बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesअरबपति अपने हनीमून टूर के लिए करते हैं खास प्लान, वाइफ याट पर घूम सके, इसलिए कर दिए 80 लाख खर्च

अरबपति अपने हनीमून टूर के लिए करते हैं खास प्लान, वाइफ याट पर घूम सके, इसलिए कर दिए 80 लाख खर्च

शादी के अलावा हनीमून के लिए अरबपति किस तरीके की तैयारी करते हैं।

1 of

नई दिल्ली। कॉरपोरेट वर्ल्ड में शादियों का सीजन चल रहा है। मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी की शादी श्लोका मेहता से और ईशा अंबानी की शादी अजय पिरामल के बेटे आनंद पिरामल से दिसंबर होनी है। इसके अलावा किशोर बियानी की बेटी अवनी बियानी की शादी बैंकर राहुल जैन से होने जा रही है। अबांनी परिवार में अभी तक हुए फंक्शन्स में कपड़ों से लेकर डेकोर सभी की जमकर तारीफ हुई है। इंडिया की अरबपति फैमिली में इस समय शादी का दौर चल रहा है लेकिन क्या आपको पता है कि शादी के अलावा हनीमून के लिए अरबपति किस तरीके की तैयारी करते हैं। एक अरबपति ने अपनी वाइफ को हील्स में याट पर घुमाने के लिए 80 लाख रुपए खर्च कर दिया।

 

ये कंपनी बनाती है अरबपति फैमिली के टूर पैकेज

 

ईटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक लग्जरी ट्रैवल कंपनी ओवेशन वेकेशन अल्ट्रा हाई नेटवर्थ वाले लोगों के लिए कस्टमाइज टूर पैकेज बनाती है। रियल एस्टेट टायकून, मीडिया मुगल, फाइनेंसर, मूवी स्टार्स, टॉक शो होस्ट और एथलीट सभी इन्हीं से टूर पैकेज लेती हैं। कंपनी के 30 कर्मचारी एक साल में 200 से ज्यादा हनीमून पैकेज अरबपतियों के लिए बनाते हैं। उकने एक ट्रिप का औसत खर्च करीब 35 लाख रुपए तक होता है। यानी एक महीने में वह 7 करोड़ रुपए के हनीमून पैकेज बनाते हैं।

 

अरबतियों की होती हैं ऐसी ख्वाहिशें..

 

- पोप के साथ प्राइवेट मीटिंग और ग्रीटिंग

 

- एक शीक पक्षी से मिलने के लिए चार्टर फ्लाइट

 

- अरबपियों के लिए मीट कैरी करना

 

- सुकियाबाशी जीरो में बुक करनी होती है टेबल, फेमस जापानी रेस्टोरेंट सुकियाबाशी जीरो, जीरो ओनो मिशलिन स्टार शेफ का है जिनके रेस्त्रां में टेबल बुक करने के लिए महीने पहले बुकिंग करानी पड़ती है।

 

होटल का बाथरूम करना पड़ा रेनोवेट

 

कई बार डिमांड इतनी ज्यादा होती है कि होटल तक में फिर से कंस्ट्रक्शन करानी पड़ती है। एक टेलीविजन एक्ट्रेस ने अपने 5 दिन के टूर पैकेज के लिए होटल के बाथरूम में ग्रेनाइट का सिंक सात इंच ऊपर कराया ताकि उसे फेस वाश के लिए झुकना न पड़े। उस एक्ट्रेस ने इसके लिए 40 हजार डॉलर यानी करीब 30 लाख रुपए चुकाए।

 

वाइफ के लिए खर्च किए 55 लाख

 

एक अरबपति हसबैंड ने अपनी वाइफ के लिए 210 फुट याट में कारपेट बिछवाया ताकि उनकी नई नवेली वाइफ याट में हील्स में घूम सके। उन्होंने इसके लिए करीब 80 हजार डॉलर यानी करीब 55 लाख रुपए चुकाए।

 

आगे पढ़े - कैसी डिमांड करते हैं अरबपति..

करते हैं अजीब डिमांड

 

मीट लेकर जाना होता है सबसे मुश्किल डिमांड

 

वह क्लाइंट के साथ नॉनडिस्क्लोजर एग्रीमेंट साइन करना पड़ता है। उन्हें हलाल मीट, कट और टाइप का ध्यान रखना पड़ता है। कंपनी के मुताबिक सबसे मुश्किल काम उनके लिए मीट लेकर जाना होता है। चिल्ड ब्रीफकेस में एयरपोर्ट सिक्योरिटी के अलावा कमर्शियल जेट से होते हुए, होटल के किचन तक लेकर जाना आसान नहीं होता। अरबपति के टेस्ट के मुताबिक बनाना उससे भी ज्यादा मुश्किल होता है।

 

पीना था फिजी देश का ही पानी

 

नव विवाहित जोड़ा सेशेल्स घूमने गया और उसे सिर्फ फिजी देश का पानी पीना था। तो उनके लिए हर रोज फ्लाइट से फिजी का पानी आता था। एक लेडी को हर जगह एल्चीम कंपनी के हेयर ड्राइर चाहिए था और उसे ये लाओस और श्रीलंका जैसे देश में चाहिए था, जो कि एक मुश्किल काम था।

 

चाहिए था ड्रैगनफ्रूट

 

कंपनी के मुताबिक एक पॉप स्टार ने फ्रेश ड्रैगनफ्रूट स्मूदी बनाने के लिए ऐसे देश में मांगा जहां उसे ला पाना नामुमकिन था। इसके अलावा अलग तरह के टॉयलेट पेपर, रूम डेकोरेशन, बेडशीट जैसी डिमांड की गई।

 

आगे पढ़े - कैसी डिमांड करते हैं अरबपति..

 

एक कपल के लिए बनाया प्राइवेट बीच

 

एक कपल ने प्रेसिडेंशियल विला प्राइवेट बीच के साथ कैरिबियन वैकेशन लिया लेकिन वहां बाढ़ के कारण बीच लगभग तबाह हो गया था। ट्रैवल कंपनी ने उस कपल के लिए बीच फिर से बनाया। उन्हें दूसरी जगह से रेत लाने में ही करीब 34 लाख रुपए खर्च हो गए।

 

बाइक से पहुंचाया एयरपोर्ट

 

हर एक क्लाइंट के साथ कंपनी के 2 कंसल्टेंट बात करते रहते हैं ताकि कोई गड़बड़ न हो। जैसे एक पेरिस ट्रिप में कपल कार एक्सीडेंट की वजह से हाइवे पर फंस गया। उन्हें एयरपोर्ट जाना था तो तुरंत उनके पास 4 बाइक भेजी गई। 2 बाइक उन दोनों के लिए और 2 बाइक लगेज के लिए भेजी गईं।

 

इन डिमांड को कंपनी कर देती है इंकार

 

कंपनी के मुताबिक वह सभी काम करने के लिए तैयार होते हैं जो उस देश के कानून के अंदर आते हों। जैसे एक क्लाइंट ने अपने हनीमून पैकेज में प्रॉस्टीट्यूट की मांग की जिसे पूरा नहीं किया गया। इसके अलावा कोकीन, मनी लॉन्ड्रिंग जैसी कई डिमांड आती है जिसे सीधे मना कर दिया जाता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट