बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesकेवल 20 दिन में अच्छी इनकम का मौका, ऐसे उठाएं फायदा

केवल 20 दिन में अच्छी इनकम का मौका, ऐसे उठाएं फायदा

वैलेंटाइन के हफ्ते से लेकर होली के 20 दिन में आपके पास अच्छी इनकम का करने का मौका है।

1 of

नई दिल्ली। वैलेंटाइन के हफ्ते से लेकर होली के 20 दिन में आपके पास अच्छी इनकम का करने का मौका है। इसके लिए बस आपको थोड़ा इन्वेस्टमेंट करना होगा। जिसके जरिए आप इन 20 दिनों में 25-30 फीसदी रिटर्न भी लिया जा सकता है। ये बिजनेस केवल 10 हजार रुपए में शुरू किए जा सकते हैं। इन 20 दिन में सबसे ज्यादा मांग बुके, गिफ्ट, चॉकलेट, गिफ्ट बास्केट, ग्रीटिंग कार्ड, कलर्स, बेकरी-नमकीन जैसे प्रोडक्ट की मांग सबसे ज्यादा बढ़ती है। ऐसे में आप भी 20 दिन ये पार्ट टाइम बिजनेस कर आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

 

नमकीन बास्केट

 

वैलेंटाइन से लेकर होली तक गिफ्ट के लिए रिटेल मार्केट में सबसे ज्यादा डिमांड गिफ्ट बास्केट की आती है। चॉकलेट, फ्रूटी, सॉफ्टड्रिंक, ड्राई-फ्रूट, बिस्किट, नमकीन, मठ्ठी, नमकपारे, गुंजियां वाले गिफ्ट के डब्बे सबसे ज्यादा बिकते हैं। आप इन कंपनियों की वेबसाइट पर जाकर बल्क प्रोडक्ट खरीद सकते हैं। इसमें कंपनियां 20 से 30 फीसदी का मार्जिन देती हैं। हर कंपनी का मार्जिन अलग-अलग होता है। आप दिल्‍ली या दिल्‍ली के आसपास रहते हैं तो सदर बाजार गिफ्ट पैक से जुड़े प्रोडक्ट खरीदने के लिए बेहतर विकल्‍प है। सदर बाजार के थोक कारोबारी एक से दो फीसदी के मार्जिन पर काम करते हैं।

 

कहां से खरीदे गिफ्ट बास्केट

 

सदर बाजार, चावड़ी बाजार से सजावटी ड्राई फ्रूट, गिफ्ट बास्केट के डब्बे खरीदें। ये आपको 130 से 150 रुपए में मिल जाएंगे। सदर बाजार, खारी बावली या अपनी लोकल थोक मार्केट से चॉकलेट, फ्रूटी, सॉफ्टड्रिंक, ड्राई फ्रूट,बिस्किट, नमकीन खरीदें। इन्हें गिफ्ट बास्केट में सजाएं और लोकल बाजार में बेंचे। यह कारोबार 5 से 10 हजार रुपए के इन्वेस्टमेंट से शुरू कर सकते हैं। यहां आपको 20 से 25 फीसदी का मार्जिन मिल जाएगा। अगर आप दिल्‍ली से बाहर रहते हैं तो इस कारोबार से जुड़े प्रोडक्‍ट स्‍थानीय थोक मार्केट से खरीद सकते हैं।

 

आगे पढ़े - शुरू करें गिफ्ट प्रोडक्ट का कारोबार

गिफ्ट

 

वैलेंटाइन डे में आर्टिफिशल रोज, टेडी, कप, ग्रीटिंग कार्ड, फोटोफ्रेम, पेन, आर्टिफिशल ज्वैलरी की डिमांड सबसे ज्यादा रहती है। वैलेंटाइन आने से पहले रिटेल बाजार में ज्यादातर दुकानदार अलग से काउंटर भी बना देते हैं। आप भी वैलेंटाइन पर पार्ट टाइम गिफ्ट का कारोबार कर सकते हैं। अपने आसपास के लोकल थोक बाजार से बल्क में गिफ्ट खरीदकर, रिटेल बाजार में अपना काउंटर लगाकर बेच सकते हैं।

 

कितना करना होगा इन्वेस्ट

 

थोक बाजारों से गिफ्ट खरीदकर रिटेल में बेचने से 20-25 फीसदी का प्रॉफिट मार्जिन मिल सकता है। थोक बाजार में कारोबारी एक या दो फीसदी के मार्जिन पर कारोबार करते हैं। इसमें न्युनतम 10 से 15,000 रुपए तक इन्वेस्ट करना होगा। थोक बाजार में वैलेंटाइन स्पेशल टेडी 75-100 रुपए में खरीदकर, रिटेल बाजार में 150-200 रुपए में बेच सकते हैं। लेकिन यहां से आपको एक ही टेडी के दस पीस खरीदने होंगे।

 

आगे पढ़ें - चॉकलेट के कारोबार के बारे में

होममेड चॉकलेट

 

 

इस दौरान सबसे ज्यादा मांग चॉकलेट की आती है। अगर आपको घर में चॉकलेट बनाने और उसे क्रिएटिव पैकिंग में सजाने का शौक है, तो इस वैलेंटाइन पार्टटाइम चॉकलेट का कारोबार कर सकते हैं। यदि चॉकलेट बनानी नहीं आती, तो भी थोक बाजार से चॉकलेट खरीदकर अच्छी पैकिंग के साथ रिटेल बाजार में बेच सकते हैं।

 

कितना करना होगा इन्वेस्ट

 

वैलेंटाइन पर चॉकलेट कारोबार 5 से 10 हजार रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट से शुरू किया जा सकता है। पैकिंग मैटेरियल लोकल थोक मार्केट से खरीद सकते हैं। इसमें इन्वेस्टमेंट पर आपको 30 से 35 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है। आप अपने प्रोडक्ट ऑनलाइन, रिटेल और थोक मार्केट में बेच सकते हैं। फेसबुक, ट्विटर पर अपना पेज बनाकर अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकते हैं, ताकि कस्टमर आप तक आसानी से पहुंच सके।

 

 

आगे पढ़ें - कहां बेच सकते हैं प्रोडक्ट

 

 

 

-कॉमर्स प्लैटफॉर्म के जरिए भी बेच सकते हैं प्रोडक्ट

 

 

 

मिंट्रा, स्नैपडील, पेटीएम जैसी 20 से 25 ई-कॉमर्स शॉपिंग प्लैटफॉर्म हैं, जहां आप अपने प्रोडक्ट बेच सकती हैं। ज्यादातर वेबसाइटों ने वैलेंटाइन स्पेशल गिफ्ट ऑनलाइन बेच रही है। 16 अरब डॉलर के ई-कॉमर्स मार्केट में रोजाना नई शॉपिंग वेबसाइट आ रही हैं। स्मार्टफोन के जरिए लोगों के जुड़ने के कारण ये बाजार लगातार बढ़ रहा है। इन वेबसाइट के साथ जुड़कर देशी और विदेशी रि‍टेल कस्टमर मिलेंगे। यहां दोबारा आने वाले कस्टमर्स की दर भी अच्छी है।

 

 

 

कैसे जुड़ सकते हैं ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म से 

 

- ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म पर कारोबारी को रजिस्टर कराना होगा

 

- आपको पैन और बैंक अकाउंट की डिटेल देनी होगी

 

- ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर बेचने के लिए आपको जीएसटी नंबर लेना होगा

 

- कंपनी आपके साथ एमओयू या करार करेगी

 

- करार के बाद आप वेबसाइट पर अपने प्रोडक्ट को अपलोड कर सकते हैं।

 

- वेरिफिकेशन के बाद प्रोडक्ट साइट पर दिखने लगते हैं।

 

- ज्यादातर कंपनियां सेलर से प्रोडक्ट ऑनलाइन बिकने के बाद कारोबारी से 1 से 9 फीसदी कमीशन लेती हैं।

 

- ऑनलाइन पेमेंट में प्रोडक्ट कस्टमर के पास पहुंचने के बाद सेलर यानी कारोबारी के अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाती है।

 

 

फेसबुकट्विटरगूगल प्लसब्लॉग के जरिए करे प्रचार

 

 

आप अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आजकल बहुत सारे सेलर्स बिक्री बढ़ाने के लिए फेसबुक पेज बना रहे हैं। अब सोशल मीडिया माउथ टू माउथ प्रमोशन का काम करता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट