बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesअपनी चूक को नहीं भुला पाए दुनिया के दिग्गज अरबपति, आज भी करते हैं अफसोस

अपनी चूक को नहीं भुला पाए दुनिया के दिग्गज अरबपति, आज भी करते हैं अफसोस

बिल गेट्स से लेकर नारायण मूर्ति की चूक के बारे में बता रहे हैं जो वह अभी तक नहीं भूले हैं।

1 of

नई दिल्ली. अरबपति पैसों के दम पर लाइफ में अपनी ज्यादातर इच्छाएं पूरी कर लेते हैं। लेकिन उनकी लाइफ में भी कुछ ऐसी काम होते हैं, जिन्हें नहीं करने का पछतावा उन्हें जीवन भर होता है। आज हम आपको बिल गेट्स से लेकर नारायण मूर्ति की कसक के बारे में बता रहे हैं।

 

बिल गेट्स

 

माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर और दुनिया के सबसे अमीर आदमी को भी पछतावा होता है। बिल गेट्स ने माना कि अगर वह एक चीज बदल सकते तो वह Control+Alt+Delete कमांड की जगह सिंगल बटन रखते। अपनी इस एक चूक को दुनिया का सबसे अमीर शख्स अभी तक नहीं भुला पाया है।

 

आगे पढ़े - नारायण मूर्ति को किस बात पर हुआ पछतावा

नारायण मूर्ति

 

इंफोसिस के को-फाउंडर नारायण मूर्ति ने कहा था कि उन्हें इस बात का हमेशा पछतावा होगा कि उन्होंने साल 2014 में कंपनी की चेयरमैनशिप क्यों छोड़ी? मूर्ति ने कंपनी शुरू करने के 33 साल बाद चेयरमैन पद को छोड़ा था। उन्होंने कहा कि उनके साथ के फाउंडर मेंबर्स ने भी उन्हें कंपनी नहीं छोड़ने के लिए कहा था। साथ ही उन्हें कुछ और साल कंपनी के साथ रहने की सलाह दी थी। उन्होंने कहा कि वह काफी इमोशनल हैं और उनके कई फैसले आइडलिज्म पर निर्भर होते हैं। उन्होंने माना कि उन्हें अपने साथी फाउंडर मेंबर्स की बात माननी चाहिए थी।

 

आगे पढ़े - सर्गे ब्राइन के पछतावे के बारे में..

 

सर्गे ब्राइन (Sergey Brin)

 

साल 2005 में गूगल को चीन में लॉन्च किया गया था। कंपनी ने चीन में अपने आप को काफी बदला और कई कंट्रोवर्शियल टॉपिक जैसे थियानमेन स्क्वायर नरसंहार (Tiananmen Square massacre) और फलन गोंग मूवमेंट (Falun Gong movement) को हटा दिया। इसका वेस्टर्न देशों ने विरोध किया था जो गूगल की बड़ी मार्केट में से एक हैं। इस पर गूगल के को-फाउंडर सर्गे ब्राइन ने कहा कि बिजनेस लेवल वह इस फैसले को सेंसर करना चाहेंगे। इसका निगेटिव असर पड़ा। साल 2010 में गूगल ने घोषणा की कि वह किसी भी सर्च रिजल्ट को सेंसर नहीं करेंगे।

 

आगे पढ़े - बिज स्टोन को इस बात पर हुआ पछतावा

बिज स्टोन

 

एक बार ट्विटर के को-फाउंडर बिज स्टोन ने कहा था कि साल 2008 में कंपनी ने एक फीचर लॉन्च किया था, जिसमें यूजर अनजान यूजर को भी अपने पोस्ट पर टैग कर सकते थे। बिज स्टोन ने कहा कि उन्होंने 'मेन्शन टैब' को एड करके सबसे बड़ी गलती की थी। इससे आप किसी को भी अपने पेज पर देख सकते हैं। इसलिए कंपनी ने यूजर्स को ब्लॉक का ऑप्शन दिया।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट