Advertisement
Home » Industry » Companieshigh speed tunnel by boring company

अब हाई-स्पीड टनल आपको दिलाएगी जाम से निजात, यहां हो रहा है निर्माण

टनल को बनाने में करीब 70 करोड़ रुपए लगे हैं

1 of

नई दिल्ली। प्रौद्योगिकी क्षेत्र के दिग्गज उद्यमी एलन मस्क ने हाल ही में एक ऐसी  चीज शुरू की है जिससे यात्रियों की मुश्किलें काफी हद तक समाप्त हो जाएंगी। अपने इस कारनामे की वजह से एलन मस्क एक बार फिर चर्चा में हैं। मस्क ने हाल ही में अंडरग्राउंड ट्रांसपोर्टेशन टनल से पर्दा उठाया। इस टनल को एलन मस्क की बोरिंग कंपनी ने बनाई है। मस्क का कहना है कि यह टनल भयंकर जाम से लोगों को निजात दिलाएगा।  इलेक्ट्रिक कार टेस्ला मॉडल S के मोडिफाइड वेरियंट ने इस टनल में टेस्ट राइड दी।

 

 मंगलवार को मस्क ने कुछ गेस्ट को इस टनल में टेस्ला मॉडल S की सवारी करने का मौका दिया। यह टेस्ट टनल 1.4 मील (2.25 किलोमीटर) की है। हालांकि, टेस्ट राइड 64 किलोमीटर प्रति घंटे (40 मील प्रति घंटे) की रफ्तार पर हुई, जो कि अपेक्षाकृत कहीं धीमी है। मस्क ने कहा कि इस टनल में भविष्य में 241 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गाड़ी चला सकते हैं। टनल की शुरुआत से इसके आखिर तक जाने में केवल 3 मिनट का समय लगा। यह दूरी एक मील से ज्यादा थी। मस्क ने बताया कि इस चौड़ाई लगबग 12 फुट है जो सबवे से भी ज्यादा छोटी है। उन्होंने कहा कि भविष्य में यह राइड ग्लास की तरह स्मूथ होगी।

 

अगली स्लाइड में पढ़ें टनल की खासियत

मस्क के अनुसार, इस सुरंग (टनल) में बिना दीवार वाला एलेवेटर है जो कि कार को जमीन के करीब 30 फुट नीचे लेकर आता है। मस्क ने कहा कि उनकी बोरिंग कंपनी को टेस्ट टनल बनाने में करीब 70 करोड़ रुपए लगे हैं। उनकी कंपनी का दावा है कि ऐसी टनल बनाने में प्रति मील 1 बिलियन डॉलर का खर्च आता है। 

 

अगली स्लाइड में पढ़ें भविष्य में यह प्रणाली शीशे की तरह चिकनी होगी

 

मस्क ने संवाददाताओं से कहा कि यह मेरे लिए एक खास पल है। उन्होंने कहा कि यह काफी अच्छी चीज है। मस्क ने कहा कि अभी यह यात्रा काफी उबड़ खाबड़ रास्ते पर हुई क्योंकि हमारे पास समय कम है। उन्होंने कहा कि भविष्य में यह प्रणाली शीशे की तरह चिकनी है। यह अभी इसका प्रोटोटाइप ही है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement