Home » Industry » Companiesflipkart top brass hunt for jobs after Binny Bansal exit

Flipkart में आने वाली हैं नौकरियां, आपके लिए है सुनहरा मौका

बड़े स्तर पर नए लोगों को भर्ती करने वाली है Flipkart

1 of

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी Flipkart ने आने वाले समय में बड़े स्तर पर नए लोगों की हायरिंग करने की घोषणा की है। कंपनी मैनेजमेंट, टेक्नोलॉजी, मार्केटिंग, ह्यूमन रिसॉर्सेज और प्रोडक्ट जैसे विभागों में भर्तियां  करेगी। भर्तियों के अलावा कंपनी कई कर्मचारियों का विदेशों में भी ट्रांसफर कर सकती है। जिससे भारतीय बिजनेस को वॉलमार्ट की ही तरह दुनियाभर में फैलाया जा सके। फ्लिपकार्ट के एक प्रवक्ता ने ईमेल के जरिए बताया 'फ्लिपकार्ट भारत में ई- कॉमर्स को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है और आगे 20 करोड़ ग्राहकों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से जोड़ना चाहती है। इस सोच को पूरा करने के लिए हम विकास की योजनाओं को तेज कर रहे हैं। इसके साथ ही हम कुशल लोगों को फ्लिपकार्ट से जोड़ाना चाहते हैं।'

 

फ्लिपकार्ट को दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बनाना चाहता है वॉलमार्ट
कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि कुशल कर्मचारियों की नियुक्ति से कंपनी की योजनाएं आगे बढ़ेंगी। बेंगलुरू में रिक्रूटमेंट कंपनी फ्लिपकार्ट के लिए एग्जिक्युटिव्स पदों पर कम-से-कम पांच लोगों की तलाश कर रही है। कंपनी के सीनियर पार्टनर ने बताया कि वॉलमार्ट चाहता है कि ई-कामर्स क्षेत्र में फ्लिपकार्ट इतनी आगे बढ़े कि कोई भी कंपनी उसके साथ प्रतिस्पर्धा ना कर पाए।

 

फ्लिपकार्ट के जरिए  भारत में 16 बिलियन डॉलर का निवेश करना चाहता है वॉलमार्ट
भारत में कंपनी की मुख्य प्रतिद्वंदी अमेजन है। इसलिए वालमार्ट फ्लिपकार्ट में नई भर्तियां करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। इसी के चलते फ्लिपकार्ट बहुत बड़ी संख्या में कर्मचारियों को हायर करना चाहती है। इसके लिए कंपनी कर्मचारियों को अच्छी खासी सैलेरी पर भी रख सकती है। कंपनी ने सैलरी के लिए कोई अधिकतम सीमा नहीं रखी है। फ्लिपकार्ट के जरिए वॉलमार्ट भारत में 16 बिलियन डॉलर का निवेश करना चाहती है।  

 

ये भी पढ़ें: कभी गूगल ने किया था नौकरी देने से इनकार, अब गूगल पर करता है ट्रेंड

 

आगे पढ़ें

Flipkart के को-फाउंडर और सीईओ बिन्नी बंसल ने दिया इस्तीफा

गौरतलब है कि Flipkart के को-फाउंडर और सीईओ बिन्नी बंसल ने वालमार्ट की तरफ से निजी तौर पर गड़बड़ी करने के बाद इस्तीफा दे दिया। कभी दो दोस्तों बिन्नी और सचिन बंसल ने मिलकर 2 कमरे के फ्लैट में शुरूआत की और उसे 1.4 लाख करोड़ रु की कंपनी​ बनाया। दोनों ने मिलकर देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी खड़ी की। कंपनी के साथ कई उतार-चढ़ाव देंखे लेकिन ये कभी नहीं सोचा होगा कि एक दिन उसी कंपनी से गड़बड़ियो के आरोपों के कारण इस्तीफा देना पड़ेगा। हालांकि, बिन्नी के इस्तीफा देने से एक दिन पहले ही उन्हें वालमार्ट की तरफ से मेल आया था।

आगे पढ़ें,

ऐसे बनी फ्लिपकार्ट
फ्लिपकार्ट की नींव रखने वाले दो दोस्‍त सचिन बंसल और बिन्‍नी बंसल की मुलाकात आईआईटी दिल्‍ली में हुई थी। आईआईटी ग्रैजुएट दोनों दोस्तों ने पासआउट होने के बाद तकरीबन एक साल तक अलग-अलग कंपनियों में काम किया। ऑनलाइन शॉपिंग के बढ़ते दौर को देखते हुए दोनों ने अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ज्वाइन की। यहां काम करते वक्त दोनों ने अपना बिजनेस करने का मन बनाया। इसके लिए अक्‍टूबर 2007 में दोनों ने दो-दो लाख रुपए जुटाए और अमेजन छोड़कर ई-कामर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट की नींव रखी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट