Home » Industry » CompaniesIndiGo, Jet Airways put in bids for operating UDAN flights

इंडिगो, जेट एयरवेज ने भी उड़ान स्‍कीम में दिखाई रुचि, दूसरे चरण के लिए भेजीं बिड्स

उड़ान के दूसरे चरण की टेक्निकल बिड्स 5 दिसंबर से आनी शुरू हो गईं, जबकि फाइनेंशियल बिड्स 14 दिसंबर से आमंत्रित की जाएंगी।

1 of

नई दिल्‍ली. क्षेत्रीय कनेक्टिविटी स्‍कीम उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) की दूसरे चरण की बिडिंग के तहत इंडिगो, जेट एयरवेज और स्‍पाइसजेट ने बिड्स सबमिट की हैं। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के एक वरिष्‍ठ अधिकारी के मुताबिक सरकार को 141 इनीशिअल प्रस्‍ताव प्राप्‍त हो चुके हैं। उड़ान के लिए दूसरे चरण की टेक्निकल बिड्स 5 दिसंबर से आनी शुरू हो गई हैं, जबकि फाइनेंशियल बिड्स 14 दिसंबर से आमंत्रित की जाएंगी। बता दें कि उड़ान का उद्देश्‍य बिना हवाई सेवा वाले एयरपोर्ट्स और हवाई सेवा की मौजूदगी वाले एयरपोर्ट्स के बीच कनेक्टिविटी स्‍थापित करना और हवाई यात्रा को और सस्ता बनाना है। इस स्‍कीम के तहत एक घंटे की उड़ान का किराया 2500 रुपए तक है।  

 

इंडिगो, स्‍पाइसजेट समेत 25 प्रस्‍ताव जीरो VGF वाले 

अधिकारी के मुताबिक, दूसरे चरण में बिड्स भेजने वालों में इंडिगो, स्‍पाइसजेट, जेट एयरवेज और जूमएयर जैसी एयरलाइन्‍स शामिल हैं। उड़ान में शामिल एयरलाइन्‍स को मंत्रालय और संबंधित राज्‍य सरकारों की ओर से वायबिलिटी गैप फंडिंग (VGF) उपलब्‍ध कराई जाएगी। अधिकारी ने बताया कि स्‍कीम के तहत इंडिगो और स्‍पाइसजेट की ओर से किसी तरह के VGF की मांग नहीं की गई है। साथ ही इनके अलावा 25 प्रस्‍ताव और हैं, जिनमें VGF की मांग नहीं की गई है। 

 

स्‍पाइसजेट पहले से ऑपरेशनल 

बिड्स के पहले चरण में जीतने के बाद से उड़ान के तहत स्‍पाइसजेट की फ्लाइट्स पहले से मौजूद हैं लेकिन इंडिगो व जेट एयरवेज ने पहली बार इस स्‍कीम का हिस्‍सा बनने में रुचि दर्शाई है। स्‍पाइसजेट ने पहले चरण में भी VGF की मांग नहीं की थी। 

 

दूसरे चरण के लिए कुल मिलाकर 18 आवेदनकर्ता

आगे बताया गया कि दूसरे चरण में कुल 141 इनीशिअल और 55 काउंटर प्रस्‍ताव प्राप्‍त हुए हैं। सभी को मिलाकर 18 आवेदनकर्ता हैं। दूसरे चरण में रूट्स को एक चरणबद्ध तरीके से आवंटित किया जाएगा। इसमें शून्‍य VGF और वरीयता वाले इलाकों में फिक्‍स्‍ड विंग प्‍लेन्‍स व हेलीकॉप्‍टर ऑपरेट करने वालों को प्राथमिकता दी जाएगी। 

 

इनीशिअल प्रस्‍तावों में 502 रूट्स शामिल 

मंत्रालय ने पिछले माह कहा था कि इनीशिअल प्रस्‍तावों में 502 रूट्स शामिल हैं, जिनके जरिए 126 एयरपोर्ट्स और हेलीपैड्स को जोड़ा जा सकता है। इनमें 49 बिना हवाई सेवा वाले और 15 हवाई सेवा की मौजूदगी वाले एयरपोर्ट्स व 24 हेलीपैड्स हैं। इनमें से 108 फिक्‍स्‍ड विंग एयरक्राफ्ट की उड़ानों के लिए और 33 हेलीकॉप्‍टर्स की उड़ानों के लिए हैं। 

 

पहले चरण में 5 एयरलाइन्‍स को 128 रूट्स हुए थे आवंटित 

उड़ान के तहत पहले चरण की बिडिंग में 70 एयरपोर्ट्स को जोड़ने वाले 128 रूट्स को 5 एयरलाइन्‍स को आवंटित किया गया था। इनमें से कुछ रूट पहले से ऑपरेशनल हैं। अधिकारी ने कहा कि एयर डेक्‍कन 23 दिसंबर से उड़ानें शुरू कर देगी, जबकि एयर ओडिशा के इस महीने के अंत तक उड़ान शुरू करने की उम्‍मीद है। पहले चरण की बिडिंग में इन दोनों एयरलाइन्‍स को भी रूट्स आवंटित हुए थे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट