विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesGovernment set to introduce graduate Insolvency programme

दिवालिया विशेषज्ञ बनने के लिए सरकार ला रही है कोर्स, एमबीए के बराबर होगी मान्यता

यह कोर्स बाकी सभी कोर्सेस की तरह टॉप क्लास होगा

1 of

नई दिल्ली। वर्तमान में देश में कई ऐसे कॉलेज हैं जहां युवाओं को अलग अलग डिग्री कोर्स कराए जाते हैं। लेकिन अब कुछ ही हफ्तों में सरकार एक ऐसा कोर्स लाने जा रही है जिससे हर साल 45 बैंकरप्सी प्रोफेशनल्स तैयार किए जाएंगे। सरकार कुछ हफ्तों में ग्रैजुएट इनसॉलवेंसी प्रोग्राम शुरू करने जा रही है। यह कोर्स बाकी सभी कोर्सेस इंडियन इस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट या इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी की तरह टॉप क्लास होगा। माना जा रहा है कि यह कोर्स 27 महीने तक का होगा।

 

फरवरी के पहले हफ्ते तक लॉन्च हो सकता है कोर्स

साथ ही इस कोर्स से इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल्स के  लिए ग्लोबल बेंचमार्क बनेगा। संविधान में दिवालिया कानून लागू होने के बाद से इनसॉल्वेंसी प्रोफेशनल्स की मांग बढ़ रही है। अभी देश में 10 लाख करोड़ का बैड लोन है, जिसमें से सरकार  बड़ी रकम की रिकवरी दिवालिया कानून के जरिये करने की कोशिश की जा रही है। इस प्रोग्राम के एक वरिष्ठ एग्जिक्युटिव ने बताया कि फरवरी के पहले हफ्ते तक इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी बोर्ड ऑफ इंडिया इसे लॉन्च किया जा सकता है। 

कोर्स के लिए 6 मेंबर्स का वर्किंग ग्रुप कर रहा है काम

उन्होंने बताया कि इस कोर्स की तैयारी जोरो-शोरों से चल रही है। कोर्स के लिए 6 मेंबर्स का वर्किंग ग्रुप काम कर रहा है। अभी यह ग्रुप  दाखिले की तारीख, कोर्स फी, स्टडी मॉड्युल्स जैसी चीजों को फाइनल टच दे रहा है। इस कोर्स के एंट्रेंस टेस्ट के लिए  चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, कॉस्ट अकाउंटेंट्स, कंपनी सेक्रटरी, लॉ ग्रैजुएट्स, इकनॉमिक्स में पोस्ट ग्रैजुएट, फाइनैंस, मैनेजमेंट और कॉमर्स स्टूडेंट्स हकदार होंगे। 

5 सीटें विदेशी स्टूडेंट्स के लिए रिजर्व

साथ ही इस कोर्स में  5 सीटें विदेशी स्टूडेंट्स के लिए रिजर्व रखी जाएंगी। इस कोर्स का एग्जाम आईबीएम में दाखिले के लिए कॉमन ऐडमिशन टेस्ट (कैट) की तरह होगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन