बिज़नेस न्यूज़ » Industry » CompaniesBIS कन्फ्यूजन में 28 कंटेनर मुंबई पोर्ट पर फंसे, डिजाइनर स्टील को लेकर बढ़ी परेशानी

BIS कन्फ्यूजन में 28 कंटेनर मुंबई पोर्ट पर फंसे, डिजाइनर स्टील को लेकर बढ़ी परेशानी

स्टील पर बीआईएस लगने के बाद भी कारोबारियों और सरकारी विभागों में कन्फ्यूजन बना हुआ है। इसी कन्फ्यूजन के कारण मुंबई पोर्ट

1 of

नई दिल्ली। स्टील पर बीआईएस लगने के बाद भी कारोबारियों और सरकारी विभागों में कन्फ्यूजन बना हुआ है। इसी कन्फ्यूजन के कारण मुंबई पोर्ट पर डिजाइनर स्टेनलेस शीट के 28 कंटेनर फंसे हुए हैं। ये स्टील बीआईएस नॉर्म्स के तहत नहीं होने के कारण पोर्ट कर्मचारी इसे क्लीयर नहीं कर रहे हैं जबकि कारोबारियों का मानना है कि डिजाइनर स्टील पर बीआईएस लागू नहीं है।

 

मुंबई पोर्ट पर अटके 28 कंटेनर

 

मेटल एंड स्टेनलेस स्टील मर्चेंट एसोसिएशन (एमएसएमए) के प्रेसिडेंट जितेंद्र शाह ने moneybhaskar.com को बताया कि डिजाइनर स्टेनलेस शीट पर बीआईएस लागू नहीं है इस कारण कारोबारियों ने डिजाइनर स्टेनलेस शीट के 28 कंटेनर इंपोर्ट कराए। अब पोर्ट के कर्मचारी इन कंटेनर को ये कहकर क्लीयर नहीं कर रहे हैं कि ये बीआईएस नॉर्म्स के तहत नहीं आएं हैं।

 

 

पोर्ट अधिकारी हैं कन्फ्यूज

 

शाह ने कहा की स्टील कारोबारियों ने पोर्ट अधिकारियों को सरकार के डॉक्युमेंट के साथ दिखाया कि डिजाइनर स्टेनलेस शीट बीआईएस नॉर्म्स के तहत नहीं आते। इस पर पोर्ट अधिकारी भी स्टील मिनिस्ट्री से बीआईएस नॉर्म्स की गाइडलाइंस मंगा रही है। ये कंटेनर पोर्ट पर करीब 25 दिन से अटके हुए हैं।

 

कारोबारियों ने स्टील मिनिस्ट्री को लिखा लेटर

 

एसोसिएशन ने स्टील मिनिस्ट्री को बीआईएस नॉर्म्स पर क्लैरिफिकेशन को लेकर लेटर लिखा है ताकि कारोबारियों और इस सेक्टर से जुड़े लोगों और लोकल अथॉरिटी को कन्फ्यूजन न रहे। शाह ने कहा कि इसी कन्फ्यूजन के कारण मुंबई पोर्ट पर डिजाइनर स्टील के 8.50 करोड़ रुपए के 28 कंटेनर फंसे हुए हैं।

 

आगे पढ़े - क्या है बीआईएस..

 

 

सरकार ने अनिवार्य कर दिया है बीआईएस

 

सरकार ने क्वालिटी कंट्रोल करने के लिए स्टेनलेस स्टील क्वालिटी कंट्रोल ऑर्डर (बीआईएस) वाले स्टील के इस्तेमाल को अनिवार्य कर दिया है।

 

क्या है बीआईएस ऑर्डर

 

सरकार के नया स्टेनलेस स्टील क्वालिटी कंट्रोल ऑर्डर 2016 जारी किया है, जिसके तहत स्टील की मैन्युफैक्चरिंग, इंपोर्ट, स्टोरेज, सेल और डिस्ट्रिब्यूशन के लिए ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) के तहत रजिस्टर कराना जरूरी है। बीआईएस स्टैंडर्ड पर खरा नहीं उतरने वाले स्टील का प्रोडक्शन, इंपोर्ट, स्टोरेज, सेल और डिस्ट्रिब्यूशन नहीं कर सकते।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट