Home » Industry » Companieshow to make domicile certificate

सरकारी नौकरी के लिए चाहिए डॉमिसाइल सर्टिफिकेट, जानिए बनवाने का क्या है प्रोसेस

डॉमिसाइल सर्टिफिकेट एड्रेस प्रूफ के तौर पर काम करता है।

1 of

नई दिल्ली। डॉमिसाइल सर्टिफिकेट एड्रेस प्रूफ के तौर पर काम करता है। डॉमिसाइल सर्टिफिकेट की जरूरत राज्यों की सरकारी नौकरी और एजुकेशन इंस्टीट्युट में एडमिशन के लिए पड़ती है। आज हम आपको बता रहे हैं कि डॉमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन कैसे फॉर्म डाउनलोड कर बनवा सकते हैं। आइए जानते हैं डॉमिसाइल सर्टिफिकेट बनाने का क्या है प्रोसेस..

 

क्यूं जरूरत पड़ती है डॉमिसाइल सर्टिफिकेट की

 

डॉमिसाइल/रेजिडेंस सर्टिफिकेट से ये प्रूव हो जाता है कि आप इस राज्य या केंद्र शासित राज्यों के नागरिक हैं। ये डॉमिसाइल सर्टिफिकेट एड्रेस प्रूफ के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।

 

- राज्यों की सरकारी नौकरी में डॉमिसाइल सर्टिफिकेट की जरूरत पड़ती है, जिन राज्यों में लोकल लोगों को ज्यादा तवज्जों दी जाती है।

 

- राज्यों के एजुकेशनल इंस्टीट्युशन में डॉमिसाइल सर्टिफिकेट की जरूरत पड़ती है, जहां लोकल लोगों को प्रेफरेंस दिया जाता है।

 

कहां करना होगा अप्लाई

 

आपको अपने राज्य की सरकारी वेबसाइट से ऑनलाइन फॉर्म डाउनलोड करना होगा। वैसे ये फॉर्म आपको अपने लोकल एसडीएम ऑफिस, तहसीलदार ऑफिस, रेवेन्यु डिपार्टमेंट, डिस्ट्रीक्ट कलेक्टर ऑफिसर से मिल जाएगा। यही एप्लिकेशन फॉर्म आपको यहीं आकर सबमिट करना होगा।

 

- आपको अपने एरिया के सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) एरिया में डेप्युटी कमिश्नर के ऑफिस में सुबह 10 से 1 बजे की बीच जाना होगा।

 

आगे पढ़ें – कहां करना होगा अप्लाई

 

डॉमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए चाहिए होंगे ये डॉक्युमेंट

 

- अटैस्टेड एप्लिकेशन फॉर्म

 

- आधार नंबर अनिवार्य नहीं है लेकिन एक आईडेंटिटी प्रूफ देना होगा।

 

- आधार नंबर की जगह इनमें से कोई एक पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर कार्ड देना होगा।

 

- अगर 18 साल से कम उम्र के लिए डॉमिसाइल बनावाना है तो सेल्फ डिकलेरेशन फॉर्म देना होगा।

 

- फॉर्म सबमिट करते समय एप्लिकेंट की फोटो वैब कैमरा के जरिए खींची जाएगी।

 

- मौजूदा एड्रेस के लिए रेजिडेंशियल प्रूफ जैसे कि वोटर कार्ड, इलेक्ट्रिसिटी बिल, वाटर बिल, टेलिफोन बिल (इनमें से कोई एक) देना होगा।

 

- बर्थ डेट के प्रूफ के लिए बर्थ सर्टिफिकेट, स्कूल सर्टिफिकेट या पासपोर्ट इनमें से कोई एक चाहिए होगा।

राज्य में 3 साल से ज्यादा रहने का देना होगा प्रमाण

 

- अपने राज्य जैसे कि दिल्ली में 3 साल से अधिक रहने का प्रमाण जैसे कि एजुकेशन सर्टिफिकेट, इलेक्ट्रिसिटी बिल, हाउस टैक्स, वाटर बिल आदि।

 

- क्लास वन गैजेट्ड ऑफिसर से फॉर्म अटेस्ट कराने होंगे। इसके अलावा उन्हीं गैजेट्ड ऑफिसर का कॉन्टेक्ट नंबर और उनके आई कार्ड की कॉपी चाहिए होगी।

 

 

आगे पढ़ें – कितनी देनी होगी फीस..

 

फीस

 

डॉमिसाइल सर्टिफिकेट बनवाने की कोई फीस नहीं है।

 

कितने दिन में मिलता है डॉमिसाइल सर्टिफिकेट

 

- ये आपको 14 दिन में मिल जाएगा।

 

शादी के बाद दूसरे राज्य में शिफ्ट होने वाली महिलाएं भी कर सकती है अप्लाई

 

वह महिलाएं जो उस राज्य की नागरिक नहीं थी लेकिन शादी के बाद उनका परमानेंट रेजिडेंट्स अपने पति का हो गया जो दूसरे राज्य में हैं। वह अपने पति के एड्रेस पर डॉमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई कर सकती है।

 

दो राज्यों में नहीं बनवा सकते डॉमिसाइल सर्टिफिकेट

 

डॉमिसाइल सर्टिफिकेट सिर्फ एक ही राज्य का बनवाया जा सकता है। दो राज्यों का डॉमिसाइल सर्टिफिकेट नहीं बनवा सकते। ऐसा करना कानूनन अपराध माना जाएगा।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट