बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesधोखेबाजों का 'बेस्‍ट फ्रेंड' बन रहा है हीरा!

धोखेबाजों का 'बेस्‍ट फ्रेंड' बन रहा है हीरा!

बीते बुधवार यानी 14 फरवरी यानी वैलेंटाइन डे के दिन पीएनबी में करीब 11,400 करोड़ रुपए का एक फ्रॉड सामने आया।

1 of

 

नई दिल्‍ली. डायमंड यानी हीरे का नाम सुनकर हर किसी की आंख चमक उठती है। हीरा अपनी कीमत और चमक के लिए दुनिया के हर कोने में फेमस है। लेकिन, पिछले कुछ दिनों से यही हीरा गलत कारणों से चर्चा में है। बात हो रही है कि हीरा अब धोखेबाजों का 'बेस्‍ट फ्रेंड' है। आखिर क्‍या है यह मामला? 

 

चलिए हम आपको बताते हैं, हीरे को लेकर शक पैदा करने वाली कहानी...। दरअसल, बीते बुधवार यानी 14 फरवरी यानी वैलेंटाइन डे के दिन पीएनबी में करीब 11,400 करोड़ रुपए का एक फ्रॉड सामने आया। इसे बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला कहा जा रहा है। सीबीआई और ईडी जैसी जांच एजेंसियों ने जब अपनी पड़ताल और छापेमारी शुरू की, तो सामने आया हीरे के ग्‍लोबल कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के हीरे का काला साम्राज्‍य। 

 

पीएनबी फ्रॉड में मुख्‍य आरोपी नीरव मोदी और गीतांजली जेम्‍स के एमडी मेहुल चौकसी हैं। इस हेराफेरी में नीरव मोदी की पत्‍नी और भाई का नाम भी है। इसके अलावा, पीएनबी के कर्मचारियों की भी मिलीभगत है। अबतक कुछेक गिरफ्तारियां हुई हैं, पूछताछ चल रही है और बैंक के करीब 18 इम्‍प्‍लॉइज को सस्‍पेंड किया जा चुका है।

 

मामला फिलहाल पेचिंदा है क्‍योंकि हीरे की चमक की आड़ में हेराफेरी का खेल 2011 से चल रहा है। बैंकिंग रेग्‍युलेटर यानी आरबीआई से लेकर मार्केट यानी सेबी तक बेहद अलर्ट हो गए हैं। अब इस गोरखधंधे की परतें खोली जा रही हैं, जिसमें सरकार के बैंकिंग सिस्‍टम और हीरा कारोबारी नीरव मोदी का 'नेक्‍सस' काम कर रहा था। 

 

निगरानी, जांच और एक्‍शन  


मार्केट रेग्‍युलेटर सेबी के एक सीनियर अफसर ने न्‍यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि सेबी नीरव मोदी से जुड़ी कंपनियों की ट्रेड डिटेल और नियमों की अनदेखी मालूम कर रहा है। इसमें गीतांजली जेम्‍स के मालिक मेहुल चौकसी के कंपनियों की पड़ताल भी शामिल है। साथ ही डायमंड कारोबारियों और स्‍टॉक मार्केट ब्रोकर्स के बीच का संदिग्‍ध नैक्‍सस भी सेबी के रडार पर है।  

 

अब बात बैंकिंग रेग्‍युलेटर यानी आरबीआई की। न्‍यूज एजेंसी की मानें तो बैंकिंग रेग्‍युलेटर पंजाब नेशनल बैंक का सुपरवाइजरी एसेसमेंट कर रहा है। साथ ही सभी बैंकों को उन ग्राहकों को लेकर अलर्ट किया गया है जो डायमंड और ज्‍वैलरी ट्रेड से जुड़े हैं। 

 

इस स्‍कैम में सरकार की बात करना भी जरूरी है। कॉरपोरेट अफेयर्स मिनिस्‍ट्री मोदी और चौकसी से जुड़े डायरेक्‍टर्स और सभी रजिस्‍टर्ड कंपनियों की फाइलिंग की पड़ताल में जुटी है। इनकी संख्‍या दर्जनभर से ज्‍यादा है। इसके साथ ही मिनिस्‍ट्री ने जांच के लिए 200 शेल कंपनियों की भी पहचान की है। 

 

 

आगे पढ़ें.. कहां-कहां है नीरव मोदी

 

कहां-कहां है नीरव मोदी?

न्‍यूज एजेंसी की रिपोर्ट बताती है कि भारत में कम से कम चार रजिस्‍टर्ड कंपनियां और 4 एलएलपी हैं, जिनमें नीरव मोदी एक डायरेक्‍टर है। हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि कई ऐसी कंपनियां जो मोदी से जुड़ी हैं लेकिन उनमें मोदी ने डायरेक्‍टरशिप नहीं ले रखी है।

 

मोदी चार कंपनियों फायरस्‍टार डायमंड प्राइवेट लिमिटेड, फायरस्‍टार डायमंड इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, राधाशिर ज्‍वैलरी कंपनी और ज्‍वैलरी सॉल्‍यूशंस इंटरनेशनल में डायरेक्‍टर है। इसके अलावा, मोदी का चार लिमिटेड लॉयबिलिटी पार्टनरशिप (एलएलपी) फर्म्‍स से सीधे संबंध है। यह फर्म्‍स पंचजन्‍य डायमंड एलएलपी, नीशाल इंटरप्राइजेज एलएलपी, पैरागॉन ज्‍वैलरी एलएलपी और पैरागॉन मर्चेंडाइज हैं। 

आगे बढ़ते हैं, सरकारी बैंक पीएनबी का आरोप है कि मोदी ने धोखे से पीएनबी की गारंटी (एलओयू) ली और उनके बल पर विदेश में लोन हासिल किया। 

 

 

आगे पढ़ें...  हीरा और धोखाधड़ी के और भी मामले 

 

 

यह अकेला 'हीरा' मामला नहीं 

बड़ी रोचक बात है, वह यह कि हीरा कारोबारियों की धोखाधड़ी का यह पहला या अकेला मामला नहीं है। ऐसे कई और मामले हैं, जिनमें स्‍टॉक मार्केट से जुड़ी अनियमितता की जांच की जा रही है। इसके अलावा, कई ऐसे हाई प्रोफाइल लोन डिफॉल्‍ट के मामले सामने आए हैं, जिनका लिंक कहीं न कहीं हीरा कारोबार से जुड़ा रहा है। जैसेकि, जतिन मेहता का मामला।

 

जतिन मेहता के विनसम ग्रुप पर बैकों का 8,600 करोड़ रुपए का बकाया है। मेहता और उनका परिवार लोन डिफॉल्ट की कार्रवाई शुरू होते ही भारत छोड़कर भाग निकला। मेहता परिवार ने सेंट किट्स की नागरिकता ले ली। भारत का सेंट किट्स के साथ कोई भी प्रत्यर्पण समझौता नहीं है।

 

एक और मामला भरत शाह का भी है। फिल्म फाइनेंसर और हीरा कारोबारी भरत शाह को दाऊद इब्राहिम के साथी छोटा शकील के साथ रिश्ता रखने के आरोप में 2011 में गिरफ्तार किया गया था। उन्हें 14 महीने जेल में गुजारने पड़े थे। 2003 में उन्हें एक साल की सजा हुई थी। कुल मिलाकर, हीरा और धोखाधड़ी का खेल काफी पुराना है। 


 

आगे पढ़ें.. नीरव - अमीरों की लिस्‍ट और सितारों की चमक 

 

 

अमीरों की लिस्‍ट और सितारों की चमक 

हीरा कारोबारी और हाई-प्रोफाइल ज्‍वैलरी डिजाइनर फोर्ब्‍स के अमीर भारतीयों की टॉप 100 लिस्‍ट में भी जगह बना चुका है। लिस्‍ट में मोदी की नेटवर्थ 1.7 अरब डॉलर बताई गई थी। 2016 में फोर्ब्‍स की अमीर भारतीयों की लिस्‍ट में मोदी 71वें नंबर पर और 2017 में 85वें पायदान पर था। फिल्‍मी सितारों चाहें हॉलीवुड हो या बॉलीवुड नीरव मोदी के हीरे की चमक हर जगह थी। केट विंसलेट, प्रियंका चोपड़ा, करीना कपूर, आलिया भट्ट और शिल्‍प शेट्टी ने मोदी की बनाई ज्‍वैलरी पहली। इसकी जानकारी उनकी वेबसाइट पर भी उपलब्‍ध है। 

 

वास्‍तविक घटनाक्रम पर चल रही यह कहानी पीएनबी महाघोटाले की जांच की साथ चलती रहेगी। हमने इस कड़ी में हीरे और धोखेबाजी के एक एंगल को सामने रखा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट