ही बिजनेस किया जाए जिसमें एसेट का इस्तेमाल अधिकतम हो और किराए से बचा जा सके। तब उनके दिमाग में सिर्फ फैशन आया। उन्हें ऑन डिमांड ऑनलाइन वार्डरोब का आइडिया आया, जहां बिना खरीदे कस्टमर फैशनेबल कपड़ों का इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने 200 महिलाओं पर सर्वे किया जिसमें 80 फीसदी महिलाओं ने पॉजिटिव जवाब दिया।


तीन लोगों ने शुरू किया फ्लाईरोब

 

फ्लाइरोब को तीन आईआईटी ग्रेजुएट श्रेया मिश्रा, प्रणय सुराना और तुषार सक्सेना ने मिलकर शुरू किया था। सितंबर 2015 में उन्होंने फ्लाईरोब वेबसाइट का एन्डरॉएड ऐप जारी किया और अक्टूबर 2015 में वेबसाइट लॉन्च कर दी। तुषार ने टेक्निकल पार्ट देखा। फ्लाईरोब की टीम में अब 50 से अधिक लोग हैं। उनके पास ऐसे लोगों की टीम है जो बेन एंड कंपनी, इनमोबी, कैडबरी जैसी कंपनियों में काम कर चुके हैं।

 

डिजाइनर के साथ किया टाईअप

 

फ्लाईरोब ने डिजाइनर लेबल आउट हाउस, मसाबा गुप्ता, रितु कुमार और शेला खाना जैसे डिजाइनर के साथ टाईअप किया है। इन डिजाइनर के कपड़े फ्लाईरोब पर किराए में मिलते हैं। प्लेटफॉर्म पर वेस्टर्न वेयर, एथनिक, गाउन, लहंगा, ब्राइडल जैसे सभी कपड़े किराए पर मिलते हैं।

 

ऐसे बनाए शुरूआती 35 कस्टमर

 

उन्होंने एंजल यूजर कैंपेन चलाया, जहां वह अलग-अलग बैकग्राउंड की 10 महिलाओं का फ्लाइरोब के आउटफिट में फोटोशूट कराया। ये महिलाएं वकील, डॉक्टर, कॉलेज स्टूडेंट जैसे अलग फील्ड से थी। ऐसा करने से पहले हफ्ते में उन्हें 35 कस्टमर मिल गए।

 

मिली प्राइवेट फंडिंग

 

प्लेस्टोर में कस्टमर्स को 4.3 की रेटिंग दी है। वह 18 साल से लेकर 35 साल तक की वर्किंग महिलाओं को टारगेट करती हैं। आज उनके कस्टमर न केवल आम लोग हैं, बल्कि सनी लियोनी, शमिता शेट्टी, टीवी पर्सनैलिटी रोशेल जैसी बॉलीवुड एक्ट्रेस भी हैं। अभी तक उनके ऐप को 75,000 से ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। फ्लाईरोब ने अभी 53 लाख डॉलर का फंड जुटाया है।


 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट