विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesGovernment will make special corridor in ganga river for hilsa fish

हिल्सा मछलियों के लिए गंगा में बनेगा गलियारा, 5369 करोड़ रुपए का आएगा खर्च

बांधों और झरनों के आसपास बनाया जाएगा यह विशेष गलियारा

1 of

नई दिल्ली। कई प्रकार के जीव-जंतुओं के लिए जीवनदायिनी बनी गंगा नदी को साफ-सुथरा बनाए रखने के लिए केंद्र सरकार ने नमामि गंगे योजना चला रखी है। अब सरकार ने गंगा नदी में हिल्स मछली के प्रजनना और उनके एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए अलग से गलियारा बनाने का फैसला किया है। इस गलियारे का निर्माण फरक्का नेवीगेशन लॉक के तहत जलमार्ग विकास परियोजना के जरिए किया जा रहा है। 

भारतीय जलमार्ग प्राधिकरण करेगा गलियारे का निर्माण
जल संसाधन, नदी विकास तथा गंगा संरक्षण मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, 1976 में फरक्का नेवीगेशन लॉक के निर्माण के बाद से नदी में हिल्सा मछलियों की गतिविधियां फरक्का तक सीमित रह गई थी, लेकिन अब जलमार्ग विकास परियोजना के जरिए अलग से मछलियों के गलियारा बन जाने से इनका एक स्थान से दूसरे स्थान आना-जाना आसान हो गया है। बांग्लादेश की राष्ट्रीय मछली होने के साथ ही पश्चिम बंगाल में भी हिल्सा का काफी सांस्कृतिक महत्व है।

बांधों और झरनों के आसपास बनेगा गलियारा


मछलियों के लिए बनाए जाने वाला विशेष गलियारा बांधों और झरनों के आसपास बनाया जाता है, ताकि मछलियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आने-जाने के लिए प्राकृतिक माहौल मिल सके। जलमार्ग विकास परियोजना के तहत राष्ट्रीय जलमार्ग-1 पर फरक्का में 361.35 करोड़ रुपए की लागत से अत्याधुनिक नेवीगेशन लॉक बनाया जा रहा है, जो जून 2019 में पूरा हो जाएगा। परियोजना के लिए विश्व बैंक की ओर से 5369 करोड़ रुपए की वित्तीय मदद दी गई है।

नितिन गडकरी ने किया शुभारंभ


केन्द्रीय जहाजरानी, सड़क परिवहन और राजमार्ग, जल संसाधन, नदी विकास तथा गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को प्रयागराज में राष्ट्रीय जलमार्ग-1 (गंगा नदी) पर 410 किलोमीटर लंबे फरक्का-पटना मार्ग के बीच नदी सूचना प्रणाली के दूसरे चरण का उद्घाटन किया। इसी दौरान उन्होंने फरक्का में नेवीगेशन लॉक का शुभारंभ भी किया। इस परियोजना के शुरू होने का बाद गंगा में हिल्सा मछलियों के प्रजनन और नदी पारिस्थितिकी प्रणाली को संरक्षित करने में मदद मिलेगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन