बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesएयरहोस्टेस के पास होते हैं ये अधिकार, यात्रा के समय गलती पड़ेगी भारी

एयरहोस्टेस के पास होते हैं ये अधिकार, यात्रा के समय गलती पड़ेगी भारी

सोशल मीडिया, यूट्यूब वीडियो में कई ऐसे मामले आएं हैं जब पैसेंजर्स को प्लेन से जबरदस्ती बाहर निकाला गया है।

1 of

नई दिल्ली। अभी हाल में विस्तारा एयरलाइंस की एयरहोस्टेस का हिबोर्डिंग के समय मोलेस्टेशन का केस सामने आया जिमसें 62 साल के पैसेंजर को पुलिस ने अरेस्ट किया। सोशल मीडिया, यूट्यूब वीडियो में कई ऐसे मामले आएं हैं जब पैसेंजर्स को प्लेन से जबरदस्ती बाहर निकाला गया है। इन वीडियो में सामने आया है कि कैसे पैसेंजर्स को मिसबिहेव करना भारी पड़ा है। क्रू मेंबर्स और एयरहोस्टेस के साथ मिसबिहेव सबसे बड़ी समस्या है जो वह झेलते हैं लेकिन पैसेंजर्स को ऐसा करना भारी पड़ सकता है। एयरहोस्टेस के पास अधिकार होता है कि वह इसकी शिकायत कर पैसेंजर को प्लेन में बोर्ड करने से रोक सकती है। बिजनेस इन्साइडर की रिपोर्ट के एयरहोस्टेस और क्रू मेंबर्स ने ऐसी ही रूल्स और घटनाओं के बारे में बताया जो पैसेजर्स को भारी पड़ी हैं।

 

 

क्या होते हैं एयरहोस्टेस के अधिकार

 

अगर आप एयरहोस्टेस के निर्देश नहीं मानते तो आपको फ्लाइट से डिबोर्ड तक किया जा सकता है। एयरहोस्टेस के पास यह अधिकार होता है कि यात्री के निर्देश नहीं मानने पर वह इसकी शिकायत कैप्टन को कर सकती है। इसके आधार पर ज्यादातर सख्त फैसले किए जा सकते हैं।

 

एयरहोस्टेस और क्रू मेंबर्स के पास ऐसे मामलों में है पैसेंजर्स को रोकने के अधिकार

 

करते हैं छेड़छाड़

 

अगर आप किसी भी क्रू मेंबर्स के साथ फ्लाइट के दौरान छेड़छाड़ करते हैं तो पायलट और क्रू मेंबर्स को प्लेन डाइवर्ट करने का अधिकार होता है। इससे कोई फर्क पड़ता कि वह एक्ट क्या था, कैसे हुआ था और किसके साथ हुआ था। क्रू मेंबर्स छेड़छाड़ की जानकारी चीफ फ्लाइट अटेंडेंट को देते हैं और वह फैसला करते हैं कि प्लेन डाइवर्ट करना है या प्लेन से उतारना है।

 

आगे पढ़ें - कौनसे मामलों में पैसेंजर्स को प्लेन में चढ़ने से मना किया जा सकता है

क्रू-मेंबर्स के साथ झगड़ना

 

अगर आप क्रू मेंबर्स को गालियां देते हैं। उनके साथ लड़ाई करते हैं या हाथापाई करते हैं तो आपको बोर्ड करने से रोका जा सकता है।

 

फ्लाइट के दैरान पलेन का दरवाजा खोलना

 

अगर कोई भी पैसेंजर फ्लाइट के दौरान प्लेन का दरवाजा खोलने की कोशिश करता है तो उसे केस मे भी प्लेन पास के एयरपोर्ट पर उस पैसेंजर को उतारने के लिए डायवर्ट किया जा सकता है।

 

आगे पढ़ें - कौनसे मामलों में पैसेंजर्स को प्लेन में चढ़ने से मना किया जा सकता है

ड्रिंक करके प्लेन में सफर करना

 

अगर आप एल्कोहल ड्रिंक कर नशे में फ्लाइट में बोर्ड करते हैं। एयरहोस्टेस और फ्लाइट अटेंडेंट देख लेता है तो वह आपको बोर्ड करने से रोक सकते हैं। एक एयरहोस्टेस ने बताया कि ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि ऐसे पैसेंजर फ्लाइट में कुछ भी कर सकते है। हालांकि, ऐसे मामले कम हुए हैं लेकिन को-पैसेंजर्स की सेफ्टी के लिए क्रू मेंबर्स के पास रोकने का अधिकार होता है।

 

अगर आप दिखते हैं बीमार

 

आज के समय में बीमार लोगों के लिए जीरो टॉलरेंस लेवल है क्योंकि इसमें काफी रिस्क होता है। अगर फ्लाइट के दौरान तबीयत ज्यादा खराब हो गई तो परेशानी हो सकती है। पैसेंजर की सेफ्टी के लिए उनकी तबीयत खराब होने पर उन्हें फ्लाइट में बैठने से रोक दिया जाता है।

 

 

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट