बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesभारतीयों के लिए पैसे से बढ़कर हैं ये चीजें, सर्वे में हुआ खुलासा

भारतीयों के लिए पैसे से बढ़कर हैं ये चीजें, सर्वे में हुआ खुलासा

पैसा आज के टाइम में भले ही एक अहम जरूरत हो लेकिन भारत के ज्‍यादातर लोग इससे भी ज्‍यादा किसी और चीज को तवज्‍जो देते हैं।

1 of

मुंबई. पैसा आज के टाइम में भले ही एक अहम जरूरत हो लेकिन भारत के ज्‍यादातर लोग इससे भी ज्‍यादा किसी और चीज को तवज्‍जो देते हैं। वह है- खुशी और स्‍वास्‍थ्‍य। जी हां, भारत के लोग खुश रहने और स्‍वस्‍थ रहने को पैसों से बढ़कर मानते हैं। यह बात एक लिंक्‍डइन के एक सर्वे से सामने आई है। 

 

इस सर्वे में शामिल भारतीयों में से लगभग 72 फीसदी ने खुश रहने को कामयाबी की परिभाषा बताया। इसके अलाव 65 फीसदी ने अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य और 57 फीसदी ने हेल्‍दी वर्क लाइफ बैलेंस को सफलता का संकेत बताया। कामयाबी को महसूस करने के मामले में भारतीय प्रोफेशनल्‍स का स्‍थान तीसरा रहा। पहला स्‍थान यूएई और दूसरा ब्राजील का रहा। 

 

इस सर्वे में ज्‍यादा पैसा मतलब ज्‍यादा कामयाबी वाली धारणा गलत साबित होते हुए दिखी। सर्वे के मुताबिक केवल 22 फीसदी लोगों ने माना कि उनके लिए कामयाबी का मतलब वेतन में बढ़ोत्तरी है। वहीं 36 फीसदी लोगों का मानना है कि 6 फिगर वाली सैलरी पाना ही कामयाबी का संकेत है। 

 

आगे पढ़ें- कितने लोग थे शामिल

16 देशों के 18,191 लोगों ने लिया भाग 

लिंक्‍डइन का यह सर्वे पिछले साल 12 अक्‍टूबर से 3 नवंबर के बीच ऑनलाइन हुआ था। इसमें 16 देशों- ऑस्‍ट्रेलिया, चीन, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग, भारत, इंडोनेशिया, आयरलैंड, इटली, नीदरलैंड, सिंगापुर, स्‍पेन, ब्राजील, यूएई, ब्रिटेन और अमेरिका के 18,191 एडल्‍ट्स ने भाग लिया। लिंक्‍डइन की भारत के लिए कम्‍युनिकेशन हेड दीपा सपतनेकर ने कहा कि भारत के मैक्रोइकोनॉमिक इनवायरमेंट में बढ़ते आशावाद के चलते कामयाबी हासिल करने की दिशा में प्रोफेशनल्‍स का आत्‍मविश्‍वास बढ़ा है। अलग-अलग लोगों के लिए कामयाबी का मतलब अलग-अलग होता है। सर्वे के परिणामों में यह देखकर खुशी हुई कि अब 6 फिगर वाली सैलरी से ज्‍यादा वर्क-लाइफ बैलेंस, परिवार के साथ समय बिताना और स्‍वास्‍थ्‍य जैसे इंडीकेटर्स को लोग तरजीह दे रहे हैं। 
आगे पढ़ें- 1 साल में कामयाब बनना चाहता है हर 10 में से 1 भारतीय

10% भारतीय 1 साल में सफल बनने को लेकर आशावादी 

सर्वे में यह भी कहा गया कि प्रतिस्‍पर्धी जॉब इकोनॉमी और बढ़ती महंगाई के बढ़ते दबाव के बावजूद 10 में से 1 भारतीय (10 फीसदी) 1 साल के अंदर सफलता हा‍सिल करने को लेकर आशावादी है। यह ग्‍लोबल एवरेज का दोगुना है।  

 

आगे पढ़ें- शिक्षा है अहम फैक्‍टर 

कामयाबी में शिक्षा निभाती है अहम भूमिका 

सर्वे दर्शाता है कि 79 फीसदी भारतीय मानते हैं कि कामयबी हासिल करने की योग्‍यता में शिक्षा एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाती है। वहीं 61 फीसदी ने शिक्षा के साथ-साथ उम्र, 56 फीसदी ने जेंडर, और 68 फीसदी ने चुने जाने वाले करियर जैसे फैक्‍टर्स को भी अहम माना। 

 

आगे पढ़ें- प्रोफेशनल नहीं सोशल सक्‍सेस महत्‍वपूर्ण

30% का मानना: प्रोफेशनल से ज्‍यादा सोशल सक्‍सेस अहम 

सर्वे में लगभग 30 फीसदी भारतीयों का यह भी मानना है कि प्रोफेशनल कामयाबी से ज्‍यादा सोशल कामयाबी महत्‍वपूर्ण है। वहीं ग्‍लोबली 22 फीसदी लोग ऐसा मानते हैं। सर्वे में यह भी सामने आया कि आज भारतीय सफलता की पहचान को अच्‍छे दोस्‍तों, घूमने के मौकों और नए शौक पैदा करने के लिए टाइम मिलने से करते हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट