सोमवार से शुक्रवार ऑफिस में ऐसे करें काम, शनिवार और रविवार को कर पाएंगे आराम

हम सभी के पास दिन के 24 घंटे होते हैंफिर भी लोग बराबर काम नहीं कर पाते हैं। कुछ लोग काम के बाद अपनी पर्सनल लाइफ के लिए भी वक्त निकाल लेते हैं और कई लोग समय कम होने की दुहाई देते हैं। अगर सफल लोगों को देखा जाए तो वे अपने दिन काे कुछ ऐसे शेड्येल करते हैं कि वे कम समय में ज्यादा काम कर पाते हैं। उनका फोकस अपने एक-एक मिनट को प्रोडक्टिव बनाने पर रहता है। वे Quantity पर नहीं बल्कि Quality पर ध्यान देते हैं। सीएनबीसी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर आप इन पांच तरीकों से अपने दिन को शेड्यूल करेंगे तो मैक्सिमम आउटपुट दे पाएंगे। 

Money Bhaskar

Dec 16,2018 07:52:00 PM IST

नई दिल्ली.

हम सभी के पास दिन के 24 घंटे होते हैं, फिर भी लोग बराबर काम नहीं कर पाते हैं। कुछ लोग काम के बाद अपनी पर्सनल लाइफ के लिए भी वक्त निकाल लेते हैं और कई लोग समय कम होने की दुहाई देते हैं। अगर सफल लोगों को देखा जाए तो वे अपने दिन काे कुछ ऐसे शेड्येल करते हैं कि वे कम समय में ज्यादा काम कर पाते हैं। उनका फोकस अपने एक-एक मिनट को प्रोडक्टिव बनाने पर रहता है। वे Quantity पर नहीं बल्कि Quality पर ध्यान देते हैं। सीएनबीसी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर आप इन पांच तरीकों से अपने दिन को शेड्यूल करेंगे तो मैक्सिमम आउटपुट दे पाएंगे।

अगर आप सोमवार से शुक्रवार इन बातों को ध्यान रखते हुए ऑफिस में काम करेंगे तो आप पहले के मुकाबले ज्यादा काम कर सकेंगे और तनाव से भी मुक्त रहेंगे, ऐसे में वीकेंड का ज्यादा मजा उठा सकेंगे।

गैर जरूरी फैसले लेने से बचें

फेसबुक जैसी कंपनी का मालिक होते हुए भी मार्क जुकरबर्ग रोजाना एक ही आउटफिट पहनते हैं। ऐसा इसलिए नहीं क्योंकि उन्हें फैशन की समझ नहीं है, बल्कि इसलिए क्योंकि रोजाना कपड़ों का चयन करने में भी एनर्जी जाया होती है। साइंस कहता है कि जैसे दिन ढलने के साथ हमारे हाथ-पैर ढीले पड़ने लगते हैं, वैसे ही सही फैसले लेने की हमारी क्षमता भी कम होने लगती है। ऐसे में अपनी सुबह की ऊर्जा बचाने के लिए गैर-जरूरी फैसले लेने से बचें। आप चाहें तो सुबह के लिए अपना आउटफिट और दिन का शेड्यूल रात को ही तय करके रख लें, इससे आप पूरे दिन बेहतर फैसले लेने में अपनी एनर्जी लगा सकेंगे।

आगे पढ़ें- अन्य बातों के बारे में

आधे घंटे पहले करें अपने दिन की शुरुआत

दुनिया के अधितकर सफल लोग सुबह जल्दी उठकर अपने दिन की शुरुआत करते हैं। अध्ययन बताते हैं सुबह जल्दी उठने वाले लोगों के पास दिन भर के काम निपटाने की ऊर्जा बनी रहती है क्योंकि उन्हें जल्दबाजी में कोई काम नहीं करना पड़ता है। अगर आपको सुबह जल्दी उठने में आलस आता हैतो आधा घंटा जल्दी उठने की कोशिश कीजिए। जैसे अगर आपका दफ्तर बजे का है और आप बजे उठते हैं तो 6:30 बजे उठने की कोशिश कीजिए। ऐसे में आप पाएंगे कि आप बिना हडबड़ी के तैयार हो सकेंगेनाश्ता कर सकेंगे और अपने दिमाग में पूरे दिन के काम का खाका तैयार कर सकेंगे।

 

52-17 का रूल करें फॉलो

दफ्तर पहुंचने के बाद अधिकतर लोग सीधे काम में जुट जाते हैं और कई घंटों तक लगातार काम करते जाते हैं। लोगों का मानना है कि ऐसे काम करने से वे ज्यादा काम कर पाएंगे। साइंस कहता है कि ऐसे आपका काम जल्दी नहींबल्कि तय समय से अधिक समय में पूरा होता है और आप थका हुआ भी महसूस करते हैं। अपने काम को बेहतर ढंग से करने का नियम है 52 मिनट काम करना और 17 मिनट का रेस्ट लेना। हालांकि यह जरूरी नहीं है आप ठीक 52 मिनट में ब्रेक ले ही लेंमगर आपको अपने दिमाग को आराम देने के लिए एक निश्चित अंतराल पर ब्रेक लेना चाहिए। रिफ्रेश होकर आप अपने काम को जल्दी निपटा सकेंगे।

 

 

आगे पढ़ेंअन्य बातों के बारे में

 

 

 

मल्टीटास्किंग करने से बचें

ये अलग बात है कि अधिकतर लोगों को लगता है मल्टीटास्किंग की स्किल बेहद जरूरी होती हैसच तो यह है कि दफ्तर में यह आपकी पर्फोमेंस खराब कर देती है। जब आप एक ही समय पर दो अलग-अलग कामों में ध्यान लगाते हैं तो दरअसल अपना फोकस बार-बार बदलते हैं। ऐसे में आप कोई भी काम पूरे फोकस से नहीं कर पाते। नतीजतन आप अपना बेस्ट पर्फोमेंस नहीं दे पाते हैं। ऐसे में आप कामों को priority के हिसाब से लिस्ट कर लें और एक-एक करके उन्हें खत्म करें। ऐसे में आप तनाव से भी बचें रहेंगे।

 

खुद काे अहमियत दें

दफ्तर में अच्छे से काम करना और टीम का सहयोग आपकी जिम्मेदारी हैलेकिन खुद को अहमियत देना और अपना खयाल रखना भी आपकी दिमागी सेहत के लिए जरूरी है। University of California की एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग अपने दफ्तर में 'नाकहने से हिचकिचाते हैं वे ज्यादा तनाव में रहते हैं। मसलन आपके पास पहले से काम का ढेर लगा हुआ है और आपका कोई सहकर्मी आपको कोई काम करने के लिए कहता हैतो आपके लिए उसे मना कर देना सबसे अच्छा रहेगा। यह दफ्तर का बेहद अहम उसूल है। ऐसा करने से न सिर्फ आप बिना स्ट्रेस लिए अपना काम बेहतर तरीके से कर पाएंगेबल्कि दूसरों के सामने उदाहरण भी पेश करेंगे कि आप उन्हें खुश करने के लिए काम करने की हामी नहीं भरते हैं।

 

 

X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.