बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesडाटा लीक की जानकारी यूजर्स से शेयर करेगी फेसबुक, 5.6 लाख भारतीयों को भी आएगा मैसेज

डाटा लीक की जानकारी यूजर्स से शेयर करेगी फेसबुक, 5.6 लाख भारतीयों को भी आएगा मैसेज

फेसबुक करीब 8.7 करोड़ यूजर्स से संपर्क करके बताएगा कि कैम्ब्रिज एनॉलिटिका ने उनके डाटा का मिसयूज किया है कि नहीं..

1 of

नई दिल्‍ली। फेसबुक इस हफ्ते से दुनियाभर में फैले अपने करीब 8.7 करोड़ यूजर्स से संपर्क करके बताएगा कि कैम्ब्रिज एनॉलिटिका ने उनके डाटा का मिसयूज किया है कि नहीं। कैम्ब्रिज एनॉलिटिका पर आरोप है कि उसने फेसबुक के करीब 8.7 करोड़ यूजर्स के डाटा का मिसयूज किया और इससे अमेरिका समेत कई देशों के चुनावों को प्रभावित किया। 

 

जिन 8.7 करोड़ यूजर्स का कैम्ब्रिज एनॉलिटिका ने यूज किया था, उसमें करीब 5.6 लाख भारतीय भी शामिल हैं। इन इंडियन यूजर्स से भी फेसबुक संपर्क करके बताएगा कि उनके डाटा के साथ क्‍या हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक, जिन लोगों के डाटा का मिसयूज हुआ है, उन्‍हें अपनी प्रोफाइल के न्‍यूज फीड बार में टॉप पर कंपनी की ओर से डीटले मैसेज भेजा जाएगा। 

 

2 करोड़ यूजर्स को भी मिलेगा संदेश 
इसके साथ ही 2 अरब अन्‍य यूजर्स को भी न्‍यूज फीड बार के टॉप पर लिंक भेजा जाएगा। इसमें बताया जाएगा कि वे कौन से एप यूज कर रहे हैं और इन एप्‍स के साथ अपनी कौन सी इन्‍फॉर्मेशन शेयर की है। फेसबुक को अब तक नहीं पता है कि कैम्ब्रिज एनॉलिटिका और ग्‍लोबल साइंस रिसर्च ने आखिर किस तरह से डाटा का इस्‍तेमाल किया।  

फेसबुक को नहीं पता कि डाटा का क्‍या हुआ 
फेसबुक का दावा है कि कंपनी उनके विशेष सहयोगियों में नहीं आती थी। ऐसे में डाटा का यूज करने का फैसला उसने अकेले किया। वास्‍तव में यह अवैध और डाटा पॉलिसी का सीधा उल्‍लंघन था। फिलहाल उन जगहों की लेकशन का पता चला है, जहां के यूजर्स का डाटा कैम्ब्रिज एनॉलिटिका ने यूज किया। हालांकि फेसबुक का कहना है कि सिर्फ लोकेशन के आधार पर वोटर रजिस्‍ट्रेशन, राष्‍ट्रीयता या नागरिकता का पता नहीं चलता है। फेसबुक के प्रवक्‍ता के मुताबिक, उनकी कंपनी अब भी पूरे मामले की छानबीन में लगी है।  


 

सरकार की दी थी जानकारी 
फेसबुक ने पिछले हफ्ते ही भारत सरकार को उन अकाउंट्स की जानकारी दी थी, जिनका डाटा इस पूरे मामले में यूज होने की आशंका थी। कपंनी ये पूरा प्रकरण आने के बाद डाटा ब्रीच की रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों की भी जानकारी सरकार को मुहैया कराई है। फेसबुक ने इन 335 भारतीयों की पहचान साझा नहीं की है। 

 

 

एक एप बना भारतीयों की मुसीबत 
फेसबुक के प्रवक्‍ता के मुताबिक, करीब 335 भारतीय फेसबुक यूजर्स की ओर से क्विज ऐप इन्‍सटॉल करने के बाद करीब 562,455 भारतीय यूजर्स का डाटा चोरी होने की आशंका है। ये एप नवंबर 2013 से दिसंबर 2015 के बीच इन्‍सटॉल किए गए थे। यह एप कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के साइकोलॉजी रिसर्चर एलेक्‍जेंडर कोगैन और उनकी कंपनी ग्‍लोबल साइंस रिसर्च ने डेवलप किया गया था। इस ऐप ने इन 335 भारतीयों के अलावा इनके दोस्‍तों और दोस्‍तों के भी दोस्‍तों का डाटा चोरी कर लिया। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट